scriptPutin's army pushed back: Ukrainian tanks enter Kherson, fighting go | Putin की सेना पीछे धकेली गई: यूक्रेन के टैंक खेरसॉन में घुसे, रूस के सैनिकों से लड़ाई तेज़ | Patrika News

Putin की सेना पीछे धकेली गई: यूक्रेन के टैंक खेरसॉन में घुसे, रूस के सैनिकों से लड़ाई तेज़

locationजयपुरPublished: Oct 04, 2022 10:40:09 am

Submitted by:

Swatantra Jain

यूक्रेन की सेनाओं ने उत्तर पूर्व खेरसॉन में द्नीपर नदी पर तैनात रूसी सैनिकों को पीछे धकेला है। रणनीतिक आधार पर रूस के लिए यह क्षेत्र काफ़ी अहम है। रूसी सैनिक यहाँ फिर से पैर जमाने के लिए पलटवार कर रहे हैं।

ukraine_take_enter_in_kherson.jpg
यूक्रेनी बलों ने सोमवार को कम से कम दो मोर्चों पर अपने जवाबी हमले में अधिक लाभ अर्जित किया है। वहीं रूस उन क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए रूस नए सैनिकों को शामिल करने के अपने प्रयासों के साथ और परमाणु हथियारों सहित हर तरह से रक्षा के लिए कमर कसने और चुनौती देने की कोशिश कर रहा है।
अपनी नवीनतम सफलता में, यूक्रेनी बलों ने रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण दक्षिणी खेरसॉन क्षेत्र में मास्को को पीछे धकेलते हुए प्रवेश किया है। ये यूक्रेन के उन चार क्षेत्रों में से एक है, जिसे रूस हथियाने और आक्रमण से बचाव करने की कोशिश कर रहा है।
कीव को मिल रही है लगातार सफलता

इसके पूर्व कीव के सैनिकों ने पूर्व और अन्य प्रमुख युद्ध क्षेत्रों में भी बढ़त हासिल करते हुए यूक्रेनी नियंत्रण को फिर से स्थापित किया है। वहीं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय आलोचना के बीच सैन्यबल, हथियारों, सेना के मनोबल और रसद के साथ समस्याओं दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। वह अपनी आंशिक सैन्य लामबंदी और नई रूसी सीमाओं की स्थापना के बारे में घरेलू स्तर पर भ्रम और अव्यवस्था का सामना कर रहे हैं।
द्नीपर नदी पर तैनात रूसी सैनिकों को पीछे धकेला

यूक्रेन की सेनाओं ने उत्तर पूर्व खेरसॉन में द्नीपर नदी पर तैनात रूसी सैनिकों को पीछे धकेला है। रणनीतिक आधार पर रूस के लिए यह क्षेत्र काफ़ी अहम है। रूसी सैनिक यहाँ फिर से पैर जमाने के लिए पलटवार कर रहे हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने कहा है कि कई इलाक़ों को रूस के कब्जे से आज़ाद करा लिया गया है। पूर्व में यूक्रेन की सेनाओं ने रूस के कब्जे वाले लुहांस्क क्षेत्र में भी दस्तक दी और कुछ हिस्सा कब्जे में ले लिया।
राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा, ‘‘कई इलाक़ों में लड़ाई तेज़ हो गई है। कई इलाक़े रूस के कब्जे से आज़ाद कराए गए हैं। रूस की सेना को कड़ी टक्कर मिल रही है।’’

रूसी रक्षा मंत्रालय ने भी मानी हार
इन क्षेत्रों में यूक्रेन की बढ़त इतनी स्पष्ट हो गई है कि रूस के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव, जो आमतौर पर अपनी सेना की सफलताओं और दुश्मन के नुकसान पर ध्यान केंद्रित करते हैं, को भी इसे स्वीकार करने के लिए मजबूर होना पड़ा।
कोनाशेनकोव ने सोमवार को दो खेरसॉन क्षेत्र के कस्बों का जिक्र करते हुए कहा, "ज़ोलोटा बाल्का और ओलेक्सांड्रिवका की दिशा में संख्यात्मक रूप से बेहतर टैंक इकाइयों के साथ, दुश्मन हमारे बचाव में गहराई तक जाने में कामयाब रहे।" साथ ही, उन्होंने दावा किया कि रूसी सेना ने यूक्रेन की सेना को भारी नुकसान पहुंचाया है। पिछले महीने शुरू हुए देश के दूसरे सबसे बड़े शहर खार्किव के आसपास पूर्वोत्तर में अपने सफल ब्रेकआउट आक्रामक के विपरीत, यूक्रेनी बलों ने खेरसॉन क्षेत्र को फिर से हासिल करने के लिए संघर्ष किया है।
लाइमन इलाके पर यूक्रेन का कब्जा

इसके पहले शनिवार को जेलेंस्की की सेनाओं ने लाइमन इलाक़े पर फिर से कब्जा कर लिया। यहाँ तैनात रूसी सेनाओं को पीछे हटना पड़ा। रिपोर्ट्स के मुताबिक़, यूक्रेनी सेनाओं ने रूस के सैनिकों को लुहांस्क में कई किलोमीटर तक पीछे धकेल दिया है। यहाँ यूक्रेन की सेनाएँ रूस के कब्जे वाले क्रेमेन्ना और स्वातोवे इलाक़े की ओर बढ़ रही हैं।
खेरसॉन में रूस की ओर से नियुक्त किए गए नेता व्लादिमीर साल्दो ने बताया कि दक्षिण में यूक्रेनी सेनाएँ डुडचानी में घुस गई हैं। यह इलाक़ा द्नीपर नदी से करीब 30 किलोमीटर दूर है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गुजरात चुनाव: भाजपा के पूर्व मंत्री जय नारायण व्यास बेटे के साथ कांग्रेस में शामिलदिल्ली में श्रद्धा मर्डर जैसा एक और केस, शव के टुकड़े कर फ्रिज में रखा, मां-बेटा गिरफ्तारFIFA 2022 : मोरक्को से हारने पर बेल्जियम में दंगा, पथराव के दौरान दागे आंसू गैस के गोले, कई गिरफ्तारएनालिसिस: मुुलायम की सीट बचाने में कहीं सपा के हाथ से निकल न जाए आजम का गढ़Gujarat assembly elections 2022: कच्छ-सौराष्ट्र- कौन होगा खुश और कौन फुस्सCG Breaking : बीजेपी प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को गिरफ्तार करने कांकेर पहुंची झारखंड पुलिस , गुड्डू सोनी और नरेश सोनी के घर दबिश दी, अब चारामा रवानाGATE Exam 2023: गेट एग्जाम 2023 का शेड्यूल जारी, 4 फरवरी से शुरू होगी परीक्षाएक दिसंबर से बदल जाएंगे ये नियम, घट सकता है जेब का बोझ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.