आज इन कार्यों के लिए बन रहे हैं सर्वोत्तम मुहूर्त, बन सकते हैं करोड़पति

Sunil Sharma

Publish: Sep, 01 2017 09:13:00 AM (IST) | Updated: Sep, 01 2017 09:15:00 AM (IST)

Worship
आज इन कार्यों के लिए बन रहे हैं सर्वोत्तम मुहूर्त, बन सकते हैं करोड़पति

दशमी पूर्णा संज्ञक तिथि प्रात: मात्र ७.३७ तक, इसके बाद एकादशी नन्दा संज्ञक तिथि प्रारम्भ हो जाएगी

दशमी पूर्णा संज्ञक तिथि प्रात: मात्र ७.३७ तक, इसके बाद एकादशी नन्दा संज्ञक तिथि प्रारम्भ हो जाएगी। दशमी व एकादशी तिथियों में सभी धर्मिक व मांगलिक कार्य, विवाह, प्रतिष्ठा, गृहारम्भ, प्रवेश, यात्रा, सवारी, देवोत्सव, अलंकार और व्रतोपवास आदि कार्य करने योग्य हैं।

नक्षत्र: पूर्वाषाढ़ा ‘उग्र व अधोमुख’ संज्ञक नक्षत्र सम्पूर्ण दिवारात्रि है। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में यथाआवश्यक कुआ, बावड़ी, कृषि, जेल से छोडऩा, कठिन व साहसी कार्य, पेड़ काटना, जनेऊ और सगाई सम्बंधी कार्य करने चहिए।

योग: आयुष्मान नामक योग रात्रि ३.०३ तक, इसके बाद सौभाग्य नामक योग रहेगा। दोनों ही नैसर्गिक शुभ योग है। विशिष्ट योग: दोष समूह नाशक रवियोग नामक शक्तिशाली शुभ योग सम्पूर्ण दिवारात्रि है। रवियोग- तिथि, वार, नक्षत्रजन्य कुयोगों की अशुभताओं को नष्ट कर शुभकार्यारम्भ के लिए मार्गप्रशस्त करता है।

करण: गर नामकरण प्रात: ७.३७ तक, इसके बाद रात्रि ८.३८ तक वणिज नामकरण, तदुपरान्त भद्रा प्रारम्भ हो जाएगी।

शुभ विक्रम संवत् : 2074
संवत्सर का नाम : साधारण
शाके संवत् : 1939
हिजरी संवत् : 1437, मु.मास: जिलहिज-९
अयन : दक्षिणायन
ऋतु : शरद्
मास : भाद्रपद।
पक्ष : शुक्ल।

शुभ मुहूर्त: उपर्युक्त शुभाशुभ समय, तिथि, वार, नक्षत्र व योगानुसार आज पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में यथाआवश्यक सगाई, रोका, गोदभराई और कूपारम्भ आदि के शुभ मुहूर्त हैं।

श्रेष्ठ चौघडि़ए: आज सूर्योदय से पूर्वाह्न १०.५३ तक क्रमश: चर, लाभ व अमृत दोपहर १२.२७ से दोपहर बाद २.०१ तक शुभ तथा सायं ५.१० से सूर्यास्त तक चर के श्रेष्ठ चौघडि़ए हैं एवं दोपहर १२.०१ से दोपहर १२.५२ तक अभिजित नामक श्रेष्ठ मुहूर्त है, जो आवश्यक शुभकार्यारम्भ के लिए अत्युत्तम हैं।

व्रतोत्सव: आज दशमी तिथि की वृद्धि हुई है। गुरु ग्रंथ साहिब प्रकाश दिवस (न. मत से) तथा हज यात्रा (मु.) आदि व्रतोत्सव हैं। चन्द्रमा: चन्द्रमा सम्पूर्ण दिवारात्रि धनु राशि में रहेगा। दिशाशूल: शुक्रवार को पश्चिम दिशा की यात्रा में दिशाशूल रहता है। चन्द्र स्थिति के अनुसार आज पूर्व दिशा की यात्रा लाभदायक व शुभप्रद है। राहुकाल: प्रात: १०.३० से दोपहर १२.०० बजे तक राहुकाल वेला में शुभकार्यारम्भ यथासंभव वर्जित रखना हितकर है।

आज जन्म लेने वाले बच्चे
आज जन्म लेने वाले बच्चों के नाम (धा, फा, ढा, भे) आदि अक्षरों पर रखे जा सकते हैं। इनकी जन्म राशि धनु है तथा जन्म ताम्रपाद से है। सामान्यत: ये जातक धनवान, प्रतिभावान, माता-पिता- गुरु इत्यादि की सेवा करने वाले, ऐश्वर्य के भोक्ता, राजनीति में रुचि रखने वाले तथा विनयशील होते हैं। इनका भाग्योदय २८ वर्ष की आयु के लगभग होता है। धनु राशि वाले जातकों के मैत्री सम्बंधों में वृद्धि होगी। मान-सम्मान व प्रतिष्ठा में वृद्धि के योग हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned