जांच के लिए सीबीआई टीम वडोदरा पहुंची

जांच के लिए सीबीआई टीम वडोदरा पहुंची

Rajesh Bhatnagar | Publish: Oct, 13 2018 11:59:49 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

स्टर्लिंग ग्रुप ऑफ कपंनीज व डायमंड पावर ग्रुप ऑफ कंपनी में जांच के बाद केंद्र सरकार को सौंपेगी रिपोर्ट

वडोदरा. शहर की स्टर्लिंग ग्रुप ऑफ कपंनीज व डायमंड पावर ग्रुप ऑफ कंपनी में जांच के लिए दिल्ली से सीबीआई की टीम वडोदरा पहुंची। जांच के बाद केंद्र सरकार को रिपोर्ट सौंपी जानी है।
सूत्रों के अनुसार डायमंड पावर ग्रुप ऑफ कंपनी के 2,600 करोड़ रुपए व स्टर्लिंग ग्रुप ऑफ कपंनीज के 5,383 करोड़ रुपए ऋण के बकाया होने के चलते मामला दर्ज हुआ था।
जानकारी के अनुसार स्टर्लिंग ग्रुप ऑफ कपंनीज के 5,383 करोड़ रुपए ऋण के हवाला घोटाले व डायमंड पावर ग्रुप ऑफ कंपनी के संचालकों की ओर से विविध कंपनियां बनाकर 2,600 करोड़ रुपए का बैंक ऋण घोटाला करने पर सीबीआई में शिकायत की गई थी।
डायमंड पावर ग्रुप ऑफ कंपनी के अमित भटनागर व सुमित भटनागर ने विविध कंपनियां बनाकर राष्ट्रीयकृत बैंकों से 5 हजार करोड़ रुपए का ऋण लिया लेकिन ऋण नहीं चुकाया। कंपनी के शेयर गिरवी रखे गए थे। फर्जी दस्तावेजी सबूत व कम कीमत की संपत्ति का अधिक मूल्यांकन करवाकर ऋण लिया गया था। 2600 करोड़ रुपए के ऋण घोटाले के मामले में भटनागर बंधुओंं के विरुद्ध सीबीआई में शिकायत की गई। शिकायत की जांच सीबीआई के गुजरात में नियुक्त अधिकारियों ने की और इस दौरान जमा किए सबूतों व अन्य कंपनियों की जानकारी की जांच दिल्ली के सीबीआई अधिकारियों की टीम ने की। अमित भटनागर के मामले में जिम्मेदार बैंक अधिकारियों व निदेशकों के बारे में भी जानकारी ली गई।
इसी प्रकार स्टर्लिंग ग्रुप के संचालक नितिन व चेतन सांडेसरा की ओर से विविध कंपनियां बनाकर राष्ट्रीयकृत बैंकों से 17,000 करोड़ रुपए का ऋण लेकर घोटाला किया गया। आयकर विभाग की ओर से मारे गए छापे के दौरान वर्ष 2011 की डायरी मिली, इसमें आईएएस, आईपीएस, आईआरएस अधिकारियों के अलावा अनेक राजनेताओं के नाम खुले थे। इस डायरी में आयकर विभाग के आयुक्त स्तर के तीन अधिकारियों के नाम खुलने पर उनके विरुद्ध सीबीआई में शिकायत दर्ज की गई थी। गौरतलब है क स्टर्लिंग ग्रुप ऑफ कपंनीज की ओर से हवाला घोटाला करने के लिए 144 शेल कंपनियां बनाई गई थीं, इस संबंध में भी जांच जारी है।

CBI
Ad Block is Banned