scriptwales govt introduces ban on smacking and slapping children | बच्चों की पिटाई और थप्पड़ मारने पर प्रतिबंध, जानें कहां पर लगा बैन | Patrika News

बच्चों की पिटाई और थप्पड़ मारने पर प्रतिबंध, जानें कहां पर लगा बैन

अब बच्चों के ऊपर हाथ उठाना या उन्हें शारीरक चोट देना माता-पिता को भारी पड़ सकता है क्योंकि इसपर अब पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा गया है।

Updated: March 22, 2022 11:05:05 am

बच्चों की शैतानी बढ़ती है तो माँ-बाप उन्हें सुधारने के लिए उनकी पिटाई करने से नहीं चूकते हैं। अब ऐसा करने वाले माता-पिता को कानून के तहत सजा हो सकती है। बच्चों को चांटा मारना या उनकी पिटाई करना माँ-बाप को भारी पड़ सकता है। स्थानीय चिल्ड्रन एक्ट के मुताबिक बच्चों को किसी भी तरह की शारीरिक सजा देना जुर्म के श्रेणी में आता है। वयस्कों की तरह ही बच्चों को भी अपनी सुरक्षा के लिए बराबर के अधिकार हैं।
wales govt introduces ban on smacking and slapping children
wales govt introduces ban on smacking and slapping children (PC: sky news)
ये कानून अब वेल्स में भी लागू हो गया है। वेल्स उन 60 देशों की लिस्ट में शामिल हो गया जहां बच्चों को शारीरिक सजा देना कानूनी जुर्म है। वेल्स में आज से चांटा मारना, धक्का देना, उसे हिलाना या थप्पड़ मारने जैसे किसी भी प्रकार का शारीरिक दंड चिल्ड्रन ऐक्ट 2020 (Abolition Of Defence Of Reasonable Punishment - Wales) के तहत गलत माना जाएगा।

प्रथम मंत्री मार्क ड्रेकफोर्ड ने कहा इस कानून पर कहा, "बाल अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन यह स्पष्ट करता है कि बच्चों को नुकसान से और चोट लगने से बचाने का अधिकार है और इसमें शारीरिक दंड शामिल है।"
उन्होंने कहा कि 'स्पष्ट रूख अपनाने की आवश्यकता है। अतीत में जो हुआ उससे आगे बढ़ता चाहिए। इसलिए अब वेल्स में शरीरिक सजा के लिए कोई स्थान नहीं है।'

बता दें कि इससे पहले स्कॉटलैंड ने नवंबर 2020 में बच्चों की शारीरिक सजा को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दिया था। वहीं, इंग्लैंड में माता-पिता अपने बच्चे को थप्पड़ मार सकते हैं परंतु उससे चोट या सूजन नहीं आणि चाहिए अन्यथा ये जुर्म की श्रेणी में आएगा।

यह भी पढ़ें

Rape news: रेप के झूठे जुर्म में सात साल जेल में रहा...हकीकत कुछ और थी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

भारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...योगी की राह पर दक्षिण के बोम्मई, इस कानून को लागू करने वाला नौवां राज्य बना कर्नाटकSri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे की बची कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव हुआ खारिज900 छक्के, IPL 2022 में रचा गया इतिहास, बल्लेबाजों ने 15वें सीजन में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्डIPL 2022 : 65वें मैच के बाद हुआ बड़ा उलटफेर ऑरेंज कैप पर बटलर नंबर- 1 पर कायम, पर्पल कैप में उमरान मलिक ने लगाई छलांगज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होभाजपा के पूर्व सांसद व अजजा आयोग के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष के इस पोस्ट से मचा बवाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.