scriptRussian missile now targets another nuclear plant in Ukraine | रूसी मिसाइल ने अब एक और परमाणु संयंत्र को बनाया निशाना, यूक्रेन को सताया 'परमाणु आतंकवाद' का डर | Patrika News

रूसी मिसाइल ने अब एक और परमाणु संयंत्र को बनाया निशाना, यूक्रेन को सताया 'परमाणु आतंकवाद' का डर

रूस ने दक्षिण यूक्रेन के मायकोलाइव प्रांत में पिवदेनौयूक्रेंस्क परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास 300 मीटर (328 गज) के दायरे में मिसाइल से हमला किया है। जिसके कारण परमाणु सयंत्र के पास 2 मीटर (6 1/2 फीट) गहरा और 4 मीटर (13 फीट) चौड़ा एक गड्डा हो गया। यूक्रेनी परमाणु ऑपरेटर के अनुसार एक रूसी मिसाइल ने सोमवार को संयंत्र के आस-पास हमला किया, जो उसके तीन रिएक्टरों से नहीं टकराए, पर उसके बेहद नजदीक गिरे। यूक्रेनी ने रूस के इस कदम "Nuclear Terrorism'' की संज्ञा दी है।

जयपुर

Updated: September 20, 2022 10:08:44 am

रूस और यूक्रेन युद्ध से अब दुनिया के सामने नई तरह की चुनौतियाँ खड़ी हो गई हैं। यूक्रेन ने दावा किया है कि रूस की एक मिसाइल सोमवार को तड़के यूक्रेन के दक्षिण में स्थित एक परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास गिरी। इससे रिएक्टर को तो कोई नुकसान नहीं हुआ लेकिन कई अन्य औद्योगिक उपकरण क्षतिग्रस्त हो गए। यूक्रेन के रक्षा विभाग ने कहा, कल रात रूसी आतंकवादियों ने मायकोलाइव क्षेत्र में दक्षिण यूक्रेन परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हमला करने का प्रयास किया। प्लांट से 300 मीटर की दूरी पर एक मिसाइल गिर गई। यूक्रेन ने दावा किया कि क्रेमलिन का परमाणु आतंकवाद जारी है। रूस पूरी दुनिया के लिए खतरा है।
ukraine_yuzhnoukrainsk_nuclear_power_plant.jpg
औद्योगिक परिसर में आकर गिरी मिसाइल

देश के परमाणु ऊर्जा संचालक एनरगोएटम ने इस हमले की निंदा करते हुए इसे परमाणु आतंकवाद करार दिया। एनरगोएटम ने कहा कि सोमवार को तड़के एक मिसाइल दक्षिणी माइकोलैव क्षेत्र में एक औद्योगिक परिसर में आकर गिरी जहां पिवदेनौयूक्रेंस्क परमाणु संयंत्र स्थित है।
रिएक्टरों से 300 मीटर दूर गिरी मिसाइल
परमाणु ऊर्जा संचालक ने कहा कि मिसाइल संयंत्र से सिर्फ 300 मीटर दूर गिरी जिस वजह से विस्फोट हुआ और परिसर में स्थित इमारतों की 100 से ज्यादा खिड़कियों के शीशे टूट गए।
परमाणु संयंत्र के रिएक्टर को कोई नुकसान नहीं

एनरगोएटम ने कहा कि हमले की वजह से नज़दीक ही स्थित पनबिजली संयंत्र को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है, लेकिन परमाणु संयंत्र के रिएक्टर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। उसने हमले को परमाणु आतंकवाद कृत्य करार दिया। रूस के रक्षा मंत्रालय ने हमले पर तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की है।
पुतिन ने दी थी इंफ्रास्ट्रक्चर पर हमले की चेतावनी
बता दें, हाल ही में युद्ध के मैदान में पीछे हटने को मजबूर होने के बाद, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पिछले सप्ताह यूक्रेन के बुनियादी ढांचे पर रूसी हमलों को तेज करने की धमकी दी थी। शुक्रवार को चेतावनी देते हुए कहा था, कि उनकी सेना ने अब तक संयम के साथ काम किया है, साथ ही चेतावनी दी है कि "यदि स्थिति इस तरह से विकसित होती है, तो हमारी प्रतिक्रिया अधिक गंभीर होगी।
पूरे युद्ध के दौरान, रूस ने यूक्रेन के बिजली उत्पादन और ट्रांसमिशन सिस्टम को निशाना बनाया है, जिससे देश के परमाणु ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा प्रणाली ब्लैकआउट के चलते खतरे में पड़ गई। औद्योगिक परिसर जिसमें दक्षिण हमलाग्रस्त यूक्रेन संयंत्र शामिल है, दक्षिणी बग नदी के किनारे राजधानी कीव के दक्षिण में लगभग 300 किलोमीटर (190 मील) दूर स्थित है। यूक्रेन के अधिकारियों ने कहा कि हमले के कारण पास के एक पनबिजली संयंत्र को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया और परिसर में 100 से अधिक खिड़कियां टूट गईं हैं। यूएन की अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने कहा कि तीन बिजली लाइनों को ऑफ़लाइन करना पड़ा था लेकिन बाद में इन्हें फिर से जोड़ दिया गया।
यूक्रेन की डिफेंस मिनिस्ट्री ने जारी किया वीडियो

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने एक ब्लैक-व्हाइट वीडियो जारी किया है जिसमें अंधेरे में दो बड़े आग के गोले एक के बाद एक फूटते हुए दिखाई दे रहे हैं, और रात के बारह बजकर 19 मिनट पर चिंगारी की बौछारें दिख रही हैं।
बता दें, रूसी सेना ने आक्रमण के बाद से यूक्रेन स्थित यूरोप के सबसे बड़े Zaporizhzhia परमाणु संयंत्र पर पहले कब्जा किया हुआ है।हमलों के संभावित रैंप-

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

वायु सेना छोड़ राजनीति में आए झारखंड के पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए भरा नामांकनलोन लेना हुआ महंगा, RBI ने लगातार चौथी बार 0.50 फीसदी बढ़ाया रेपो रेट, ज्यादा चुकाना होगी EMIअरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तारकांग्रेस आलाकमान ने दिखाए सख्त तेवर, गहलोत-पायलट खेमे को लेकर लिया ये बड़ा फैसलादिग्विजय नहीं भरेंगेे नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर संशय बरकरारएक माह में ही काबुल में एक और भीषण आतंकी हमला, निशाने पर शिया-हजारा समुदाय, दो दर्जन से अधिक छात्रों की हत्यारेलवे ने शुरू की अच्छी सर्विस, अब ट्रेन में सोते समय नहीं छूटेगा आपका स्टेशन, जानिए कैसे मिलेगी जानकारीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.