मोबाइल पर कर रही थी बात, चाचा ने डांटा तो खौफनाक कदम उठाया

स्कूल की छुट्टी होने के बाद छात्रा अपने घर पहुँची और फोन पर किसी से बात करने लगी। छात्रा के चाचा ने उसे फोन पर बात करते हुए देख लिया।

By: मुकेश कुमार

Published: 18 Aug 2017, 09:10 PM IST

आगरा। पिनाहट में फोन पर बात कर रही छात्रा को चाचा ने डांट दिया। चाचा की डांट से क्षुब्ध छात्रा फांसी के फंदे पर झूल गई और उसकी मौत हो गई। परिवारीजनों ने पुलिस को सूचना दिये बिना शव किया जल प्रवाहित कर दिया।

11वीं की छात्रा थी
थाना पिनाहट के गांव भदरौली निवासी 17 वर्षीय किशोरी 11 वीं की छात्रा थी। गुरुवार दोपहर स्कूल की छुट्टी होने के बाद छात्रा अपने घर पहुंची और फोन पर किसी से बात करने लगी। छात्रा के चाचा ने उसे फोन पर बात करते हुए देख लिया। चाचा को देख उसने फोन काट दिया। पूछताछ के बाद चाचा ने उसे डांट दिया। चाचा की डांट से क्षुब्ध छात्रा कमरे में चली गई और अंदर से कुंडी बंद कर फांसी के फंदे पर झूल गई।

कई घंटे बाद हुई जानकारी
परिवारीजन को घटना की जानकारी तब हुई, जब उसकी मां खेत से शाम को वापस घर लौटकर आई। मां ने किशोरी को आवाज दी लेकिन उसने दरवाजा नहीं खोला। जब मां ने जंगले से झांकर देखा तो छात्रा फांसी के फंदे पर लटकी हुई थी। छात्रा को फंदे पर लटका देख मां बेहोश हो गई। पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़कर छात्रा को फंदे ने नीचे उतारा, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। परिवारीजनों ने पुलिस को सूचना दिये बिना ही छात्रा के शव को देर शाम यमुना में प्रवाहित कर दिया।

यह भी पढ़ें-
अर्जुनपुरा में चोरी
पिनाहट थाना क्षेत्र के गांव अर्जुनपुरा निवासी महेंद्र सिंह अपने परिवार के साथ घर के एक कमरे मे सो रहे थे। रात करीब दो बजे अज्ञात चोर छत से कूदकर घर में घुस आए। जिस कमरे मे सभी सो रहे थे, उस कमरे की बाहर से कुंडी लगा दी। घर के दूसरे कमरे मे रखी अलमारी का लॉक तोड़ कर सोने-चांदी के आभूषण चुरा ले गए। सुबह ब जब महेन्द्र की आंख खुली और दरवाजे को बन्द देखा तो शक हुआ। दरवाजे के पास जाकर देखा तो वह बाहर से बन्द था। काफी चीख-पुकार के बाद पड़ोसियो द्वारा खुलवाया जा सका। वहीं पीड़ित ने अज्ञात चोरो के खिलाफ थाने मे तहरीर दी है।

मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned