scriptTension at peak in South China Sea: Announcement of Nancy Pelosi | South China Sea में चरम पर तनाव: नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे का ऐलान, चीन ने US को फिर दी खुली धमकी, मत कहना नहीं दी थी चेतावनी | Patrika News

South China Sea में चरम पर तनाव: नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे का ऐलान, चीन ने US को फिर दी खुली धमकी, मत कहना नहीं दी थी चेतावनी

अमरीकी संसद के एक सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ताइवान की यात्रा पर जा रही हैं। इस पर चीन भड़का हुआ है और उसने अमरीका को चेतावनी भी दी है। इसी बीच चीन के बयान पर अमरीका ने भी पलटवार किया है। व्‍हाइट हाउस ने ये भी साफ कर दिया है कि चीन इस दौरे पर कोई भी गलती न करे तो उसके लिए अच्‍छा होगा। वहीं नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे पर चीन ने फिर घुड़की दी है और कहा है कि फिर मत कहना चेताया नहीं था। बता दें, चीन इन दिनों साउत चाइना सी में युद्धाभ्यास कर रहा है और उसने साउथ चाइना सी में यात्रा के खिलाफ चेतावनी दी है।

जयपुर

Published: August 02, 2022 11:16:26 am

नैंसी पेलोसी के एशिया दौरे (Nancy Pelosi Asia Tour) को लेकर लगाई जा रही अटकलों को आखिरकार अमरीका ने विराम दे दिया है। अमरीका ने नैंसी के ताइवान दौरे का ऐलान कर दिया है। चीन की सभी धमकियों को दरकिनार कर नैंसी पेलोसी मंगलवार को ताइवान जा रही हैं। उनके ही सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम भी कर दिए गए हैं। इस ऐलान के साथ व्‍हाइट हाउस ने ये भी साफ कर दिया है कि चीन इस दौरे पर कोई भी गलती न करे तो उसके लिए अच्‍छा होगा।
nancy_pelosi_to_visit_taiwan.jpg
चीन ने जारी किया वीडियो संदेश

व्‍हाइट प्रवक्‍ता ने कहा है कि नैंसी को पूरा हक है कि वो एक आजाद राष्‍ट्र ताइवान की यात्रा करें। ऐसे में चीन का कोई भी गलत कदम उसको मुश्किल में डाल सकता है। वहीं चीन ने अपने सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म पर नैंसी और अमरीका को धमकाने के लिए एक वीडियो पोस्‍ट किया है। इस वीडियो में चीन के युद्धपोत जिनमें गाइडेड मिसाइन डिस्‍ट्रोयर दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो में एक संदेश भी दिया गया है। इसमें लिखा है कि चीन किसी भी घुसपैठिये की दफ्न करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
अमरीका और चीन आमने-सामने

यूक्रेन युद्ध के बीच एक नया तनाव का मोर्चा दुनिया में तैयार हो रहा है। यह तनाव अगर सामने आया तो किसी भी अब तक दुनिया में हुए टकरावों पर भारी पड़ सकता है। जी हां, ताइवान को लेकर एक नए पैटर्न की राजनीति करवट लेती दिख रही है क्योंकि इस पर अमरीका और चीन एक बार फिर आमने-सामने आते दिख रहे हैं। अमरीकी संसद के सदन हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी मंगलवार को ताइवान की यात्रा पर जा रही हैं। इस पर चीन भड़का हुआ है। उसने कहा कि अगर वो ताइवान जाती हैं तो चीनी सेना चुप नहीं बैठेगी। चीन ने घुड़की के लहजे में बताया कि फिर मत कहना कि चेतावनी नहीं दी थी। उधर चीन की धमकी पर अमरीका का भी बयान सामने आया है।

चीन की तरफ से अमरीका को दी गई धमकी!
दरअसल, चीन की धमकियों के बावजूद नैन्सी पेलोसी अधिकारियों के साथ ताइवान यात्रा पर जाएंगी। पेलोसी चार एशियाई देशों की यात्रा कर रही हैं, सबसे पहले वह सिंगापुर पहुंचीं हैं। इसके बाद ताइवान की संभावित यात्रा पर तिलमिलाए चीन ने अमरीका को चेतावनी दी है। इसके बाद चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि चीन अमरीका को फिर से चेतावनी देना चाहता है कि अगर पेलोसी ताइवान गईं तो पीपुल्स लिबरेशन आर्मी खाली नहीं बैठेगी।
'गंभीर राजनीतिक प्रभाव का कारण बनेगी यह यात्रा'
चीन के आधिकारिक बयान में यह भी कहा गया कि चीन निश्चित रूप से अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए दृढ़ और मजबूत भरा जवाबी कदम उठाएगा। अमरीका को एक-चीन सिद्धांत और यूएस-सिनो विज्ञप्ति पर अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के वादे का पालन करना चाहिए। यह भी कहा गया कि अमरीकी सरकार में तीसरी नंबर की अधिकारी' के रूप में पेलोसी की ताइवान की यात्रा 'गंभीर राजनीतिक प्रभाव का कारण बनेगी।
फिर US ने किया पलटवार- तनाव बढ़ाने में दिलचस्पी नहीं
उधर अमरीका की तरफ से चीन के इस बयान पर प्रतिक्रिया भी सामने आई है। व्हाइट हाउस ने सोमवार को स्पीकर नैन्सी पेलोसी की 'ताइवान की यात्रा' पर चीन की बयानबाजी की निंदा की है। बयान में कहा गया कि अमरीका को बीजिंग के साथ तनाव बढ़ाने में कोई दिलचस्पी नहीं है। अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा समन्वयक जॉन किर्बी ने भी इस बाबत एक बयान दिया है और कहा है कि यह यात्रा अध्यक्ष पर निर्भर है। हम उनकी यात्रा के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करेंगे लेकिन अध्यक्ष को ताइवान जाने का अधिकार है।
यात्रा के मद्देनजर अमरीकी सेना भी तैयार!
उन्होंने यह भी कहा कि हमारी 'एक चीन नीति' के बारे में कुछ भी नहीं बदला है जो ताइवान संबंधी अधिनियम द्वारा निर्देशित है। हम ताइवान की स्वतंत्रता का समर्थन नहीं करते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले दिनों में चीन भड़काऊ बयानबाजी और दुष्प्रचार का इस्तेमाल करेगा। उधर यूएस ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिले ने मीडिया से कहा था कि अगर पेलोसी ताइवान जाती हैं और वहां पर उनको किसी भी प्रकार की सैन्य सहायता की जरूरत पड़ती है तो हम वो करेंगे।

आज 2 अगस्त की शाम को ताइवान पहुंच सकती हैं पेलोसी
इसी बीच जापानी मीडिया ने दावा किया है कि अमरीकी सेना पेलोसी के विमान के लिए एक बफर जोन बना रही है। अमरीकी नौसेना अपने एयरक्राफ्ट कैरियर और विशाल प्‍लेन को ताइवान की सीमा के पास तैनात कर रही है। वहीं ताइवान की मीडिया ने दावा किया है कि नैंसी पेलोसी मंगलवार की शाम को राजधानी ताइपे पहुंच सकती हैं।
जिनपिंग ने बाइडेन से भी की थी बात
मालूम हो इस पूरे मामले पर राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अपने अमरीकी समकक्ष जो बाइडन के साथ टेलीफोन पर की गई वार्ता में ताइवान के मामले में हस्तक्षेप करने के खिलाफ चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था कि 'आग से खेलने वाला अंतत: खुद उससे जल जाता है।' चीन को लगता है कि ताइवान के साथ आधिकारिक अमरीकी संपर्क उसकी दशकों पुरानी उस नीति के खिलाफ ताइवान को उकसाता है, जिसके तहत वह उसे वास्तविक, स्वतंत्र और स्थायी क्षेत्र मानता है।
मिनटों में वीबो के वीडियो देख चुके 42 लाख लोग

बता दें अमरीका ने कुछ मिनट पहले सोशल मीडिया Sina Weibo साइट पर जो वीडियो डाला है उसको अब तक 42 लाख से अधिक लोग देख भी चुके हैं। इसके साथ ही चीन ने अपनी धमकी को एक बार फिर दोहराया है कि अमेरिका नैंसी का दौरा रद कर दे, नहीं तो ये अच्‍छा नहीं होगा। चीन के सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म Sina Weibo पर ये काफी हिट साबित हो रहा है। आपको बता दें कि अमेरिका और चीन के बीच नैंसी के ताइवान दौरे को लेकर तनाव अपने चरम पर पहुंच चुका है।
चीन ने साउथ चाइना सी में शुरू कर दिया है वार एक्सरसाइज

ये ऐसे समय में हो रहा है जब चीन अपने ईस्‍टर्न थियेटर कमान के 95 वर्ष पूरे होने पर वर्षगांठ मना रहा है। यही नहीं चीन इन दिनों साउथ चाइना सी में वार एक्सरसाइज कर रहा है और उसने 5 अगस्त तक साउथ चाइना सी को उड़ानों के लिए प्रतिबंधित कर रखा है।
अब चीन के पाले में गेंद
अमेरिका ने नैंसी के ताइवान दौरे का ऐलान कर अब गेंद चीन के पाले में फेंक दी है। आपको बता दें कि जब नैंसी के एशिया दौरे का ऐलान किया गया था उस वक्‍त ताइवान का जिक्र नहीं किया गया था। तभी ये माना जा रहा था कि अमेरिका चीन की धमकी से चुप बैठने वाला नहीं है। तभी इस बात की संभावना जताई जा रही थी कि नैंसी मलेशिया से पहले या उसके बाद अचानक ही ताइवान पहुंचेंगी। अब वही हो भी रहा है।
ताइवान को दिया जाएगा संदेश

वहीं दूसरी तरफ अमेरिका ने नैंसी के ताइवान दौरे को केवल एक मुलाकात भर तक सीमित नहीं रखा है बल्कि इसके कई बड़े मायने हैं। इसका सबसे बड़ा अर्थ तो यही है कि ताइवान को लेकर चीन को ये सीधा संदेश पहुंच जाए कि वो उसके साथ हर तरह से है। अमेरिका ये भी दिखाना चाहता है कि यदि चीन ने ताइवान पर कोई हमला किया तो इसे उस पर हमला मानते हुए इसका जवाब दिया जाएगा।
अमरीकी जंगी पोत अलर्ट पर

अमेरिका नैंसी के इस दौरे पर ठीक वैसे ही आगे बढ़ रहा है जैसा कि उसने पूर्व में कहा था। इस क्षेत्र में उसके एयरक्राफ्ट केरियर और सभी जंगी पोत पूरी तरह से हाई अलर्ट पर हैं। अमेरिका 24 घंटे अपनी सेटेलाइट से चीन की नौसेना और वायु सेना की मूवमेंट को वाच भी कर रहा है।
चीन धमकी तक रहेगा सीमित

जानकारों का मानना है कि चीन इस मामले में घुड़की से आगे नहीं बढ़ेगा। यही नहीं, नैंसी के ताइवान दौरे के मौके पर चीन की तरफ से हर रोज ताइवान के हवाई क्षेत्र का अतिक्रमण करने की भी घटना आज नहीं होगी। इस तरह की कोई भी घटना चीन और इस पूरे क्षेत्र को मुश्किल में डाल देगी। यहां पर अमेरिका ने जो दांव खेला है उसमें चीन का चारों खाने चित होना तय है। लेकिन पूरी दुनिया की नजर इस घटनाक्रम पर बनी हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

BJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरूबिहार कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, आज शाम सोनिया गांधी से मिलेंगे तेजस्वी यादव, 2024 के PM कैंडिडेट पर बोले नीतीश कुमारCoronavirus News Live Updates in India : राजस्थान में एक्टिव मरीज 4 हजार के पारडिप्टी सीएम बनने के बाद आज पहली बार लालू यादव से मिलेंगे तेजस्वी यादव, मंत्रालयों के बंटवारे पर होगी चर्चाRajasthan BSP : 6 विधायकों के 'झटके' से उबरने की कवायद, सुप्रीमो Mayawati की 'हिदायत' पर हो रहा कामउत्तर प्रदेश में बैन होगी 'लाल सिंह चड्ढा'? हिन्दू संगठन ने विरोध प्रदर्शन कर CM से की प्रतिबंध लगाने की मांगJammu Kashmir: कश्मीर में एक और बिहारी मजदूर की हत्या, बांदीपोरा में आतंकियों ने मोहम्मद अमरेज को मारी गोलीबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 'बिहार वृक्ष सुरक्षा दिवस' कार्यक्रम में हुए शामिल, पेड़ को बांधी राखी, कहा - वृक्ष की भी होनी चाहिए रक्षा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.