scriptSri Lanka Crisis: India Helps, China Holds Back | श्रीलंका को उसके मित्र चीन से नहीं मिला कोई सहारा, भारत कर रहा मदद | Patrika News

श्रीलंका को उसके मित्र चीन से नहीं मिला कोई सहारा, भारत कर रहा मदद

आज श्रीलंका में हालात भयावह है। आलम ये है कि यहाँ लोगों को खाने के लाले पड़ने लगे हैं। श्रीलंका के लिए उसपर विदेशी कर्ज सबसे बड़ी चिंता बनी हुई है। उसकी हालत के पीछे चीन का भी बड़ा हाथ है।

Updated: March 27, 2022 06:01:02 pm

श्रीलंका में आज जो भी हालात है उसके पीछे चीन का महत्वपूर्ण हाथ रहा है। यहाँ जरूरी चीजों को खरीदने के लिए लोग लंबी कतारों में नजर आ रहे हैं। जरूरी चीजों की कीमतें इतनी महंगी है कि लोगों के लिए जीना मुश्किल हो गया है। खाने की चीजें हो या ईंधन और ट्रैवल कॉस्ट सभी आसमान छू रहे हैं। इसके पीछे का कारण खराब इकोनॉमिक गर्वनेंस भी है। इससे पहले हम अपनी रिपोर्ट में बता चुके हैं श्रीलंका की हालत के पीछे विदेशी मुद्रा भंडार का कम होना सबसे बड़ा रहा है। तीन साल पहले जहां श्रीलंका का विदेशी मुद्रा भंडार 7.5 अरब डॉलर था जो घटकर कर पिछले साल नवंबर में 1.58 अरब डॉलर हो गया। विदेशी मुद्रा भंडार की कमी के कारण श्रीलंका चीन, जापान, भारत और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष का कर्ज भी नहीं चुका पा रहा है। आज इस हालात के लिए चीन की रणनीति भी जिम्मेदार है।
Sri Lanka Crisis: India Help Sri Lanka, China Holds Back
Sri Lanka Crisis: India Help Sri Lanka, China Holds Back
चीन कैसे है श्रीलंका की हालत का जिम्मेदार
चीन ने रणनीति के तहत श्रीलंका को अपने कर्ज के जाल में फंसाया और उसकी अर्थव्यवस्था को निगलता गया। आज श्रीलंका पर जितना भी विदेश कर्ज है उनमें सबसे अधिक कर्ज चीन का है जोकि कुल कर्ज का 10 फीसदी है। इसके अलावा चाइनीज स्टेट बैंकों के जरिए कमर्शियल लोन का भार भी श्रीलंका पर ही है। ये चीनी कर्ज ही है जिस कारण श्रीलंका को Hambantota port का नियंत्रण 99 सालों के लिए चीन को देने के लिए मजबूर होना पड़ा। चीन अक्सर जो देश उसका कर्ज नहीं चुका पाते उनकी जमीनें हड़प लेता है।

नेशनल कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स के की रिपोर्ट के अनुसार फरवरी 2022 में महंगाई का स्तर 17.5 % तक पहुंच गया था। वहीं, विदेशी कर्ज हैरान 35 बिलियन डॉलर के आंकड़े तक पहुँच गया है। इस हालात में भी चीन मदद के लिए आगे नहीं आया और न ही श्रीलंका को कोई राहत दी।
भारत आया मदद के लिए आगे
भले ही चीन ने श्रीलंका को पीठ दिखाया परंतु भारत उसकी मदद के लिए आगे आया है। इस हफ्ते भारत ने श्रीलंका को 40,000 टन डीजल भेजा है। इसके अलावा 17 मार्च को भारत ने 1 बिलियन डॉलर की क्रेडिट लाइन श्रीलंका को फिर से दी है जिससे वो आवश्यक चीजें जोकि हेल्थकरे और खाने की चीजें खरीद सके।

यह भी पढ़ें

श्रीलंका में मचा कोहराम! 2000 रुपए में मिल रहा एक किलो दूध, भारत की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूह, बागी विधायक दीपक केसरकर ने दी जानकारीMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.