scriptUS, Australia and Japan vow to work together against China | अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने चीन के खिलाफ मिलकर काम करने का लिया संकल्प | Patrika News

अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने चीन के खिलाफ मिलकर काम करने का लिया संकल्प

locationनई दिल्लीPublished: Oct 02, 2022 08:24:45 am

चीन के खिलाफ अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और जापान ने एक साथ मिलकर काम करने का संकल्प लिया है। इस संकल्प के तहत ये तीनों देश मिलकर चीन की बढ़ती महत्वाकांक्षाओं को चुनौती देंगे। इसके बाद चीन पर अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दवाब बढ़ेगा।

us-australia-and-japan-vow-to-work-together-against-china.jpg
US, Australia and Japan vow to work together against China
चीन की विस्तारवाद की नीति के खिलाफ भारत लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए है। भारत की ओर से समय-समय पर अंतर्राष्ट्रीय मंचों में चीन की विस्तारवाद की नीति के खिलाफ बात रखी जाती है। वहीं अब चीन को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक बड़ा झटका लगा है। संयुक्त राज्य अमरीका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के रक्षा मंत्रियों ने चीन की बढ़ती महत्वाकांक्षाओं के सामने आपस में सैन्य सहयोग को बढ़ाने के लिए सहमति जताई है, जिसके तहत ये तीनों देश मिलकर चीन के खिलाफ काम करेंगे।
अमरीकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने अमेरिकी सैन्य मुख्यालय में ऑस्ट्रेलिया और जापान के मंत्रियों को स्वागत करते हुए कहा कि "हम ताइवान जलडमरूमध्य क्षेत्र में चीन की आक्रामकता और बदमाशी के व्यवहार से बहुत चिंतित हैं।"

यह भी पढ़ें

रूस का बड़ा बयान, भारत-चीन बॉर्डर विवाद द्विपक्षीय मामला, हम इससे रहेंगे दूर, अमरीका पर साधा निशाना

 
वैश्विक नियम के अनुसार व्यवस्था बनाए रखना चाहता है ऑस्ट्रेलिया
ऑस्ट्रेलियाई मंत्री रिचर्ड मार्लेस ने कहा कि हम वैश्विक नियम के अनुसार व्यवस्था को बनाए रखने के पक्ष में हैं। हम उस आदेश को हिंद-प्रशांत में भी दबाव में देखते हैं, क्योंकि चीन अपने आसपास की दुनिया को इस तरह से आकार देने की कोशिश कर रहा है जैसा हमने पहले नहीं देखा है।
अमरीकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने पिछले हफ्ते ताइवान के मुद्दे पर चीन का किया था विरोध
अमरीकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने पिछले हफ्ते जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमरीका ताइवान जलडमरूमध्य सहित पूरे एशिया में बिना किसी डर के कार्रवाई करेगा। उन्होंने कहा कि चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है और पानी के पतले व व्यस्त चैनल पर भी दावा करता है, जिस पर उन्होंने अमरीका की ओर से विरोध जताया।

यह भी पढ़ें

उत्तर कोरिया ने दागी 2 बैलिस्टिक मिसाइलें, एक हफ्ते के अंदर चौथा परीक्षण

 

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र: बल्लारशाह रेलवे स्टेशन पर फुटओवर ब्रिज का हिस्सा गिरा, 20 यात्री घायल, 8 की हालत गंभीरGujarat Elections 2022: PM मोदी का कांग्रेस पर निशाना, कहा- देश में चरम पर था आतंकवादश्रद्धा मर्डर केस: सोमवार को आफताब के नार्को टेस्ट के लिए FSL में तैयारी, जानिए तिहाड़ में कैसे गुजरी पहली रातराजस्थान में बैकफुट पर कांग्रेस, पार्टी में फूट का डर, गहलोत खेमा शांत, पायलट समर्थक मुखरकेजरीवाल का बड़ा दावा! बोले- लिख कर देता हूं गुजरात में बन रही AAP की सरकारBJP का केजरीवाल पर हमला, संबित पात्रा बोले, सत्येंद्र जैन के लिए जेल में रखे गए हैं 10 लोगपूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सहारनपुर दो दिवसीय दौरे पर, कई कार्यक्रमों में करेंगे शिरकतमन की बात में पीएम मोदी ने कहा, जी-20 की अध्यक्षता मिलना गौरव की बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.