जयपुर के बाद तीन और शहरों के लिए फ्लाइट शुरू करने की कवायद

आठ नवम्बर से आगरा-जयपुर के बीच हवाई सेवा शुरू हुई है। इससे आगरा और जयपुर के पर्यटन उद्योग को खासा लाभ होगा।

By: धीरेंद्र यादव

Published: 09 Dec 2017, 09:32 AM IST

आगरा। आगरा-जयपुर के बीच आठ नवम्बर को हवाई सेवा शुरू हो गई है। इस हवाई सेवा का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंदगोपाल नंदी ने किया था। इस मौके पर अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष और आगरा के सांसद डॉ. रामशंकर कठेरिया ने बताया कि मुंबई, बेंगलुरू और हैदराबाद के लिए भी हवाई सेवा शुरू कराने का प्रयास है।

पर्यटन उद्यमियों के खासा लाभ
डॉ. कठेरिया ने बताया कि आगरा-जयपुर के बीच हवाई सेवा की लम्बे समय से मांग की जा रही थी। केन्द्र सरकार ने रीजनल कनेक्टिविटी योजना के अंतर्गत आगरा-जयपुर के बीच हवाई सेवा शुरू कराई है। इसके दूरगामी परिणाम होंगे। आगरा-जयपुर के बीच हवाई सेवा शुरू होने से न केवल पर्यटन बल्कि व्यापारियों को भी लाभ होगा। आगरा औ जयपुर ?र के बीच पर्यटन के साथ-साथ अन्य व्यापार भी है। यात्रा का समय साढ़े चार-पांच घंटे से घटकर सिर्फ 50 मिनट रह गया है। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि समय की कितनी बचत होगी। उन्होंने कहा कि फ्लाइट में पर्याप्त यात्री होंगे, तो यह नियमित रूप से चलेगी। इसकी चिन्ता पर्यटन उद्यमियों को करनी चाहिए।

मुंबई, बेंगलुरू, हैदराबाद को भी जोड़ने का प्रयास
उन्होंने बताया कि पहले आगरा से मुंबई के बीच हवाई सेवा थी। इसे फिर से शुरू कराने की कवायद की जा रही है। आगरा और मुंबई के बीच गहरे व्यापारिक संबंध हैं। आगरा के सैकड़ों लोगों को मुंबई में कारोबार है। इसी तरह से बेंगलुरू और हैदराबाद के लिए भी हवाई सेवा शुरू कराने का प्रयास किया जा रहा है। धीरे-धीरे देश के सभी प्रमुख नगरों से आगरा जुड़ जाएगा। उन्होंने बताया कि केन्द्र औऱ उत्तर प्रदेश दोनों जगह भारतीय जनता पार्टी की सरकार होने के कारण अब अनापत्ति प्रमाणपत्र मिलने में कोई समस्या नहीं है। इसी कारण कार्य तेज गति के साथ हो रहे हैं।

इसी माह शुरू होगा निर्माण
डॉ. कठेरिया ने बताया कि नए सिविल टर्मिनल बनाने की सभी औपचारिकताएं पूरी की ज रही हैं। सिर्फ 10 एकड़ जमीन और खरीदनी है। दिसम्बर में ही सिविल टर्मिनल की चारदीवार का निर्माण शुरू हो जाएगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा में सिविल टर्मिनल के बारे में जो कहा था, वह पूरा होने जा रहा है। इस बीच उत्तर प्रदेश के नागिरक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल नंदी ने धनौली, बल्हेरा और अभयपुरा में प्रस्तावित सिविल टर्मिनल के निर्माण की जगह देखी। यहां 23 हेक्टेअर भूमि पर सिविल टर्मिनल का निर्माण किया जाना है।

 

Show More
धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned