जानिए 'प्याज मास्क' पहने फिलिस्तीनी लड़के की फोटो क्यों हो रही है वायरल ?

जानिए 'प्याज मास्क' पहने फिलिस्तीनी लड़के की फोटो क्यों हो रही है वायरल ?

Saif Ur Rehman | Publish: Apr, 17 2018 09:37:01 PM (IST) विश्व

9 साल के फिलिस्तीनी नागरिक मोहम्मद अय्यश की फोटो वायरल हुई। दुनिया भर में अपने प्याज वाले मास्क के लिए हुआ मशहूर

नई दिल्ली : कहते है कि आवश्यकता आविष्कारों की जननी होती है। फिलिस्तीन के एक छोटे से लड़के ने भी यह बात सार्थक कर दी है। 9 साल के फिलिस्तीनी नागरिक मोहम्मद अय्यश दुनिया भर में मशहूर हुआ है अपने प्याज के मास्क की वजह से। 'अनियन मास्क' पहने लड़के की तस्वीर वायरल हो गई है।

क्यों पहना प्याज का मास्क ?

भूमि दिवस के दौरान इजरायल की सेना की तरफ से आंसू गैस के गोले दागे गए। आंसू गैस से बचने के लिए मोहम्मद ने अपने हाथों से ये मास्क बनाया था। प्याज का मास्क बनाना मोहम्मद अय्यश ने अपने पिता से सीखा है। तस्वीर वायरल होने के बाद 9 साल के लड़के को हमास प्रमुख इस्माइल हनियेह ने सम्मानित किया और उसकी बहादुरी की तारीफ भी की । आप को यहां ये बता दें कि अमरीकी विदेश विभाग ने हाल ही में हमास नेता इस्माइल हनियेह का नाम आतंकवादी सूची में शामिल किया है। मोहम्मद अय्यश का कहना है कि वो इजरायली सेना से नहीं डरता है कि उसका सपना है कि वह इजरायस से अपने पुरखों की जमीन वापस चाहता हैं।

 

 

mask

लोग बना रहे हैं खुद मास्क

वैसे इजरायल और गाजा पट्‌टी की सीमा पर फिलस्तीनी प्रदर्शनकारी आंसू गैस के प्रभाव से बचने के लिए अपने हाथों से बना मास्क पहन रहे हैं। जो काफी रचनात्मक और आकर्षित नजर आते हैं। पानी की बोतल, टायर जैसी चीजों से स्वयं मास्क बनाए जा रहे हैं। लेकिन इन मास्कों में एक बात समान है हर मास्क में आप को प्याज लगा हुआ जरूर दिखेगा।

mask

हजारों फिलिस्तीनियों ने किया था प्रदर्शन
गाजा-इजरायल बॉर्डर पर पिछले माह हजारों फिलिस्तीनी नागरिकों ने प्रदर्शन किया था। 30 मार्च से 15 अप्रैल तक हुए इस प्रदर्शन में 25 से ज्यादा लोगों की मौत की खबर और कई लोग जख्मी भी हुए थे। जमीन दिवस के दिन करीब 17 हजार फिलिस्तीनी नागरिक बॉर्डर स्थित पांच स्थानों पर जुटे थे। इन्हें ‘ग्रेट मार्च ऑफ रिटर्न’ नाम दिया गया। हजारों फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों ने 'भूमि दिवस' के मौके पर गाजा-इजरायल बॉर्डर स्थित बाड़े पर चढ़ने और उसे तोड़ने की कोशिश की थी। जिसके बाद इजरायली सेना ने उनपर गोलियां और आंसू गैस के गोले दागे। इजरायल सेना और फिलिस्तीनी नागरिकों के बीच हुई झड़प में कई लोगों की मौत और 2000 से ज्यादा घायल हुए। इजरायली सेना के मुताबिक इजरायली ज्यादातर लोग अपने कैंप्स में ही थे हालांकि, कुछ युवा इजरायली सेना की चेतावनी के बावजूद सीमा पर ही हंगामा करने लगे। उन्होंने बार्डर पर पेट्रोल बम और पत्थरों से हमला किया। जिसके बाद आईडीएफ ने भीड़ को हटाने के लिए फायरिंग कर दी। गौर करने वाली बात ये है कि पिछले बुधवार की रात इजराइल ने जब गाज़ा पट्टी पर बम से हमले किए तब इजराइल के पहाड़ी वाले शहर स्डेरोट में इसरायली पहाड़ पर बैठकर नीचे की तरफ गाजा के बमबारी को देखकर लोग ख़ुशी से झूम रहे थे

 

Ad Block is Banned