दक्षिण चीन सागर विवाद: फिलीपींस की डाक्यूमेंट्री पर भड़का चीन

चीन ने फिलीपींस की एक डाक्यूमेंट्री पर नाराजगी जताते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि वह दक्षिण चीन सागर विवाद को लेकर गलत सूचनाएं दे रहा है और खुद को पीडि़त की तरह दिखाने का भ्रम पैदा कर रहा है। 

By:

Published: 29 Jun 2015, 01:34 PM IST

चीन ने फिलीपींस की एक डाक्यूमेंट्री पर नाराजगी जताते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि वह दक्षिण चीन सागर विवाद को लेकर गलत सूचनाएं दे रहा है और खुद को पीडि़त की तरह दिखाने का भ्रम पैदा कर रहा है। 

फिलीपींस ने दक्षिण चीन सागर विवाद पर अपनी स्थिति का बचाव करते हुए समुद्री अधिकारों को लेकर तीन भाग वाली एक डाक्यूमेंट्री बनाई है, जिसके पहले भाग को 12 जून को जारी किया गया था। 

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुया चुनयिंग ने कहा, ''फिलीपींस धोखे से सांत्वना हासिल कर और अपने आप को पीडि़त की तरह दिखाने का भ्रम पैदा कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है।'' 

उन्होंने आरोप लगाया कि फिलीपींस दोनों देश के लोगों को उकसाना चाहता है। हाल के महीनों में दक्षिण चीन सागर विवाद पर फिलीपींस और चीन के बीच 'जैसे को तैसा' जैसी बयानबाजी बढ़ी है। 

गत सप्ताह रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि जापान के फिलीपींस के साथ सैन्य अभ्यास में शामिल होने के बाद वह अन्य देशों को इस विवाद में घसीटने का प्रयास करके क्षेत्रीय तनाव को बढ़ा रहा है। इस बीच फिलीपींस ने कहा है कि इस डाक्यूमेंट्री का उद्देश्य लोगों को सूचना देना और सरकारी नीतियों के लिए जन समर्थन हासिल करना है। 

गौरतलब है कि चीन दक्षिण चीन सागर के उन क्षेत्रों में कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर रहा है जिन पर फिलीपींस और अन्य देश भी अपना दावा जताते है। दक्षिण चीन सागर पर चीन के बढते दखल के बीच विदेश मंत्री वांग यी ने शनिवार को कहा था कि अब इस मुद्दे पर रुख बदलने से उसके पूर्वज शर्मसार होंगे तथा साथ ही चीन की संप्रभुता के उल्लंघन का मुकाबला नहीं करना देश के बच्चों को भी लज्जित करेगा।
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned