scriptWW-III countdown begins: Russian Security Council chief Medvedev warns | रूस की चेतावनी: यूक्रेन ने अमरीकी रॉकेट रूसी जमीन पर दागे तो पश्चिमी देशों पर हमला तय...देखें, NATO से यूक्रेन को मिले हथियारों की सूची | Patrika News

रूस की चेतावनी: यूक्रेन ने अमरीकी रॉकेट रूसी जमीन पर दागे तो पश्चिमी देशों पर हमला तय...देखें, NATO से यूक्रेन को मिले हथियारों की सूची

रूस के पूर्व राष्ट्रपति और वर्तमान में रूस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रमुख दिमित्रि मेदवेदेव ने अलजजीरा चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि पश्चिमिी देश यूक्रेन के बहाने रूस से एक छद्म युद्ध लड़ रहे हैं। मेदवेदेव हालात की गंभीरता का जिक्र करते हुआ कहा कि प्रलय के घोड़े पहले ही आगे की ओर दौड़ रहे हैं और अब तो सिर्फ भगवान से ही उम्मीद है। ब्रिटेन के जाने-माने अखबार द टाइम्स या संडे टाइम्स ने भी इस आशय की लीड स्टोरी प्रकाशित की है।

जयपुर

Updated: June 05, 2022 01:21:44 pm

राष्ट्रपति पुतिन के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक ने चेतावनी दी है कि अगर यूक्रेन रूसी क्षेत्र पर हमले करने के लिए संयुक्त राज्य अमरीका द्वारा आपूर्ति किए गए रॉकेट सिस्टम का उपयोग करता है तो मास्को पश्चिमी शहरों को निशाना बना सकता है। बता दें, वाशिंगटन ने इस सप्ताह कहा था कि वह यूक्रेन को M142 हाई-मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम भेज रहा है, जो उसकी सेना की आर्टिलरी रेंज को दोगुना से अधिक कर देगा और उसे 50 मील दूर लक्ष्य पर हमला करने की क्षमता देगा। इस खबर पर रूसी रणनीतिकारों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।
russian_president_and_dimtri_medvedev_russia_security_council_1.jpg
आगे बढ़ने के पहले, आइए आपको बताते हैं कि किस देश ने यूक्रेन को अब तक कितने हथियार दिए हैं। ये पूरी सूची ब्रिटेन के अखबार संडे टाइम्स में प्रकाशित हुई है....

poland_to_ukraine_weapon.jpgweapon_from_usa_to_ukraine.jpgweapon_from_uk_to_ukraine.jpgfrom_canda_to_ukraine_weapons.jpgspain_weapon_to_ukraine.jpgweapon_from_germany_to_uk.jpg रूस के पास नहीं होगा पश्चिम पर हमले के अलावा कोई विकल्प
पुतिन के साथ लंबे समय तक काम कर चुके और रूस के पूर्व प्रधान मंत्री दिमित्री मेदवेदेव , जो वर्तमान में रूस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के उपाध्यक्ष भी हैं, ने कहा कि "अगर, भगवान न करे, इन हथियारों का इस्तेमाल रूसी क्षेत्र के खिलाफ किया जाता है, तो हमारे सशस्त्र बलों के पास निर्णय लेने वाले केंद्रों पर हमला करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं होगा।"
रूस के खिलाफ नाटो चला रहा छद्म युद्ध

मेदवेदेव ने कहा कि - "बेशक, यह समझने की जरूरत है कि इस मामले में अंतिम निर्णय लेने वाले केंद्र, दुर्भाग्य से, कीव के क्षेत्र में स्थित नहीं हैं," उन्होंने अल जज़ीरा के साथ एक साक्षात्कार में यह बात कही है। मॉस्को में बैठे अधिकारियों ने नाटो पर यूक्रेन में युद्ध का इस्तेमाल रूस के खिलाफ छद्म युद्ध छेड़ने के लिए करने का आरोप लगाया है।
रूस के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री रह चुके हैं मेदवेदेव

मेदवेदेव, जिन्होंने 2008 से 2012 तक रूस के राष्ट्रपति के रूप में एक कार्यकाल पूरा किया और इसके बाद 2012 से 2020 तक रशिया के प्रधानमंत्री रहे, जिन्हें व्यापक रूप से पुतिन की कठपुतली के रूप में देखा जाता रहा है, को कभी रूस में एक उदारवादी शक्ति के रूप में देखा जाता था। लेकिन हाल के महीनों में मेदवेदेव को मास्को के सबसे आक्रामक चेहरों में से एक के रूप में बदलता देखा गया है।
यूक्रेन युद्ध बढ़ रहा परमाणु युद्ध की ओर

उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि यूक्रेन में लड़ाई दुनिया को खतरनाक रूप से अंतिम परमाणु युद्ध (nuclear war countdown) के करीब धकेल रही है। साफ देखा जा सकता है कि, ''प्रलय के घुड़सवार पहले से ही आगे बढ़ रहे हैं और अब तो अब बस सर्वशक्तिमान भगवान से ही कोई उम्मीद शेष है।"
बता दें , क्रेमलिन-नियंत्रित राज्य टेलीविजन ने कई मौकों पर कहा है कि अगर यूक्रेन में युद्ध रूस के खिलाफ हो जाता है, तो मास्को ब्रिटेन सहित पश्चिमी देशों के खिलाफ परमाणु मिसाइलों को लॉन्च कर सकता है।
व्हाइट हाउस ने कहा कि वह राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की से यह आश्वासन मिलने के बाद यूक्रेन को अधिक दूर तक मार करने वाली टारगेटिड मिसाइल प्रदान करने के लिए सहमत हुए थे कि उनका उपयोग रूस के अंदर लक्ष्यों को मारने के लिए नहीं किया जाएगा।
अमरीका जानबूझकर डाल रहा है आग में घी

पर क्रेमलिन ने कहा है कि उसे ज़ेलेंस्की पर विश्वास नहीं है। पुतिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा, "संयुक्त राज्य अमरीका सीधे और जानबूझकर आग में ईंधन डाल रहा है।
बता दें, फरवरी में युद्ध शुरू होने के बाद से रूस ने यूक्रेन पर सीमान्त गांवों और तेल डिपो पर कई बार सीमा पार आकर हमले करने के लिए लड़ाकू हेलीकॉप्टरों और ड्रोन का उपयोग करने का आरोप लगाया है। कीव ने आरोपों की न तो पुष्टि की है और न ही खंडन किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमारः हम सात पार्टियां साथ मिलकर बिहार की सेवा करेंगे, राज्यपाल को सरकार बनाने का दावा पेश किया हैBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चाBihar Politics: 2024 में नीतीश कुमार नहीं होंगे विपक्ष के पीएम उम्मीदवार, कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर खोला राज'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपJharkhand News: रांची के बुंडू में सड़क हादसा, ट्रक ने छात्राओं को रौंदा, 3 बच्चों की मौत, 1 घायलबिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल का आरोप, नीतीश कुमार ने NDA और BJP को धोखा दियाMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.