दुनिया के सुरक्षित शहरों की सूची में टोक्यो सबसे ऊपर, दिल्ली 43वें स्थान पर

shachindra shrivastava

Publish: Oct, 13 2017 05:22:25 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2017 05:33:39 PM (IST)

विश्व
दुनिया के सुरक्षित शहरों की सूची में टोक्यो सबसे ऊपर, दिल्ली 43वें स्थान पर

60 शहरों की सूची में दिल्ली को 43वां क्रम दिया गया है। डिजिटल, निजी, स्वास्थ्य और ढांचागत सुरक्षा समेत 49 मानदंडों पर यह सूची तैयार की गई है।

नई दिल्ली। जापान की राजधानी टोक्यो को द इकोनोमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के सेफ सिटी इंडेक्स 2017 यानी सुरक्षित शहरों की सूची में पहला स्थान मिला है। 60 शहरों की इस सूची में देश की राजधानी दिल्ली को 43वां क्रम दिया गया है। डिजिटल, निजी, स्वास्थ्य और ढांचागत सुरक्षा समेत 49 मानदंडों पर यह सूची तैयार की गई है। सूची में सिंगापुर और जापानी शहर ओसाका क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। वहीं भारतीय शहरों में दिल्ली के बाद मुंबई 45वें स्थान पर है। पाकिस्तान के सबसे बड़े व्यापारिक केंद्र कराची को सूची में सबसे कम सुरक्षित शहर का दर्जा दिया गया है।

टोक्यो में डिजिटल सुरक्षा सुधरी

टोक्यो के सूची में सबसे ऊपर आने की वजह शहर की डिजिटल सुरक्षा का मजबूत होना है। वहीं स्वास्थ्य सुरक्षा में भी टोक्यो को 2015 के मुकाबले सात अंक अधिक दिए गए हैं। हालांकि ढांचागत सुरक्षा में टोक्यो टॉप 10 सिटी से बाहर हो गया है और वह 12वें स्थान पर है।

ज्यादातर शहरों की सुरक्षा गिरी
2015 के मुकाबले सूची में ज्यादातर शहरों के सुरक्षा स्तर में गिरावट आई है। हालांकि इसके दो अपवाद हैं। मेड्रिड शहर के सुरक्षा मानकों में 13 अंकों का सुधार हुआ है, वहीं सोल ने 6 अंक ज्यादा हासिल किए हैं। वहीं न्यूयॉर्क सिटी 11, लीमा 13, जोहानेसबर्ग 9, हो ची मिन्ह सिअी 10 और जकार्ता को 13 अंकों का नुकसान हुआ है।

पूर्वी एशियाई और यूरोपीयन शहर हैं सुरक्षित
सूची में एशियाई और यूरोपीय शहरों का दबदबा है। शीर्ष 10 स्थानों में चार स्थानों पर पूर्वी एशियाई शहर टोक्यो, सिंगापुर, ओसाका और हांगकांग हैं। जबकि तीन यूरोपीय शहर एमस्टर्डम, स्टॉकहोम और ज्यूरिख को भी शीर्ष 10 मेें जगह मिली है।

दक्षिण एशिया, मध्य एशिया और अफ्रीका में हालात खराब
सबसे कम सुरक्षित 10 शहरों में दक्षिण एशियाई, मध्य एशिया और अफ्रीका के शहर शामिल हैं। इनमें दक्षिण एशिया के ढाका, यंगून और कराची को जगह मिली है। वहीं दक्षिण-पूर्व एशिया के मनीला, हो ची मिन्ह सिटी और जकार्ता भी सबसे कम सुरक्षित 10 शहरों में शामिल हैं। इसके अलावा काहिरा और तेहरान में भी हालात खराब हैं।

धनी शहरों की सुरक्षा हुई खराब
सुरक्षा का मसला अभी भी आर्थिक समृद्धि के साथ जुड़ा हुआ है। हालांकि धनी शहरों की सुरक्षा व्यवस्था खराब हुई है। सूची में शीर्ष 30 यानी आधे स्थानों पर विकासशील अर्थव्यवस्थाओं के देशों का दबदबा है। वहीं 31 से 60 तक के स्थानों पर गरीब देशों के शहर ज्यादा हैं। शीर्ष 30 में जो 14 शहर धनी देशों के हैं, उनमें से 10 की सुरक्षा व्यवस्था 2015 के मुकाबले खराब हुई है।

सबसे सुरक्षित 10 शहर
1- टोक्यो (89.8 अंक)
2- सिंगापुर (89.64 अंक)
3- ओसाका (88.87 अंक)
4- टोरंटो (87.36 अंक)
5- मेलबर्न (87.3 अंक)
6- एमस्टर्डम (87.26 अंक)
7- सिडनी (86.74 अंक)
8- स्कॉटहोम (86.72 अंक)
9- हांगकांग (86.22 अंक)
10- ज्यूरिख (85.2 अंक)

सबसे कम सुरक्षित 10 शहर
1- कराची (38.77 अंक)
2- यंगून (46.47 अंक)
3- ढाका (47.37 अंक)
4- जकार्ता (53.39 अंक)
5- हो ची मिन्ह सिटी (54.34 अंक)
6- मनीला (54.86 अंक)
7- कारकस (55.22 अंक)
8- क्योटो (56.39 अंक)
9- तेहरान (56.49 अंक)
10- काहिरा (58.33 अंक)

Ad Block is Banned