Ahmedabad News : आणंद : पानी की जर्जरित टंकी से दुर्घटना की आशंका

पिछले 35 वर्ष से इकलौती टंकी से पूरे गांव को जलापूर्ति की जाती है। टंकी में वॉल्व की समस्या है इसमें करीब 60 हजार रुपए का खर्च होगा। टंकी के ऊपर से नीचे तक जगह-जगह दरारें पड़ गई हैं और प्लास्टर उखड़ चुका है। टंकी में जगह-जगह रिसाव के कारण टंकी के चारों ओर वनस्पितयां जम चुकी हैं।

By: Binod Pandey

Published: 07 Sep 2020, 12:28 PM IST

पानी की जर्जरित टंकी से दुर्घटना की आशंका
आणंद. जिले की बोरसद तहसील के नापा तलपद गांव में वर्षों से जलापूर्ति के लिए इस्तेमाल की जा रही 50 हजार लीटर क्षमता की पानी की टंकी जर्जरित होने के कारण दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।
नापा तलपद के ग्रामीणों के अनुसार पिछले 35 वर्ष से इकलौती टंकी से पूरे गांव को जलापूर्ति की जाती है। टंकी में वॉल्व की समस्या है इसमें करीब 60 हजार रुपए का खर्च होगा। टंकी के ऊपर से नीचे तक जगह-जगह दरारें पड़ गई हैं और प्लास्टर उखड़ चुका है। टंकी में जगह-जगह रिसाव के कारण टंकी के चारों ओर वनस्पितयां जम चुकी हैं। लोगों को आशंका है कि टंकी कभी धराशायी होकर बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकती है।


जानकारी के अनुसार नापा तलपद ग्राम पंचायत की ओर से नई टंकी बनाने का प्रस्ताव मंजूर कर तहसील पंचायत, बोरसद भेजा जा चुका है लेकिन, मामले में तहसील स्तर से कोई पत्र व्यवहार या जानकारी नहीं दी गई है। बोरसद तहसील के विकास अधिकारी मेघा भगत ने बताया कि डेढ महीने पहले ही बोरसद टीडीओ के पद पर नियुक्ति हुई है। गांव की टंकी सिंचाई विभाग या वास्मो की ओर से बनाई गई होगी, तो उनके इंजीनियर की ओर से टंकी जर्जरित होने संबंधी प्रमाण-पत्र तहसील पंचायत को भेजना जरूरी है। इसके बाद ही पुरानी टंकी को ढहाकर नई टंकी बनाने की योजना पर काम हो सकता है।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned