भारत बंद के चलते कई स्कूल-कॉलेजों रहे बंद

भारत बंद के चलते कई स्कूल-कॉलेजों रहे बंद

nagendra singh rathore | Publish: Sep, 10 2018 11:45:32 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

कई स्कूल-कॉलेजों को बंद करवाया, एनएसयूआई छात्रनेता व कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

अहमदाबाद. पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों के विरोध में कांग्रेस की ओर से घोषित भारत बंद के चलते सोमवार को शहर के कई स्कूल-कॉलेज बंद रहे। इसमें कुछ स्कूल-कॉलेजों ने पहले ही छुट्टी घोषित कर दी थी, जबकि ज्यादातर को एनएसयूआई, युवक कांग्रेस व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बंद करवाया। शाहपुर, मिर्जापुर और दाणीलीमड़ा इलाके में एएमटीएस और बीआरटीएस बसों पर पथराव और चक्काजाम करने की घटनाएं सामने आईं। पूर्वी अहमदाबाद में प्रदर्शन कर रहे और स्कूल-कॉलेज-दुकानें बंद कर रहे दो सौ से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया।
चांदखेड़ा की ज्यादातर स्कूलों में बंद के चलते सोमवार सुबह छुट्टी घोषित कर दी गई। सीटीएम में एनसयूआई छात्रनेताओं ने ओम शांति स्कूल को बंद करवाया। जीएलएस यूनिवर्सिटी व परिसर में स्थित कॉलेज में भी एनएसयूआई ने शैक्षणिक कार्य बंद कराने का दावा किया। इसके अलावा समर्थ शिक्षा संकुल स्कूल, रायपुर की विवेकानंद कॉलेज, सिटी सी.यू.शाह कॉलेज, एस.वी.कॉलेज, आर.सी.कॉलेज भी बंद रही। एच.के.कॉलेज, भवन्स कॉलेज, सोमललित, सेंट जेवियर्स कॉलेज, एनसी बॉडीवाला, एल.जे.कॉलेज वस्त्रापुर, प्रेसिडेंट कॉलेज, न्यू एल.जे.कॉलेज, के.का.शास्त्री कॉलेज बंद कराई गई। जीटीयू और एल.डी.आट्र्स कॉलेज पर भी एनएसयूआई ने भी प्रदर्शन किया।
कई स्कूलों में प्रथम परीक्षा चल रही थी। बंद के चलते छुट्टी करनी पड़ी। चांदखेड़ा में साकार स्कूल को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बंद कराया। इस दौरान प्राचार्य से कहासुनी हुई।
भारत बंद के ऐलान के चलते शहर और राज्य में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे।

अमरीका का ग्रीनकार्ड दिलाने के नाम पर २० लाख ठगे

अहमदाबाद. शहर के चांदखेड़ा-मोटेरा इलाके में रहने वाले युवक व अन्य लोगों को अमरीका जाना और वहां के ग्रीनकार्ड पाने का सपना काफी महंगा साबित हुआ। मोटेरा निवासी युवक इन युवकों के पास से २० लाख रुपए से अधिक लेकर अमरीका का ग्रीनकार्ड तो दूर, वीजा दिलाए बिना ही अपने परिवार के साथ न्यूजर्सी फरार हो गया। उत्तमभाई पारेख ने इस मामले में मोटेरा निवासी जयेन्द्रभाई उर्फ सुखाभाई पारेख के विरुद्ध विश्वासघात व ठगी का मामला दर्ज कराया है।
आरोप है कि जनवरी २०१७ से अब तक जयेन्द्र ने उत्तम को अमरीका का वीजा दिलवाने और फिर ग्रीनकार्ड दिलवाने के नाम पर विश्वास में लिया। उनके व अन्य लोगों के पास से आरोपी ने २० लाख २५ हजार रुपए ले लिए और ग्रीनकार्ड तो दूर वीजा दिलाए बिना ही आरोपी अपने परिवार के साथ अमरीका न्यूजर्सी फरार हो गया।

Ad Block is Banned