scripta young man kidnapped 14 month old girl after refusing friendship in agra | दोस्ती से मना करने पर अगवा कर ली 14 माह की बच्ची, फिल्मी स्टाइल में विलेन बना सिरफिरा पड़ोसी | Patrika News

दोस्ती से मना करने पर अगवा कर ली 14 माह की बच्ची, फिल्मी स्टाइल में विलेन बना सिरफिरा पड़ोसी

locationआगराPublished: Jan 15, 2024 05:56:15 pm

Submitted by:

Anand Shukla

आगरा में मां ने दोस्ती करने से इनकार किया तो सिरफिरा युवक उसकी 14 माह की बेटी का ही किडनैप कर लिया। युवक आए दिन रास्ता रोककर महिला को परेशान करता है।

agra_news.jpg
सिरफिरा पड़ोसी युवक 14 माह की बच्ची को अगवा करके बदायूं ले गया। पुलिस ने बच्ची को 24 घंटे के अंदर ढूंढ निकाला। आरोपी को भी पकड़ लिया गया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह बच्ची की मां से दोस्ती करना चाहता था, इन्कार करने पर उसने महिला को सबक सिखाने के लिए बच्ची को उठाया था।
पुलिस की तत्परता से 14 माह की बच्ची को अपहरण के बाद 24 घंटे के अंदर सकुशल बरामद कर लिया गया। बच्ची की मां पर एक सिरफिरे की नजर थी। महिला ने दोस्ती नहीं की तो सबक सिखाने के लिए उसने बच्ची का अपहरण कर लिया। मुकदमे के बाद पुलिस ने बदायूं में दबिश दी थी। आरोपित मूलतः वहां का निवासी है। कई बार रोका था रास्ता आरोपित नीरज लंबे समय से महिला के पीछे पड़ा था। फोन करके उससे दोस्ती करने की कहता था। महिला ने यह बात घरवालों को इसलिए नहीं बताई कहीं झगड़ा नहीं हो जाए। उसे इस बात का अंदाजा नहीं था कि सिरफिरा बच्ची को ही उठाकर ले जाएगा।
यह भी पढ़ें

रामभक्तों के लिए सीएम योगी ने 100 इलेक्ट्रिक बसों को दिखाई हरी झंडी, लॉन्च किया दिव्य अयोध्या मोबाइल ऐप


बदनामी के कारण महिला ने घरवालों को नहीं बताया

डीसीपी सिटी सूरज कुमार राय ने बताया कि आरोपी नीरज लंबे समय से महिला पर दोस्ती करने का दबाव डाल रहा था। कई बार उसने रास्ते में रोककर बात करने की कोशिश की थी। फोन करके परेशान कर रहा था, लेकिन बदनामी के कारण महिला ने घरवालों को नहीं बताया। इसे ही आरोपी ने उसकी कमजोरी समझ लिया। सुशील नगर (एत्मादद्दौला) निवासी गजेंद्र की 14 माह की बालिका नेहा का अपहरण हुआ था। गजेंद्र की पत्नी ने पुलिस को बताया कि मोहल्ले में रहने वाले नीरज उर्फ नीलेश ने फोन करके उसे बुलाया। उसके साथ मारपीट करके बच्ची को उठा ले गया। आरोपित महिला पर बुरी नजर रखता था। उससे दोस्ती करना चाहता था। महिला ने उसकी बात नहीं मानी थी, वह इससे खफा था। मां को खून के आंसू रुलाने के लिए सिरफिरे ने बालिका का अपहरण किया था।

आपको बता दें सर्विलांस की ली गई मदद बदायूं की बिल्सी तहसील पहुंचकर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी। सर्विलांस की मदद ली गई। आरोपी को खोज निकाला। बच्ची उसके पास से सकुशल मिल गई। जैसे ही यह खबर बच्ची के माता-पिता को मिली, उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। पुलिस टीम देर रात बच्ची को आगरा लेकर आई। उचित कार्यवाही करके आरोपित नीरज को अपहरण और मारपीट के आरोप में जेल भेजा जाएगा।
आगरा से प्रमोद कुशवाहा की रिपोर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो