scriptHindi Diwas: Trump returned with another Hindi slogan- 'India, America | Hindi Diwas: एक और हिंदी स्लोगन के साथ लौटे ट्रंप- 'भारत, अमरीका हैं सबसे अच्छे दोस्त' | Patrika News

Hindi Diwas: एक और हिंदी स्लोगन के साथ लौटे ट्रंप- 'भारत, अमरीका हैं सबसे अच्छे दोस्त'

अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक और हिंदी नारे के साथ वापस आ गए हैं। उन्होंने इस बार 'भारत और अमरीका हैं सबसे अच्छे दोस्त' का नारा दिया है। ट्रम्प ने हाल ही में अपने मार-ए-लागो आवास पर शिकागो के एक व्यवसायी, रिपब्लिकन डोनर और रणनीतिकार शलभ कुमार के लिए यह नया कैचफ्रेज रिकॉर्ड किया। बता दें, शलभ कुमार 2016 में ट्रम्प के पहले हिंदी नारे के पीछे भी थे: 'अब की बार, ट्रम्प सरकार', जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी नारे 'अब की बार, मोदी सरकार' से प्रेरित था।

जयपुर

Published: September 14, 2022 09:03:50 am

अमरीका में 2024 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में कौन से नेता दावेदारी पेश करेंगे, यह कहना अभी जल्दबाजी होगी। हालांकि, पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी में अपनी उम्मीदवारी पेश करना जारी रखा है। इसी क्रम में वे लगातार बयान भी दे रहे हैं। हाल ही में ट्रंप अलग-अलग देशों के साथ रिश्ते से लेकर कूटनीति तक पर चर्चा करते देखे गए हैं। अब एक लीक वीडियो में ट्रंप को भारत के समर्थन में नया नारा देते देखा जा सकता है...ये नारा ट्रंप ने हिंदी में दिया है।
trump_and_shalabh.jpg
क्या बोले डोनाल्ड ट्रंप?
डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को लेकर जो नारा दिया है, वह एक टीवी इंटरव्यू का है, जिसे अभी रिलीज किया जाना बाकी है। इस लीक वीडियो में अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति हिंदी में कहते हुए दिखाई देते हैं कि- "भारत और अमरीका सबसे अच्छे दोस्त।" उनके इस बयान के सामने आने के बाद से ही माना जाने लगा है कि वे 2024 के चुनाव से पहले अमरीका में रहने वाले भारतीय समुदाय को अपनी तरफ खींचने के प्रयास में जुट गए हैं।
पूर्व राष्ट्रपति 'सिर्फ 12 टेक' में बोला
शलभ कुमार ने बताया कि ट्रम्प, जो बिल्कुल भी हिंदी नहीं बोलते हैं, उनके लिए कुमार की अपनी टीम के कई लोगों की तुलना में नारा रिकॉर्ड करना आसान था, जिन्हें 'भारत' शब्द का भी सही उच्चारण करने में परेशानी होती थी। उनमें से अधिकांश इसे ठीक नहीं कर सके। कुमार हंसते हुए बताते हैं कि कई तो सैकड़ों बार में भी ये नहीं कर सके।
शलभ ने बताया कि हालांकि पहले नारे की तुलना में ट्रम्प के लिए ये कहीं अधिक कठिन था। कुमार के अनुसार, ट्रम्प ने इसे ठीक करने के लिए 12 टेक किए, इसे ट्रम्प टॉवर में अपने अभियान मुख्यालय में रिकॉर्ड किया, जो ट्रम्प संगठन के मुख्य कार्यालय के रूप में भी काम करता था। पूर्व राष्ट्रपति अब फ्लोरिडा में अपने मार-ए-लागो क्लब रिसॉर्ट में रहते हैं।
भारतीय बने अहम स्विंग मतदाता

कुमार ने इस मीडिया से बात करते हुए बताया कि, "हम नवंबर में आगामी मध्यावधि चुनाव में नारे का उपयोग करेंगे।" नारे का उद्देश्य रिपब्लिकन पार्टी के समर्थन में भारतीय / हिंदू अमेरिकी मतदाताओं को जुटाना है। भारतीय अमेरिकी स्विंग वाले राज्यों में एक महत्वपूर्ण वोट बैंक के रूप में उभरे हैं, जहां चुनाव परिणाम एक हजार या कुछ हजारों के रूप में महीन मार्जिन पर बदल सकते हैं।
अमरीका में करीब 40 लाख भारतीय

अमरीका में अब भारतीय अमेरिकी समुदाय चार मिलियन से अधिक हो गया है - कहा जाता है कि यह कुल आबादी का 1 प्रतिशत से थोड़ा अधिक है - लेकिन उनमें से पंजीकृत मतदाता कुल पंजीकृत मतदाताओं से कम हैं, जो कि 2020 में 160 मिलियन थे। वे पूरे देश में स्थित हैं -- सबसे बड़ी आबादी कैलिफोर्निया, टेक्सास, न्यू जर्सी, न्यूयॉर्क और इलिनोइस में हैं।
लेकिन वे विस्कॉन्सिन, मिशिगन, पेंसिल्वेनिया, वर्जीनिया और अब, जॉर्जिया और एरिजोना जैसे स्विंग राज्यों में अधिक मायने रखते हैं, जहां उनकी संख्या, हालांकि छोटी है, पर जीत या हार के अंतर से अधिक है।
दोनों पार्टियां अब भारतीय और अमरीकियों को लुभा रहीं

डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों पार्टियां अब भारतीय अमेरिकियों को आक्रामक तरीके से लुभाती हैं। कुमार ने कहा कि ट्रम्प का नारा एक विज्ञापन में दिखाया जाएगा जो ज्यादातर भारतीय अमेरिकियों द्वारा देखे जाने वाले टीवी चैनलों पर चलेगा।
कुमार 2016 से ट्रम्प के साथ काम कर रहे हैं, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति के कार्यकाल के अंत में उनके बीच चीजें अच्छी नहीं थी। कुमार ट्रम्प के 2020 के फिर से चुनाव अभियान से दूर रहे, लेकिन वे हाल ही में पूर्व राष्ट्रपति के साथ एक साक्षात्कार में दिखाई दिए।
लगातार दे रहे राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के संकेत
गौरतलब है कि अमरीका में रहने वाले अधिकतर भारतीय डोनाल्ड ट्रंप की पार्टी 'रिपब्लिकन' का नहीं, बल्कि मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडन की डेमोक्रेटिक पार्टी का समर्थन करते हैं। ऐसे में चुनाव जीतने के लिहाज से डोनाल्ड ट्रंप ने दो साल पहले ही समर्थन जुटाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। अमरीका में अभी मध्यावधि चुनाव होने बाकी हैं। इस साल के अंत में होने वाले इन चुनावों के नतीजे आने के बाद ही साफ कहा जा सकेगा कि अमरीका में कौन सी पार्टी मजबूत है और आगामी चुनाव में उसकी ओर से किस नेता को राष्ट्रपति पद के लिए खड़ा किया जा सकता है। हालांकि, इससे पहले ही पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी दावेदारी पेश करनी शुरू कर दी है। उन्होंने अब तक साफ-साफ तो नहीं कहा है, लेकिन इशारों में कई बार अगला राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के संकेत दिए हैं।
हर कोई चाहता है कि मैं फिर से लडूं चुनाव: ट्रंप

हाल ही में एक मीडिया ग्रुप को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा था- "हर कोई चाहता है कि वह एक बार फिर चुनाव लड़े, उन्होंने कहा कि उनका फैसला कुछ लोगों को नाखुश करेगा। अभी भी 2020 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन से हार नहीं मानने वाले 76 वर्षीय रिपब्लिकन नेता ने कहा कि हम नहीं हारे थे। न्यू जर्सी के बेडमिंस्टर में ट्रंप नेशनल गोल्फ क्लब में एक न्यूज चैनल को दिए एक साक्षात्कार में पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि हर कोई चाहता है कि मैं चुनाव में खड़ा होऊं, मैं चुनाव में आगे चल रहा हूं। मैं जल्द निर्णय लूंगा। मुझे लगता है कि बहुत सारे लोग बहुत खुश होने वाले हैं।
बरामद दस्तावेज सेटअप का नतीजा

ट्रंप ने कहा, मुझे ऐसा लगता है। बहुत सारे लोग खुश होंगे और कुछ लोग नाखुश होंगे। जनवरी 2021 में बाइडन की जीत और 46वें अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में उनके चुनाव को स्वीकार नहीं करते हुए ट्रंप ने कई अदालती मामलों में हारने के बावजूद चुनाव अधिकारियों पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया था। फ्लोरिडा में उनके मार-ए-लागो रिसॉर्ट में हाल ही में एफबीआई के छापे पर एक सवाल का जवाब देते हुए कि उन्होंने कहा कि बरामद फाइलों को पहले ही वहां रखा गया था और इसे सरकार को उनके खिलाफ हथियार बनाने का प्रयास बताया। ट्रंप ने कहा, उन्होंने वहां (बरामद गुप्त दस्तावेज) रखे। यह एक सेट अप है। यह हथियार है। और ऐसा करना अनुचित है और यह हमारे देश के लिए एक बुरी बात है। यह मानक अमेरिकी राजनीति बन गई है और यह एक अपमान है।"
भारत के साथ पीएम मोदी के लिए क्या बोले डोनाल्ड ट्रंप?
इसी इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा था, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के लिए शानदार काम कर रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत का मुझसे बेहतर दोस्त कोई और कभी नहीं रहा। ट्रंप ने कहा कि मेरे भारत और प्रधानमंत्री मोदी के साथ बहुत अच्छे संबंध रहे हैं। हम दोस्त रहे हैं। और मुझे लगता है कि वह एक महान व्यक्ति हैं और बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। यह आसान काम नहीं है। लंबे समय से हम एक दूसरे को जानते हैं।"

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Ankita Bhandari Murder Case: मेरा बेटा सीधा-साधा है, बीजेपी से हटाए गए विनोद आर्य ने अपने बेटे का किया बचाव'आज भी TMC के 21 विधायक संपर्क में, बस इंतजार करिए', मिथुन चक्रवर्ती ने दोहराया अपना दावाखाना वहीं पड़ा था, डॉक्युमेंट्स और सामान भी वहीं थे , लेकिन... रिसॉर्ट के स्टाफ ने बताया कैसे गायब हुई अपने कमरे से अंकिताVideo: महबूबा मुफ्ती ने किया Pakistan PM का समर्थन, जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दिया ये बयान'PFI पर कार्रवाई करने में इतना वक्त क्यों लगा?', प्रियंका चतुर्वेदी ने कश्मीर को लेकर PM मोदी पर साधा निशाना2 खिलाड़ी जिनका करियर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बीच सीरीज में हुआ खत्म, रोहित शर्मा नहीं देंगे मौका!चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग हुए हाउस अरेस्ट! बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के Tweet से मचा हड़कंपयुवाओं को लश्कर-ए-तैयबा और ISIS में शामिल होने को उकसा रहा था PFI, ग्लोबल फंडिंग के सबूत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.