PAK सांसद ने महिला नेता से किया दुर्व्यवहार, फिर चादर ओढ़ा मांगी मांफी

इमाद पिताफी के इस बयान को देश में महिला के साथ यौन उत्पीड़न के तौर पर लिया जा रहा है। साथ ही नुसरत इससे काफी दुखी है। महिला सांसद ने कहा कि इस घटना से अंदाजा लगाना आसान है कि देश महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कितने इंतजाम किए गए हैं।

Punit Kumar

25 Jan 2017, 05:23 PM IST

पाकिस्तान की संसद में एक बार फिर जनता को शर्मसार कर देने वाला बयान सामने आया है। जहां सिंध प्रांत की असेंबली में मंत्री इमाद पिताफी ने अपने विपक्षी पार्टी की महिला सदस्य नुसरत सहर अब्बासी पर अभद्र टिप्पणी किया है। जिसके बाद मामला काफी बिगड़ गया। 



दरअसल, महिला सदस्य नुसरत सहर अब्बासी ने आरोप लगाते हुए कहा कि सांसद ने उनके खिलाफ काफी आपत्तिजनक बयान दिया है। साथ ही कहा कि अगर उन पर कार्यवाई नहीं हुई तो वह खुद को आग के हवाले भी कर देगी। 




गौरतलब है कि देश की संसद में चर्चा के दौरान नसरत को मंत्री इमदाद ने अपने चैंबर में आने को कह दिया। जिसके बाद महिला सांसद ने उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाई की मांग करने लगी। एक बातचीत के दौरान महिला सांसद ने कहा कि इस घटना से अंदाजा लगाना आसान है कि देश महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कितने इंतजाम किए गए हैं। 




तो वहीं इमाद पिताफी के इस बयान को देश में महिला के साथ यौन उत्पीड़न के तौर पर लिया जा रहा है। साथ ही नुसरत इससे काफी दुखी है। इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर विवाद होते देख देश के बड़े राजनेताओं ने इस पर मांफी भी मांग ली। 




चारों तरफ हो रहे बवाल और दबाव को देख हुए मंत्री इमाद पिताफी ने नुसरत से मांफी ही नहीं मांगी बल्कि महिला के प्रति अपना सम्मान जताते हुए उन्होंने उनके सिर पर चादर भी ओढ़ा दिए। जिसके बाद नुसरत अब्बासी ने कहा कि भले यह मामला खत्म हो गया हो लेकिन महिला के साथ होने वाले अन्याय के खिलाफ बनाए गए कानून की कमियों को उजागर करता है। 




साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी डिप्टी स्पीकर भी महिला हैं। उनके सामने इस तरह की हरकत हो गई और इस पर कोई कार्यवाई नहीं हुई जो कि काफी पीड़ादायक है। गौरतलब हो कि पाकिस्तान में वैसे तो महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई कानून बनाए गए। बावजूद इसके उसे लागू नहीं किया जा सका।  

Show More
पुनीत कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned