इजराइल का केला और ताइवान के पपीता की खेती सुन बोलीं राज्यपाल, किसान की आय होगी दोगुनी

- उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में राज्यपाल ने प्रगतिशील किसानों और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से किया संवाद।

By: arun rawat

Published: 14 Jan 2021, 02:10 PM IST

फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल से मिलकर फिरोजाबाद के किसान असैर स्वयं सहायता समूह की महिलाएं गदगद हो गईं। उन्होंने आय बढ़ाने के बारे में सुझाव दिए। किसी ने उन्नतिशील खेती तो किसी ने लघु उद्योग के जरिए आय बढ़ाने की जानकारी दी। राज्यपाल ने कहा कि वर्ष 2022 तक हर किसान की आय दोगुनी होगी।

कारखाने का किया भ्रमण

शहर के नगला भाऊ स्थित प्रगति इंडस्ट्री पहुंची राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोजेक्ट के माध्यम से कांच उत्पादों को पूरे देश में पहुंचाने का आश्वासन दिया। इसके बाद राज्यपाल सिविल लाइन स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाएस पहुंची। जहां प्रगतिशील किसान और स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से रूबरू हुईं। राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद बाहर निकले किसान प्रवेश गौतम और श्याम मोहन गौतम ने बताया कि उन्होंने 12 एकड़ में ऑर्गेनिक तरीके से खेती की है जिसमें इजराइल का केला और ताइवान का पपीता समेत करीब 100 प्रकार के फल लगाए गए हैं, उन्होंने महामहिम को तैयार की गई ऑर्गेनिक फार्मिंग के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही ड्रिप तरीके से की जा रही खेती के लिए महामहिम ने किसान का उत्साहवर्धन किया।

मशरूम की खेती के बारे में बताया

किसानों ने मशरूम की खेती के बारे में महामहिम को अवगत कराया एक किसान ने महामहिम को बताया कि फिरोजाबाद जिला आरकेवाई के अंतर्गत आता है और यहां पर मशरूम की खेती करने वालों को सब्सिडी नहीं दी जाती। इस पर राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से इस पर विचार विमर्श कर फिरोजाबाद मशरूम की खेती का कलस्टर हाउस बनाए जाने का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही उन्होंने गाय गोबर और गौ मूत्र से खेती करने वाले किसानों से भी सुझाव लिए। राज्यपाल ने बताया कि पहले आढ़तिया किसानों की फसल का दाम लगाते थे लेकिन अब बिचैलियों का काम समाप्त करने जा रही है। किसान स्वयं अपनी फसल का मालिक होगा।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned