scriptDinesh Gunawardena Become New Prime Minister Of Srilanka Parents Fought In India Freedom Struggle | श्रीलंका के प्रधानमंत्री बने दिनेश गुणवर्धने, पिता ने भारत की आजादी के लिए लड़ी थी लड़ाई | Patrika News

श्रीलंका के प्रधानमंत्री बने दिनेश गुणवर्धने, पिता ने भारत की आजादी के लिए लड़ी थी लड़ाई

श्रीलंका में उठे आर्थिक संकट के बाद राजनीतिक उथल-पुथल के बीच लगातार नए अपडेट सामने आ रहे हैं। देश को मिले नए राष्ट्रपति के बाद अब नए प्रधानमंत्री के नाम भी ऐलान हो गया है। खास बात यह है कि, रानिल विक्रमसिंघे के करीबी दिनेश गुणवर्धने अब श्रीलंका ने अगले प्रधानमंत्री होंगे।

नई दिल्ली

Published: July 22, 2022 12:45:28 pm

श्रीलंका में नए राष्ट्रपति के बाद अब अगले प्रधानमंत्री के नाम का भी ऐलान हो गया है। 72 वरषीय दिनेश गुणवर्धने अब श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री होंगे। संसद में सदन के नेता ने शुक्रवार को पीएम पद की शपथ ली। इससे पहले गुणवर्धने अप्रैल में पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के कार्यकाल के दौरान गृह मंत्री बनाए गए थे। गुणवर्धने राजपक्षे के साथ-साथ वर्तमान राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे के भी करीबी बताए जाते हैं। खास बात यह है कि दिनेश गुणवर्धने के पिता ने भारत की आजादी के लिए लड़ाई भी लड़ी थी। गुणवर्धने के परिवार का भारत से खास नाता रहा है।
Dinesh Gunawardena Become New Prime Minister Of Srilanka Parents Fought In India Freedom Struggle
Dinesh Gunawardena Become New Prime Minister Of Srilanka Parents Fought In India Freedom Struggle
दिनेश गुणवर्धने पिछली गोटबाया-महिंदा सरकार में विदेश मामलों और शिक्षा मंत्री रह चुके हैं। श्रीलंका के नए राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने शुक्रवार को अपने कैबिनेट को शपथ दिलाई। इसी दौरान दिनेश गुणवर्धने के नाम का भी ऐलान हुआ।

दरअसल विक्रमसिंघे के राष्ट्रपति बनने के बाद प्रधानमंत्री पद खाली हो गया था। रानिल विक्रमसिंघे ने 6 बार प्रधानमंत्री रहने के बाद एक दिन पहले देश के 8वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली थी।

यह भी पढ़ें

श्रीलंकाई नौसेना ने तमिलनाडु के 6 मछुआरों को किया गिरफ्तार, इस महीने 29 मछुआरो को पकड़ा

दिनेशन गुणवर्धने का भारत से खास कनेक्शन
श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री दिनेश गुणवर्धने का भारत से खास कनेक्शन है। उनके परिवार ने भारत की आजादी की लड़ाई में हिस्सा लिया था। गुणवर्धने के पिता फिलिप गुणवर्धने ने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी थी।

बताया जाता है कि पहले गुणवर्धने का परिवार भारत में ही रहता था। दरअसल उनके परिवार ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत में शरण ली थी। यही वजह कि गुणवर्धने परिवार का भारत की तरफ हमेशा से झुकाव रहा।
ट्रेड यूनियन के नेता के रूप में की राजनीति की शुरुआत
दिनेश गुरणर्धने ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत बतौर ट्रेड यूनियन के नेता के रूप में की। संयुक्त राज्य अमरीका और नीदरलैंड में शिक्षित दिनेश गुणवर्धने के पिता भी एक ट्रेड यूनियन नेता थे।

दिनेश गुणवर्धने के पिता फिलिप को श्रीलंका में समाजवाद के जनक के रूप में जाना जाता है। फिलिप गुणवर्धने का भारत के प्रति प्रेम और साम्राज्यवादी कब्जे के खिलाफ स्वतंत्रता की दिशा में प्रयास 1920 के दशक की शुरुआत में संयुक्त राज्य अमेरिका से शुरू हुआ था। बताया जाता है कि, दिनेश की मां ने भी भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई में पति फिलिप का साथ दिया।

 
जय प्रकाश नारायण और वीके कृष्ण मेनन से दोस्ती
दिनेश गुणवर्धने का भारत से एक और कनेक्शन है। दरअसल जनता पार्टी के प्रमुख रहे जयप्रकाश नारायण और वीके कृष्ण मेनन उनके गहरे मित्र रहे।

विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय में इन तीनों के बीच दोस्ती हुई थी। उन्होंने अमरीकी राजनीतिक हलकों में साम्राज्यवाद से स्वतंत्रता की वकालत भी की।

यह भी पढ़ें

रानिल विक्रमसिंघे बन गए श्रीलंका के राष्ट्रपति, क्या देश की जनता को कर पाएंगे शांत?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंस्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खानाIndependence Day 2022: लाल किले पर बना नया रिकार्ड, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने दी सलामी, जानें इसके बारे मेंHar Ghar Trianga Campaign में 30 करोड़ से ज्यादा के झंडे बिके, CAIT ने बताया इतने करोड़ का हुआ कारोबारIndependence Day 2022: मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय में फहराया तिरंगा, बोले-देश को क्या दे रहे हैं यह सोचकर जीने की जरूरत38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.