12वीं के साथ शुरू होंगी माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड परीक्षाएं

12वीं के साथ शुरू होंगी माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड परीक्षाएं

Lalit Saxena | Publish: Feb, 26 2019 07:41:00 PM (IST) Agar Malwa, Agar Malwa, Madhya Pradesh, India

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली बोर्ड परीक्षाएं १ मार्च से शुरू होंगी। इसके लिए बकायदा शिक्षा विभाग द्वारा प्रारंभिक तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

आगर-मालवा. माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली बोर्ड परीक्षाएं १ मार्च से शुरू होंगी। इसके लिए बकायदा शिक्षा विभाग द्वारा प्रारंभिक तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। जिले में 32 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिसमें 27 सामान्य तथा 5 केंद्रों को संवेदनशील माना गया है। परीक्षा व्यवस्था पर निगरानी करने के लिए अलग-अलग दलों के साथ 10 उडऩदस्ते भी बनाए गए हैं जो निरंतर निगरानी करते रहेंगे। 1 मार्च से आरंभ होने वाली परीक्षा 2 अप्रैल तक चलेगी।

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार दसवीं में 3629 विद्यार्थी शासकीय स्कूलों के, 2899 विद्यार्थी अशासकीय स्कूलों एवं 1458 स्वाध्यायी विद्यार्थी परीक्षा में भाग लेंगे। 12वीं में शासकीय स्कूलों के 1757, अशासकीय स्कूलों के 1721 तथा 933 स्वाध्यायी विद्यार्थी परीक्षा में भाग लेंगे। परीक्षा का समय सुबह 9 से 12 बजे तक निर्धारित है। केंद्रों पर फर्नीचर आदि की व्यवस्थाएं जुटाई जा रही हैं। 8 संकलन केंद्र बनाए गए हैं, वहीं 5 संवेदनशील केंद्रों के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा प्रेक्षक नियुक्त किए गए हैं। विद्यार्थियों के लिए व्यापक व्यवस्थाएं परीक्षा केंद्रों पर की जा रही हैं और नकल की रोकथाम के लिए उडऩदस्ते के साथ निगरानी दल भी बनाए गए हैं। शिक्षा विभाग द्वारा बोर्ड परीक्षाओं को लेकर प्रारंभिक तैयारियां पूर्ण की जा चुकी हैं।

पुलिस की निगरानी में होगी सामग्री वितरित
बोर्ड परीक्षा की सामग्री का वितरण पुलिस की निगरानी में किया जाएगा। सामग्री वितरण से लेकर प्रश्न पत्र सेंटर तक पहुंचाने एवं वापस कॉपियों को थाने तक पहुंचाने का कार्य पुलिस की निगरानी में होगा। विभाग द्वारा परीक्षा को लेकर किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं बरती जाएगी।

अभिभावकों को चिंता
तेज डीजे व चिलम के शोर से बच्चों के परिजन भी काफी परेशान हैं। उनका मानना है कि शोर के चलते बच्चों की पढ़ाई प्रभावितहो रही है। शहरवासियों ने बताया डीजे के चलते बच्चे पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। शाम होते ही डीजे की आवाज आना शुरू हो जाती है।

होगी सघन जांच
परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पूर्व सघन जांच से गुजरना होगा। किसी भी तरह की पाठ्यसामग्री मिलने पर संबंधित विद्यार्थी परीक्षा से भी बेदखल हो सकता है। प्रवेश द्वार पर ही विद्यार्थियों की जांच की जाएगी।

कोलाहल बना परेशानी
एक विद्यार्थी द्वारा लिखी गई चि_ी पर भले ही मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्रों के संबंध में सख्त निर्देश जारी किए गए हों लेकिन इसका पालन जिला मुख्यालय पर होता दिखाई नहीं दे रहा है। नौवीं से ११वीं की परीक्षाएं चल रही हैं और बोर्ड परीक्षाएं आरंभ होने वाली हैं, लेकिन वैवाहिक आयोजनों के शोरगुल के बीच विद्यार्थियों की पढ़ाई खासी प्रभावित हो रही है। शहर में अधिकांश मांगलिक भवन एवं धर्मशालाएं रहवासी क्षेत्र के आसपास होने से यहां देर रात तक डीजे बज रहे हैं जिसके कारण बच्चों का पढऩा मुश्किल हो चुका है। इन आयोजनों में डीजे व चिलम की आवाज इतनी अधिक होती है कि शहर का हर तबका इससे परेशान हो रहा है। परिजनों को चिंता सता रही है कि कहीं इस शोरशराबे से बच्चों का भविष्य चौपट न हो जाए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned