देवउठनी एकादशी पर विष्णु पूजा में जरुर करें इन चीज़ों का उपयोग, मनोकामनाएं होंगी पूरी

देवउठनी एकादशी पर विष्णु पूजा में जरुर करें इन चीज़ों का उपयोग, मनोकामनाएं होंगी पूरी

Tanvi Sharma | Publish: Nov, 16 2018 02:06:42 PM (IST) पूजा

देवउठनी एकादशी पर विष्णु पूजा में जरुर करें इन चीज़ों का उपयोग, मनोकामनाएं होंगी पूरी

19 नवंबर, सोमवार को देवोत्थान, देवउठनी एकादशी है। इस दिन भगवान विष्णु और देेवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार इस दिन तुलसा जी की शालिग्राम जी या विष्णु भगवान की तस्वीर से विवाह किया जाता है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन श्री विष्णु चार माह बाद निंद से जागते हैं। एकादशी का व्रत बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। पंडित रमाकांत मिश्रा जी बताते हैं की एकादशी के दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाती है। पंडित जी बताते हैं की देवोत्थान एकादशी के दिन विष्णु जी की पूजा में कुछ विशेष चीजों का इस्तेमाल करना बहुत आवश्यक होता है। इन चीज़ों का इस्तेमाल करने से व्यक्ति के धन में वृद्धि के साथ-साथ सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती है। आइए जानते हैं किन चीजों का इस्तेमाल करना बहुत शुभ होता है....

dev uthani ekadashi

1. पंडित जी बताते हैं की पुराणों और शास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु की पूजा में पंचामृत का होना आवश्यक होता है, बिना पंचामृत के विष्णु जी की पूजा नहीं मानी जाती है। इसलिए एकादशी के दिन भगवान विष्णु को दूध, दही, शहद, घी और शक्कर से बने पंचामृत का भोग जरुर लगाएं।

2. यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा की स्थिति खराब है और उसकी स्थिति सुधारना चाहते हैं तो एकादशी के दिन भगवान विष्णु को दूध का भोग लगाएं। क्योंकि दूध को धर्म के और मन पर प्रभाव के दृष्टिकोण से सात्विक माना जाता है।

3. एकदाशी के दिन तुलसी विवाह में गन्ने का मंडप बनाकर पूजा करें और भगवान विष्णु को भोग में गन्ना अर्पित करें। ऐसा करने से हमेशा ही घर में सुथ-शांति बनी रहती है।

4. माना जाता है की भगवान विष्णु को केला बहुत अच्छा लगता है, इसलिए जब भगवान चार महीने बाद जागते हैं तो केले को भोग के रूप में चढ़ाया जाता है। बताया जाता है ऐसा करने से घर में हमेशा धन वृद्धि होती है।

5. एकादशी के दिन जल सिंघारा बहुत शुभ माना जाता है, क्योंकि जल सिंघारा मां लक्ष्मी का बहुत प्रिय फल माना जाता है। एकादशी के दिन जल सिंघारा का भोग लगाने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती है और धन वर्षा करती है।

6. एकादशी के दिन तिल का भोग लगाने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है। इस दिन तिल के दान का भी विशेष महत्व है, बताया जाता है जो भी भक्त तिल दान करता है, वह कभी नरक के दर्शन नहीं करता।

Ad Block is Banned