scriptChina is opening illegal police stations around the world | चीन खोल रहा दुनिया भर में अवैध पुलिस स्टेशन, ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देश भी दे रहे ड्रैगन का साथ! | Patrika News

चीन खोल रहा दुनिया भर में अवैध पुलिस स्टेशन, ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देश भी दे रहे ड्रैगन का साथ!

locationजयपुरPublished: Sep 28, 2022 04:18:10 pm

Submitted by:

Swatantra Jain

इंवेस्टिगेटिव जर्नलिज्म रिपोर्टिका ने स्थानीय मीडिया के हवाले से बताया कि सार्वजनिक सुरक्षा ब्यूरो (PSB) से संबद्ध कई अवैध पुलिस सर्विस स्टेशन पूरे कनाडा में फैले हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देश भी ड्रैगन का साथ दे रहे हैं!

dragon.jpg
चीनी सरकार ने दुनिया भर में कई अवैध पुलिस स्टेशन खोले हैं। ये खबरें ऐसे समय में सामने आई हैं जब पश्चिमी देश अमेरिका के साथ मिलकर चीन पर शिकंजा कसने का प्रयास कर रहे हैं। रिपोर्टों में कहा गया है कि चीन ने कनाडा और आयरलैंड में भी अवैध पुलिस स्टेशन खोले हैं। विदेशी मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चीन द्वारा पुलिस स्टेशन खोलने से मानवाधिकार प्रचारकों में चिंता पैदा हो गई है। इंवेस्टिगेटिव जर्नलिज्म रिपोर्टिका ने स्थानीय मीडिया के हवाले से बताया कि सार्वजनिक सुरक्षा ब्यूरो (PSB) से संबद्ध कई अवैध पुलिस सर्विस स्टेशन पूरे कनाडा में फैले हैं। इन पुलिस स्टेशनों को चीन के विरोधियों को दबाने के लिए स्थापित किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से कम से कम तीन स्टेशन केवल ग्रेटर टोरंटो एरिया में स्थित हैं।
देशों के आंतरिक मामलों में दे रहे दखल
इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिज्म रिपोर्टिका के अनुसार, चीन इन अवैध पुलिस स्टेशनों के माध्यम से कुछ देशों में चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूक्रेन, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी और यूके जैसे देशों में भी चीनी पुलिस थानों के लिए ऐसी व्यवस्था बनाई गई है। ये स्टेशन अवैध तरीके से काम कर रहे हैं।
यूक्रेन, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी और यूके जैसे देशों में हैं थाने

रिपोर्ट के अनुसार, फूजौ (चीनी शहर) पुलिस का कहना है कि उसने पहले ही 21 देशों में ऐसे 30 स्टेशन खोले हैं। मजे की बात ये है कि यूक्रेन, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी और यूके जैसे देशों में चीनी पुलिस थानों के लिए ऐसी व्यवस्था है और इनमें से अधिकांश देशों के नेता सार्वजनिक मंचों पर चीन के उदय और उसके बिगड़ते मानवाधिकार रिकॉर्ड पर सवाल उठाते हैं। लेकिन दूसरी तरफ खुद चीन को उसके विरोधियों को दबाने का मौका दे रहे हैं।
चीन करता है मानवाधिकारों का उल्लंघन
मानवाधिकार प्रचारकों ने चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी पर सुरक्षा के नाम पर देश भर में व्यापक दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है, जिसमें लोगों को नजरबंदी शिविरों में कैद करना, परिवारों को जबरन अलग करना और जबरन नसबंदी करना शामिल है। आरोपों पर चीन ने कहा है कि ये फैसिलिटी "व्यावसायिक कौशल प्रशिक्षण केंद्र" हैं जो अतिवाद का "काउंटर" करने और आजीविका में सुधार करने के लिए जरूरी हैं।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.