CVO पर सनसनीखेज आरोप, 2000 रुपये हर माह दो नहीं तो नौकरी नहीं करने देने की धमकी, देखें वीडियो

पशुधन प्रसार अधिकारी संघ और पशु चिकित्सा फार्मेसिस्ट संघ ने गंभीर आरोप लगाए हैं।

आगरा। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी (CVO) डॉ. एके दौनेरिया पर पशुधन प्रसार अधिकारी संघ और पशु चिकित्सा फार्मेसिस्ट संघ ने गंभीर आरोप लगाए हैं। पदाधिकारियों का कहना है कि मुख्य पशु चिकित्साधिकारी खुलेआम दो हजार रुपये प्रति चिकित्सक मांग रहे हैं। ऐसा न करने पर नौकरी नहीं करने देने की धमकी दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें - तबरेज अंसारी हत्याकांड के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुआ बवाल, पथराव से फैली दहशत, देखें LIVE वीडियो

पशु चिकित्सा अधिकारी ने वॉट्सऐप पर वायरल की पोस्ट
पशु चिकित्सा केन्द्र बरौली अहीर पर तैनात पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. रघुवीर यादव ने वॉट्सऐप पर एक पोस्ट वायरल किया था। इसमें बताया गया है कि ‘सीवीओ को 2 हजार रुपये महीने न देने, पशु आरोग्य मेला में 35 फीसद कमीशन न देने व बैकयार्ड पॉल्ट्री में गाइडलाइन के अनुसार फीड पूरा न देने की सूचना पर सीवीओ ने पशु चिकित्सालय बरौली अहीर का निरीक्षण किया। मेरी उनकी अनुपस्थित में स्टाफ को धमकाया और कहा कि दो हजार रुपये प्रतिमाह लेने की प्रक्रिया जो पूर्व से चल रही है, उसे जारी रखा जाए। जो चिकित्सक ये नकदी हर माह नहीं देगा, वह नौकरी नहीं कर पाएगा, ये भी धमकी दी। ‘ इस पोस्ट को वायरल करने के बाद सभी की प्रतिक्रिया मांगी गई। पशुधन प्रसार अधिकारी संघ ने इस पोस्ट को शासन और प्रशासन के उच्चाधिकारियों को ईमेल पर भेजा गया।

ये भी पढ़ें - हरि बोल के कीर्तन संग श्री जगन्नाथ रथयात्रा का दिया गया निमंत्रण, तस्वीरें देख झूम उठेंगे आप

CVO demanding

बैठक बुलाई लेकिन आए नहीं
इस बीच मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके दौनेरिया ने 21 जून, 2019 को अतिथिवन में पशु चिकित्सा अधिकारियों की समीक्षा बैठक बुलाई। पशुधन प्रसार अधिकारी संघ के अध्यक्ष डॉ. सतीश शर्मा ने बताया कि इस बैठक में सीवीओ स्वयं नहीं पहुंचे। सीवीओ कार्यालय से भी कोई नहीं आया। जनपद स्तरीय समस्याओं का निस्तारण संभव नहीं हो सका। सरकारी योजनओं का क्रियान्वयन कैसे होगा। बैठक में अपर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी आगरा मंडल पहुंचे। उन्हें समस्याओं के निराकरण के लिए सुझाव दिए। उन्होंने इस संबंध में आश्वासन भी दिया।

ये भी पढ़ें - शिवपाल यादव ने किया एक और बड़ा धमाका, पार्टी में इन नेताओं को दी बड़ी जिम्मेदारी, शुरू होने जा रहा अब ये अभियान

CVO demanding

ये हैं प्रमुख आरोप
डॉ. सतीश शर्मा ने बताया कि इसके बाद पशु चिकित्सा अधिकारी संघ और पशु चिकित्सा फार्मेसिस्ट संघ की बैठक हुई। दोनों संघों ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी की निंदा की। आरोप लगाया कि डॉ. दौनेरिया सरकार की भ्रष्टाचार निवारण मुहिम को पलीता लगा रहे हैं। सभी सदस्यों की समस्या का निस्तारण न होने, बहुउद्देशीय चिकित्सा सचल वाहनों का दुरुपयोग, एमएमडी सीपी (खुरपुका मुंहपका रोग नियंत्रण कार्यक्रम) में किए गए भ्रष्टाचार की जांच कराकर समय से यात्रा बिलों का भुगतान न करने, चिकित्सा प्रतिपूर्ति के भुगतान एवं यात्रा बिलों के भुगतान पर 10 फीसद कमीशन प्राप्त करने, सदस्यों के बिल का भुगतान न करने आदि अनियमितताओं की भर्त्सना की।

ये भी पढ़ें - मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनाः 301 जोड़ों की शादी, खर्च हुए 1.53 करोड़ रुपये, देखें वीडियो

जांच की मांग
डॉ. सतीश शर्मा ने बताया कि संघ ने मांग की है कि मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी पर लगाए गए इन आरोपों की जांच कराई जाए। जांच के लिए सक्षम अधिकारी का चयन किया जाए। इस बारे में मंडलायुक्त अनिल कुमार और जिलाधिकारी एनजी रविकुमार को लिखित में अवगत कराया गया है।

ये भी पढ़ें - डीएम ने जारी किया 1100 तालाबों की खुदाई का फरमान, ग्राम प्रधान हुए परेशान

CVO demanding

CVO CVO से नहीं हुआ संपर्क
इस मामले को लेकर पत्रिका टीम ने सीवीओ डॉ. एके दौनेरिया से बात करने का प्रयास किया, तो उनसे बात नहीं हो सकी। पत्रिका टीम द्वारा कई बार फोन किये गए। उनको मैसेज भी किया गया, लेकिन उसका कोई उत्तर नहीं मिला सका।

धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned