scriptSri Lankan people oppose Ranil Wickremesinghe as new PM Protest start | श्रीलंका के नए PM रानिल विक्रमसिंघे को राजपक्षे परिवार का करीबी बता लोग फिर कर रहे विरोध-प्रदर्शन | Patrika News

श्रीलंका के नए PM रानिल विक्रमसिंघे को राजपक्षे परिवार का करीबी बता लोग फिर कर रहे विरोध-प्रदर्शन

Sri Lanka Crisis: आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री के रूप में रानिल विक्रमसिंघे ने गुरुवार शाम को शपथ ली। लेकिन उनके प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में कई जगह फिर से विरोध शुरू हो गया है। लोग उन्हें राजपक्षे परिवार का करीबी बता रहे हैं।

नई दिल्ली

Published: May 13, 2022 10:34:39 am

Sri Lanka Crisis: श्रीलंका की सबसे पुरानी पार्टी यूनाइटेड नेशनल पार्टी (UNP) के मुखिया रानिल विक्रमसिंघे देश के नए प्रधानमंत्री बन चुके हैं। गुरुवार शाम उन्होंने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। लेकिन श्रीलंका के लोग उन्हें प्रधानमंत्री मानने से इंकार कर रही है। उनके शपथ ग्रहण के अगले ही दिन आज राजधानी कोलंबो सहित देश के कई हिस्सों में रानिल विक्रमसिंघे के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि रानिल विक्रमसिंघे राजपक्षे परिवार के करीबी है। वो श्रीलंका की मौजूदा परेशानी को खत्म नहीं कर सकेंगे।

sri_lanka_new_pm_ranil_wickremesinghe.jpg

विरोध के बीच लोगों ने सवाल उठाया कि 2020 का चुनाव हारने के बाद भी इस विपरित परिस्थिति में रानिल विक्रमसिंघे को प्रधानमंत्री क्यों बनाया गया है। उल्लेखनीय हो कि 2020 में श्रीलंका में हुए चुनाव में रानिल विक्रमसिंघे खुद हार गए थे। उनकी पार्टी से कोई भी उम्मीदवार जीत नहीं सका था। बाद में कम्युलेटिव नेशनल वोट के आधार पर यूएनपी को आवंटित राष्ट्रीय सूची के माध्यम से वो संसद पहुंचे थे।

श्रीलंका की मौजूदा स्थिति में यह सवाल अहम हो जाता है कि जो इंसान खुद चुनाव नहीं जीत सके, चुनाव में उसकी पार्टी का खाता तक नहीं खुला वो देश के प्रधानमंत्री कैसे बन गए। प्रदर्शनकारियों ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि रानिल विक्रमसिंघे को राजपक्षे परिवार का करीबी होने का फायदा मिला है। उन्हें पीएम बनाकर राजपक्षे परिवार सत्ता पर अपनी अघोषित पकड़ बनाए रखी है। बता दें कि इस समय 225 सदस्यीय संसद में रानिल विक्रमसिंघे की पार्टी यूएनपी के मात्र एक सांसद है।

यह भी पढ़ेंः

Sri Lanka Crisis: रानिल विक्रमसिंघे बने श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री

शुक्रवार को रानिल विक्रमसिंघे के खिलाफ प्रदर्शन कर लोगों का कहना है कि रानिल विक्रमसिंघे और राजपक्षे परिवार पहले से करीबी है। दोनों एक-दूसरे को बचाते रहे हैं। ऐसे में रनिल विक्रमसिंघे की पीएम पद पर नियुक्ति को स्वीकार नहीं किया जा सकता। बताते चले कि आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद देश में हिंसा शुरू हो गई थी। इस बीच महिंद्रा राजपक्षे के छोटे भाई और राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने गुरुवार को को देश के 26वें प्रधानमंत्री के रूप में रानिल विक्रमसिंघे को शपथ दिलाई थी।

यह भी पढ़ेंः

श्रीलंका से पहले इन देशों ने भी झेला है आर्थिक संकट, 80 हजार रुपए प्रति लीटर हो गई थी दूध की कीमत

रानिल विक्रमसिंघे इससे पहले श्रीलंका के 4 बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं। विक्रमसिंघे को अक्टूबर 2018 में तत्कालीन राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना ने प्रधानमंत्री पद से हटा दिया था। हालांकि दो महीने बाद ही सिरीसेना ने ही उन्हें इस पद पर बहाल किया था। रानिल विक्रमसिंघे को संसदीय राजनीति का 45 वर्ष का अनुभव है। वह भारत के करीबी बताए जाते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलIAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.