scriptAmbaji: Shri 51 Shaktipeeth Parikrama Mahotsav begins | अंबाजी : श्री 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव आरंभ | Patrika News

अंबाजी : श्री 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव आरंभ

locationअहमदाबादPublished: Feb 12, 2024 10:34:10 pm

Submitted by:

Rajesh Bhatnagar

गब्बर पर्वत पर दर्शन करने उमड़े भक्त

अंबाजी : श्री 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव आरंभ
अंबाजी : श्री 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव आरंभ
पालनपुर. बनासकांठा के सांसद परबत पटेल ने शक्तिपीठ अंबाजी में गब्बर पर्वत पर सोमवार को श्री 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव का उद्घाटन किया।

गुजरात पवित्र यात्राधाम विकास बोर्ड, श्री आरासुरी अंबाजी माता देवस्थान ट्रस्ट और बनासकांठा जिला प्रशासन के संयुक्त तत्तवावधान में 16 फरवरी तक पांच दिवसीय परिक्रमा महोत्सव का आयोजन किया गया है।सांसद परबत पटेल ने श्रीयंत्र और माताजी की आरती की और श्रद्धालुओं को परिक्रमा पथ पर रवाना किया। पटेल ने कहा कि 51 शक्तिपीठ परिक्रमा महोत्सव हमारा धार्मिक पर्व है।
यात्रियों को लाने और घर पहुंचाने की भी व्यवस्था की गई है। सांसद ने कहा कि ऐसी सुविधाएं बनाई गई हैं कि इस यात्रा में किसी को कोई परेशानी न हो।गुजरात पवित्र यात्राधाम विकास बोर्ड के सचिव आर आर रावल ने बताया कि इस महोत्सव में रहने, खाने और आने-जाने के लिए परिवहन भी सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। रावल ने कहा कि प्रतिदिन विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया है।
श्री आरासुरी अंबाजी माता देवस्थान ट्रस्ट के अध्यक्ष सह जिला कलक्टर वरुणकुमार बरनवाल ने कहा कि महोत्सव में श्रद्धालुओं की आस्था बनाए रखने और परिक्रमा का दिव्य अहसास कराने के लिए सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं।
पालखी, शंख यात्रा

बरनवाल ने कहा कि पहले दिन सोमवार को शास्त्रोक्त मंत्रोच्चार और जय अंबे के जय घोष के साथ पालखी यात्रा और शंखयात्रा के साथ श्रद्धालु परिक्रमा पथ पर निकले। आगामी दिनों में पादुका यात्रा, चंवर यात्रा, ध्वजा यात्रा, मशाल यात्रा, त्रिशूल यात्रा और ज्योत यात्रा सहित धार्मिक आयोजन होंगे।महोत्सव के दौरान प्रतिदिन यात्रियों को भोजन व्यवस्था, स्वास्थ्य, स्वच्छता, जल व्यवस्था, बस सुविधा, सुरक्षा आदि विभिन्न सुविधाएं निःशुल्क उपलब्ध कराई जा रही हैं। कलक्टर ने बताया कि इस दौरान हर शाम 7 बजे गब्बर की तलहटी में विशेष आरती का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संगठनों, भजन मंडलियों, धर्मार्थ संगठनों के प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

ट्रेंडिंग वीडियो