Corona: गुजरात में बढ़ाई गई कोरोना टेस्टिंग

Corona, Gujarat, testing

By: Uday Kumar Patel

Updated: 25 Nov 2020, 12:46 AM IST

अहमदाबाद. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों गुजरात में आरटी-पीसीआर और एंटीजन टेस्टिंग का दायरा बढ़ाया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को यह जानकारी देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों तथा राज्यों की ओर से संक्रमण नियंत्रण और उपचार सुविधा की तैयारियों का जायजा लेने और मार्गदर्शन देने के लिए देश के 8 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक में दी।

रूपाणी ने कहा कि सोमवार को एक ही दिन में राज्य में 70 हजार टेस्ट किए गए हैं। अहमदाबाद महानगर में कोरोना प्रभावितों के लिए होम आइसोलेशन की व्यवस्था के तहत संजीवनी: कोरोना घर सेवा की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि ऐसे 700 संजीवनी रथ के मार्फत प्रतिदिन लगभग 3 हजार कॉल पर योग्य कार्यवाही की जाती है।
उन्होंने कहा कि यह देशभर में एक ऐसी विशेष सेवा है जिसमें डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों की नियमित रूप से देखभाल करते हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना मामलों में अचानक हुई वृद्धि के खिलाफ सतर्कता बरतते हुए अहमदाबाद, वडोदरा, राजकोट और सूरत महानगर में रात्रि कफ्र्यू लागू किया गया है। रूपाणी ने प्रधानमंत्री को भरोसा दिलाया कि बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है।

108 एंबुलेंस सेवा को बनाया प्रभावी

रूपाणी ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने में विलंब नहीं हो और त्वरित भर्ती करवाकर उनका उपचार शुरू होने को लेकर 108 एंबुलेंस सेवाओं को और भी प्रभावी बनाया है। संक्रमित मरीज के अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसके लिए बेड, चिकित्सक और स्वास्थ्य सेवाएं तैयार रखे जाते हैं ताकि उपचार में कोई देरी न हो। अन्य सेवा जैसे धन्वंतरी और 104 हेल्पलाइन का भी दायरा बढ़ाया गया है।

इस वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक में उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल, मुख्य सचिव अनिल मुकीम, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन सहित वरिष्ठ अतिरिक्त मुख्य सचिव और सचिव उपस्थित थे।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned