अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आखिर क्यों जनप्रतिनिधयों ने बनाई दूरी

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शुक्रवार को शासकीय उत्कृष्ट उमावि दरबार कोठी में जिला स्तरीय योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

By: Ashish Sikarwar

Published: 22 Jun 2019, 10:00 AM IST

आगर-मालवा. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शुक्रवार को शासकीय उत्कृष्ट उमावि दरबार कोठी में जिला स्तरीय योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों की संख्या कम ही रही। कई अधिकारियों ने तो योग दिवस के इस आयोजन में उपस्थिति दर्शाना भी मुनासिब नहीं समझा। करीब २५ विभागों से न तो कोई अधिकारी कार्यक्रम में पहुंचे और न ही अपने प्रतिनिधि के रूप में किसी अधिनस्थ को कार्यक्रम में पहुंचाना मुनासिब समझा।
पांचवे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर शासकीय उत्कृष्ट उमावि दरबार कोठी में जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें जनप्रतिनिधियों के रूप में सिर्फ आगर विधायक मनोहर ऊंटवाल ही उपस्थित हुए। इनके अलावा न तो कोई पार्टी पदाधिकारी ने इस कार्यक्रम में आना मुनासिब समझा और न ही अन्य किसी जनप्रतिनिधि ने यहां अपनी उपस्थित दिखाई। ठीक इसी प्रकार की स्थिति जिला अधिकारियों की रही। कलेक्टर अभय वर्मा, एसपी सविता सोहाने निर्धारित समय पर उपस्थित हो गए। दोनो अधिकारियों के साथ संयुक्त कलेक्टर एके शर्मा, एसडीएम सुसनेर, जिपं सीईओ, जनपद सीईओ बड़ोद, ईई पीएचई, डीपीओ, संयोजक, डीईओ, आदिम जाति, कॉलेज के प्रोफेसरगण, पुलिसकर्मी, कुछ शिक्षक व खिलाड़ी इस कार्यक्रम में दिखाई दिए।
कहने को तो जिले में लगभग ५३ विभागों के जिला अधिकारी कार्यरत हंै लेकिन इस कार्यक्रम में अधिकांश विभागों के अधिकारी नहीं पहुंच पाए। कार्यक्रम के दौरान अधिकारियों की अनुपस्थिति को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चलती रहीं।
अधिकतर अधिकारी करते हैं अप-डाउन : जिले में विभिन्न विभागों में पदस्थ अधिकतर अधिकारी उज्जैन इंदौर से प्रतिनिधि अप-डाउन करते हैं। अधिकारियों को देखकर कर्मचारी भी अप-डाउन कर रहे हैं। बताया जाता है कि अप-डाउन के कारण ही अधिकारी सुबह ६ बजे कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए। कई बार कलेक्टर द्वारा मुख्यालय पर रहने के निर्देश अधिकारियों को दिए जा चुके हैं लेकिन अप-डाउन करने की प्रणाली में सुधार नहीं हो रहा है।
इन विभागों की रही अनुपस्थिति
लोक निर्माण विभाग से न तो कार्यपालन यंत्री आए और न ही उनके कोई अधिनस्थ कर्मचारी पहुंचे। इसी तरह पीआईयू से भी कोई नहीं आया। महिला बाल विकास विभाग से जिला कार्यक्रम अधिकारी तो नदारद रहे ही विभाग से भी किसी ने उपस्थिति दर्ज नहीं कराई। अपर कलेक्टर, आगर एसडीएम, आगर तहसीलदार, कृषि विभाग, उद्यानिकी, सिंचाई विभाग, पंजीयक कार्यालय, जेल, खनिज, खाद्य, स्वास्थ्य, विविकं, मत्स्य, परिवहन, मंडी, लोकसेवा, सहकारिता, आबकारी सहित अनेक विभागो के अधिकारी तो दूर उनके कर्मचारी भी योग दिवस के इस कार्यक्रम में नही पहुंचे।
कलेक्टोरेट के कर्मचारी भी रहे नदारद
कार्यक्रम में भले ही कलेक्टर अभय वर्मा, संयुक्त कलेक्टर एके शर्मा, डीपीओ डॉ सुनिल चौहान कार्यक्रम में निर्धारित समय पर पहुंच गए, लेकिन कलेक्टोरेट में कार्यरत कर्मचारियों ने इसमें उपस्थित रहना मुनासिब नहीं समझा।
प्रधानमंत्री के संदेश का सीधा प्रसारण
इस कार्यक्रम में मप्र गान और प्रधानमंत्री के संदेश का सीधा प्रसारण किया गया जिसके बाद योग कार्यक्रम आरंभ हुआ। योग के लिए एलईडी स्क्रीन लगाई गई थी। स्क्रीन पर योग का प्रदर्शन किया। उपस्थित सभी लोगो से अष्ठांग योग के आसन ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्धचक्रासन त्रिकोणासन, भद्रासन सहित अन्य आसनों का अभ्यास कराया गया। सामूहिक योग के बाद प्राणायाम की विभिन्न विधाएं हुई जिनमें कपालभाति, अनुलोम विलोम, भ्रामरी प्राणायाम शामिल है।

Ashish Sikarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned