न करें खाने की चिंता हम पहुंचाएंगे टिफिन

मैदान में उतरे सेवादार

By: Pushpendra Rajput

Published: 19 Apr 2021, 08:40 PM IST

गांधीनगर. ऐसे कोरोना संक्रमित परिवार या व्यक्ति जो होम आइसोलेशन में हैं उन्हें खाना बनाने दिक्कत हो सकती हैं उन लोगों की मदद में सेवादार उतरे हैं। ऐसे होम आइसोलेशन वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को उनके घरों तक खाना पहुंचाया जा रहा है और वह भी नि:शुल्क। इसके जरिए वे होम क्वारंटीन को संदेश दे रहे हैं कि खाने की चिन्ता नहीं करें वे उनके घर तक टिफिन पहुंचाएंगे।

ऐसी ही एक महिला हैं हेतलबेन अमीन, जो कल्याणी साहसिक महिला विकास संघ के बैनर तले होम आइसोलेशन वाले कोरोना संक्रमितों को नि:शुल्क खाना पहुंचा रही हैं। संस्थान की 15 से 20 महिलाएं इस सेवा कार्य में जुटी हैं। प्रत्येक महिला दस टिफिन बनाकर देती हैं।
वे बताती है कि अहमदाबाद के जोधपुर, वासणा, मकतमपुरा और उसके आसपास इलाकों में हररोज 150 से ज्यादा टिफिन होम आइसोलेशन मरीजों को पहुंचा रही हैं। इसके लिए कोई भी रसोइया नहीं है। प्रत्येक महिला दस टिफिन तैयार करती है।

वहीं इस्कोन गांठिया और कर्णावती डेयरी ने मिलकर होम क्वारंटीन कोरोना संक्रमितों और अशक्त लोगों को नि:शुल्क खाना पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। मौजूदा समय में इस्कोन गांठिया से सात किलोमीटर में बोपल, सेटेलाइट, जोधपुर गाम, बोडकदेव, मकरबा, मकतमपुरा, नेहरूनगर, बोपल में खाना पहुंचाया जा रहा है। प्रत्येक समाज और धर्म के लोगों को नि:शुल्क खाना पहुंचाया जा रहा है।

मनदीप पटेल ने बताया कि कोरोना महामारी में विशेष तौर पर होम आइसोलेशन मरीज, जो कामकाज नहीं कर सकते हैं। वे कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक तौर पर ज्यादा परेशान होते हैं ऐसे मरीजों खाना पहुंचाया जा रहा है। हररोज 500 से 600 टिफिन पहुंचाए जा रहे हैं, जिसमें दोपहर को दाल-भात, सब्जी रोटी, छाश के अलावा शाम को खिचड़ी और सब्जी पहुंचाई जाती है। शुद्ध और पौष्टिक भोजन ऐसे लोगों को पहुंचाया जा रहा है। बोपल, सेटेलाइट, थलतेज समेत सात किलोमीटर में यह सेवा उपलब्ध कराई जा रही है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned