script Good News : भेड़ियों में विकसित हुई कैंसर के विकिरणों से लड़ने की क्षमता | Wolves have developed the ability to fight cancer radiation Living Near Chernobyl Plant | Patrika News

Good News : भेड़ियों में विकसित हुई कैंसर के विकिरणों से लड़ने की क्षमता

locationनई दिल्लीPublished: Feb 10, 2024 05:49:23 am

Submitted by:

Anand Mani Tripathi

जानवर मनुष्यों को घातक बीमारी से लड़ने में मदद करने में महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। चेरनोबिल अपवर्जन क्षेत्र में रहने वाले भेड़ियों की प्रतिरक्षा प्रणाली बदल गई है और उनमें कैंसर से लड़ने की क्षमता विकसित हो गई है।

wolves_have_developed_the_ability_to_fight_cancer_radiation_living_near_chernobyl_plant_.png

एक नई स्टडी में पाया गया है कि चेरनोबिल अपवर्जन क्षेत्र (सीईजेड) में रहने वाले भेड़ियों की प्रतिरक्षा प्रणाली बदल गई है और उनमें कैंसर से लड़ने की क्षमता विकसित हो गई है। साल 1986 में चेरनोबिल बिजली संयंत्र में परमाणु रिएक्टर में विस्फोट के बाद पर्यावरण में कैंसर पैदा करने वाला विकिरण फैल गया था। मनुष्यों ने इस क्षेत्र को छोड़ दिया था। करीब 2,590 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र की घेराबंदी कर दी गई और लोगों को वहां जाने से रोक दिया गया। भेड़िये इधर-उधर घूमते रहे और विकिरण के लंबे समय तक संपर्क के आदी हो गए।

स्टडी में कहा गया है कि यह जानवर मनुष्यों को घातक बीमारी से लड़ने में मदद करने में महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। अमरीका में सोसाइटी ऑफ इंटीग्रेटिव एंड कम्पेरेटिव बायोलॉजी की वार्षिक बैठक में यह स्टडी प्रस्तुत की गई है। स्टडी का नेतृत्व प्रिंसटन विश्वविद्यालय में शेन कैंपबेल-स्टेटन लैब में एक विकासवादी जीवविज्ञानी और इकोटॉक्सिकोलॉजिस्ट कारा लव ने किया है। वह नौ साल से सीईजेड में भेड़ियों का अध्ययन कर रहीं हैं।

सीमा से 6 गुना ज्यादा विकिरण झेले
लाव और उनकी टीम ने इन भेड़ियों पर विकिरण डोसिमीटर से लैस जीपीएस रेडियो कॉलर लगाए। पता चला कि सीईजेड में रहने वाले भेड़ियों को प्रतिदिन 11.28 मिलीमीटर विकिरण का सामना करना पड़ता था, जो मनुष्यों के लिए कानूनी सुरक्षा सीमा से छह गुना अधिक है। चेरनोबिल भेड़ियों की प्रतिरक्षा प्रणाली दुनिया के अन्य हिस्सों की तुलना में भिन्न दिखाई दी। शोध दल ने पाया कि भेड़ियों के जीनोम ने कैंसर के प्रति कुछ लचीलापन विकसित किया है। शोधकर्ता अब जांच करेंगे कि मनुष्यों में समान जीन उत्परिवर्तन कैंसर से बचने की संभावनाओं को कैसे बढ़ा सकते हैं। सीईजेड में रहने वाले कुत्तों पर भी इसी तरह का प्रभाव देखा गया।

ट्रेंडिंग वीडियो