scriptThe President of France praised PM Modi for teaching Peace to Putin | पुतिन को शांति का पाठ पढ़ाने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से फ्रांस के राष्ट्रपति ने की PM मोदी की तारीफ, व्हाइट हाउस ने भी फिर से सराहा | Patrika News

पुतिन को शांति का पाठ पढ़ाने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से फ्रांस के राष्ट्रपति ने की PM मोदी की तारीफ, व्हाइट हाउस ने भी फिर से सराहा

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) सत्र में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की है और विश्व नेताओं से कहा कि जब उन्होंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को बताया कि ये युग युद्ध का नहीं है, तो वह सही थे।

जयपुर

Updated: September 21, 2022 08:32:27 am

हाल में संपन्न हुए शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को द्विपक्षीय वार्ता के दौरान शांति का पाठ पढ़ाया था। यूक्रेन और रूस के युद्ध के दौरान की गई पीएम मोदी की इस पहल के लिए अब दुनियाभर में उनकी तारीफ हो रही है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने तो संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेते हुए उनकी सराहना की है। मैक्रों ने कहा कि पीएम मोदी ने सही कहा है कि आज का समय युद्ध का नहीं है। आपको बता दें कि इससे पहले समय अमरीका ने भी पीएम मोदी के बयान का समर्थन किया था और वहां की मीडिया ने जमकर तारीफ की थी और एक बार फिर व्हाइट हाउस ने औपचारिक बयान जारी कर पीएम मोदी के इस कथन की तारीफ की है।
emmanuel-macron-unga-pm_modi_appreciate.jpg
पश्चिमी देशों के खिलाफ बदला लेने का समय नहीं

मैक्रों ने कहा, "भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सही कहा है कि आज का समय युद्ध का नहीं है। यह समय पश्चिमी देशों के खिलाफ बदला लेने के लिए या फिर पूर्व के खिलाफ पश्चिम का विरोध करने के लिए नहीं है। यह समय हमारे सामने आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए है।"
पीएम ने कहा था, शांति के पथ पर चलने की जरूरत

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा था, "आज का समय युग युद्ध का नहीं है। मैंने आपसे फोन कॉल पर भी इसके बारे में बात की है। आज हमें इस बारे में बात करना चाहिए कि हम शांति के पथ पर कैसे विकास कर सकते हैं। भारत और रूस कई दशकों से एक-दूसरे के साथ रहे हैं।"
आज विकास के मुद्दों पर बात करने का समय
मैक्रों यहीं नहीं रुके। मैकों ने आगे कहा कि "यही कारण है कि आज उत्तर और दक्षिण के बीच एक नया अनुबंध विकसित करने की तत्काल आवश्यकता है, एक प्रभावी अनुबंध जो भोजन के लिए, जैव विविधता के लिए, शिक्षा के लिए सम्मानजनक पहल करता हो। हमारा समय खेमेबाजी की सोच के लिए नहीं है, बल्कि वैध दावों और सामान्य हितों को समेटते हुए एक सामान्य मोर्चा गठित करने के लिए है।
पीएम मोदी ने द्विपक्षीय चर्चा के दौरान कही थी ये बात

प्रधानमंत्री मोदी ने उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन से इतर एक द्विपक्षीय बैठक के दौरान यह बात कही थी। उन्होंने कहा था, "हमने भारत-रूस द्विपक्षीय संबंधों और विभिन्न मुद्दों के बारे में फोन पर कई बार बात की है। हमें खाद्य, ईंधन सुरक्षा और उर्वरक की समस्याओं के समाधान के तरीके खोजने चाहिए। मैं यूक्रेन से हमारे छात्रों को निकालने में हमारी मदद करने के लिए रूस और यूक्रेन को धन्यवाद देना चाहता हूं।"
पीएम मोदी को जवाब देते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि वह यूक्रेन संघर्ष पर भारत की स्थिति के बारे में जानते हैं, लेकिन यूक्रेन बात करने के लिए तैयार नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हम चाहते हैं कि यह सब जल्द से जल्द खत्म हो।
व्हाइट हाउस ने भी की फिर से तारीफ
वहीं पीएम मोदी के वक्तव्य की तारीफ करते हुए व्हाइट ने भी मंगलवार 21 सितंबर को बयान जारी करते हुए कहा है कि , उज्बेकिस्तान में एससीओ शिखर सम्मेलन के मौके पर अपनी बैठक के दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश ''सिद्धांत का एक वक्तव्य है" जो वह मानते हैं कि "सही और न्यायसंगत" है और "अमरीका द्वारा" इसका "इसका बहुत स्वागत किया गया" है।
बता दें इसके पहले अमरीका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंक्न भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस वक्तव्य के लिए तारीफ कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि "भारत की ओर से जो सुन रहे हैं वह दुनिया की चिंताओं के बारे में दर्शाता है। मुझे लगता है कि उज्बेकिस्तान में भारत और चीन के नेताओं ने जो संदेश दिए हैं उसके साफ संकेत है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन जो कुछ भी कर रहे हैं, उसके कारण वो अलग-थलग पड़ चुके हैं।''

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

सच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगेबिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दिया इस्तीफा, डिप्टी सीएम को सौंपा पत्रहिमाचल पहुंचे जेपी नड्डा, BJP जिला कार्यालय का लोकार्पण करने के बाद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ की बैठकपंजाबः लॉरेंस बिश्नोई का करीबी गैंगस्टर टीनू हिरासत से चौथी बार फरार, मूसेवाला मर्डर केस में होनी थी पूछताछकांग्रेस के तीन बड़े प्रवक्ताओं ने दिया इस्तीफा, मल्लिकार्जुन खड़गे को अध्यक्ष बनाने के लिए करेंगे प्रचार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.