scriptInspector suspended made reel notes placing bundles dashboard high speed car Yamuna Expressway | यमुना एक्सप्रेसवे पर तेज रफ्तार कार और डैश बोर्ड पर बिखरीं नोटों की गड्डियां, दरोगा निलंबित | Patrika News

यमुना एक्सप्रेसवे पर तेज रफ्तार कार और डैश बोर्ड पर बिखरीं नोटों की गड्डियां, दरोगा निलंबित

locationआगराPublished: Nov 24, 2023 04:20:36 pm

Submitted by:

Vishnu Bajpai

Agra Reels: उत्तर प्रदेश के एक दरोगा को तेज स्पीड कार के डैशबोर्ड पर नोटों की गड्डियां रखकर रील बनवाना महंगा पड़ गया। आगरा कमिश्नर ने उसे निलंबित कर दिया है। आइए जानते हैं पूरा मामला

agra_reels.jpg
Yamuna Expressway Reels: यूपी में पुलिसकर्मियों में रील बनाने की खुमारी उतर नहीं रही है। पिछले कुछ दिनों के भीतर प्रदेश भर में करीब एक दर्जन से ज्यादा ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें वर्दी पहनकर सिपाही और दरोगा ने रील बनाई है। ताजा मामला आगरा का है। यहां यमुना एक्सप्रेसवे पर दौड़ रही दरोगा की तेज रफ्तार कार के डैशबोर्ड पर नोटों की गड्डियां सजाकर दो लोगों ने रील बनाई। आगरा कमिश्नर प्रीतिंदर सिंह ने इस मामले का संज्ञान लिया। इसके बाद कार के मालिक दरोगा को सस्पेंड कर दिया गया है।
दरअसल, मोटी चेन, मोटा पैसा, कोई दिखा दो हमारे जैसा... गाने पर बनी रील सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें दिख रहा है कि कार के डैश बोर्ड पर 500-500 के नोटों की गड्डियां पड़ी हैं। कार में ही बैठे एक वर्दीधारी ने पीछे से इसका वीडियो बनाया है। वीडियो बनाते समय कार के साइड मिरर में दिख रहा है कि कोई पुलिसकर्मी वीडियो बना रहा है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद जिस दरोगा की कार थी, उसे निलंबित कर दिया गया है। वहीं इस मामले की जांच एसीपी फतेहाबाद को सौंपी गई है।
एसीपी फतेहाबाद आनंद कुमार पांडेय ने बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल रील में कार में 500-500 की नौ गड्डियां दिख रही हैं। रील वायरल होने के बाद पूर्व में शमसाबाद थाने में तैनात रहे दरोगा नितिन बढ़ाना को निलंबित किया गया है। नितिन बढ़ाना इस समय बासौनी थाने में तैनात थे। अक्तूबर में ही उनको थाना डौकी के बाद बासौनी थाने भेजा गया था। हालांकि पूछताछ में दरोगा नितिन बढ़ाना ने बताया है कि रील बनाने में प्रयुक्त हुई उनकी कार पूर्वी सर्किल के थाने का कारखास कार चला रहा था। उसे थानेदार ने नोटों से भरा बैग दिया था।
वो बैग रखने जा रहा था। दरोगा ने अपने मौखिक बयान में कहा है कि कार अक्तूबर में शमसाबाद थाने में तैनात दो सिपाही ले गए थे। दोनों कारखास हैं। सिपाहियों ने उनसे कहा था कि थाना प्रभारी के घर एक बैग देने जाना है। इस पर उन्हें अपनी कार दे दी थी। बृहस्पतिवार को अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लिया। पुलिस आयुक्त ने पूरे प्रकरण की जांच एसीपी फतेहाबाद आनंद कुमार पांडेय को दी है। डीसीपी पूर्वी सोमेंद्र मीणा के कार्यालय पर दरोगा की कार को लाया गया। अंदर से वीडियो बनाया गया। वीडियो को रील से मैच किया गया। कार दरोगा नितिन बढ़ाना की थी। उनके बयान भी लिए गए।
आगरा से प्रमोद कुशवाह की रिपोर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो