चीन ने फिर साधा निशाना, कहा- भारत राजनीतिक मकसद के लिए डोकलाम का अतिक्रमण नहीं करे

लू कांग ने कहा कि भारतीय सीमा कर्मियों द्वारा अवैध रूप से दाखिल होने की घटना ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का बड़े स्तर पर ध्यान खींचा और चीन में कई राजनयिक मिशनों ने कहा कि वे इस कार्य से हैरान हैं।

By: पुनीत कुमार

Published: 18 Jul 2017, 09:25 PM IST

चीन ने मंगलवार को सिक्कम क्षेत्र के डोकलाम में सीमा गतिरोध को लेकर भारत पर हमला जारी रखा। चीन ने कहा कि भारत को अपने राजनीतिक मकसद के लिए अतिक्रमण की नीति का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा कि उन्होंने बीजिंग में विदेशी राजनयिकों को डोकलाम में गतिरोध को लेकर जानकारी दी और वे भारतीय जवानों द्वारा चीनी क्षेत्र में अवैध रूप से दाखिल होने की घटना को जानकर स्तब्ध हो गए।



तो वहीं चीन ने इस मुद्दे पर तनाव बढ़ाने से बचने के लिए भारत को डोकलाम में अपने सैनिकों को हटाने की चेतावनी दी। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा है कि हमने इस बात पर बल दिया कि भारतीय पक्ष को अवैध रूप से दाखिल होने को अपने राजनीतिक लक्ष्य के नीति के तौर पर नहीं लेना चाहिए। तो वहीं भारत इस मुद्दे को कूटनीतिक तौर पर हल करना चाहता है, लेकिन चीन का कहना है कि भारत के डोकलाम से सैनिकों के हटाने तक कोई संवाद संभव नहीं है।



लू कांग ने कहा कि भारतीय सीमा कर्मियों द्वारा अवैध रूप से दाखिल होने की घटना ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का बड़े स्तर पर ध्यान खींचा और चीन में कई राजनयिक मिशनों ने कहा कि वे इस कार्य से हैरान हैं। लू ने कहा कि राजनयिक सिक्किम क्षेत्र के चीन-भारतीय सीमा पर विवाद के मौजूदा हालात के बारे में जानना चाहते हैं। जिसके बाद राजनयिकों को बताया गया कि भारतीय सेना के जवानों ने सिक्किम क्षेत्र में चीन-भारत सीमा पर आपसी मान्यता प्राप्त सीमा को पार कर अवैध रूप से दाखिल हुए हैं।



भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच महीने भर से डोकलाम गतिरोध बना हुआ है। डोकलाम भारत, चीन व भूटान का तिराहा है। यह तीनों देशों के लिए रणनीतिक तौर पर महत्वपूर्ण है। बीते जून में भारतीय जवानों ने चीनी सेना को डोकलाम में सड़क निर्माण से रोका। चीन डोकलाम पर अपना दावा करता है। भारत और भूटान इसका विरोध करते हैं।



भारत इस क्षेत्र पर दावा नहीं करता लेकिन वह चीन की डोकलाम में मौजूदगी से भयभीत है, जो कि इसके पूर्वोत्तर गलियारे से काफी नजदीक है। लू ने कहा कि हमें उम्मीद है कि भारतीय पक्ष को मौजूदा हालात को साफ तौर पर समझेगा और कर्मियों को हटाने का त्वरित कदम उठाएगा, जो अवैध रूप सीमा को पार कर गए है, जिससे तनाव बढ़ाने से बचा जा सकेगा। 

Show More
पुनीत कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned