सौराष्ट्र के 140 में से 78 पूरी तरह से भरी स्तिथि मे

गुजरात में 110 बांधों हैं लबालब
सरदार सरोवर में 90.18 फीसदी जल संग्रह

By: Omprakash Sharma

Updated: 25 Oct 2020, 09:42 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात में इस वर्ष हुई 136 फीसदी से अधिक बारिश के कारण बांधों की स्थिति अच्छी है। रविवार सुबह की स्थिति में सरदार सरोवर समेत 206 प्रमुख बांधों में से 110 लबालब हैं। सौराष्ट्र रीजन के सबसे अधिक 140 में से 78 पूरी तरह से भरे हुए हैं। सबसे बड़े सरदार सरोवर (नर्मदा) बांध की बात की जाए तो हाल में क्षमता के मुकाबले 90.18 फीसदी भरा हुआ है।
प्रदेश में जो 110 बांध लबालब हैं उनमें से सबसे अधिक सौराष्ट्र रीजन के हैं। जहां 78 बांध पूरी तरह से भर गए हैं। दक्षिण गुजरात में सभी 13 बांध छलके हुए हैं। मध्य गुजरात के 17 में से 10 बांध लबालब हैं। इसके अलावा उत्तर गुजरात के 15 में से तीन बांध पूरी तरह से भरे हुए हैं। गुजरात के कुल 206 में से 110 का जलस्तर सौ फीसदी है। 26 बांधों में 99 फीसदी से अधिक जल संग्रह हो चुका है। इसके अलावा नर्मदा बांध की अधिकतम ऊंचाई 138.68 मीटर है। इसके मुकाबले बांध का जलस्तर 135.71 मीटर पर पहुंच गया है। बांध में फिलहाल पानी की आवक जारी है। पिछले दिनों बांध सौ फीसदी तक भर चुका था। अच्छी बारिश के परिणाम स्वरूप राज्य के बांधों में जल संग्रह की स्थिति बेहतर है।

166 हाईअलर्ट
प्रदेश के 110 बांध लबालब समेत कुल 166 बांध हाईअलर्ट के रूप में दर्शाए गए हैं। इनमें 90 फीसदी से लेकर 100 फीसदी तक जल संग्रह हो चुका है। हालांकि 13 बांध अलर्ट हैं। इनमें क्षमता के मुकाबले 80 फीसदी से अधिक और 90 फीसदी से कम जल संग्रह हो चुका है। इसके अलावा नौ बांध ऐसे भी हैं जो 70 फीसदी से अधिक और 80 फीसदी से कम भरे हुए हैं। इन्हें वार्निंग के रूप में दर्शाया गया है। कुल 17 बांध हैं जिनमें 70 फीसदी से कम संग्रह हुआ है।

दक्षिण गुजरात में 100 फीसदी जल संग्रह

प्रदेश के दक्षिण गुजरात रीजन में सभी बांध पूरी तरह से बर गए हैं। इन बांधों में जल संग्रह की कुल क्षमता 8624.78 मिलियन क्यूबिक मीटर (एमसीएम) है। इनमें सौ फीसदी जल संग्रह हो चुका है। इसी तरह से सौराष्ट्र के सभी बांधों में जल संग्रह की क्षमता 2539.93 एमसीएम है। इसके मुकाबले फिलहाल 2395.11 एमसीएम जल संग्रह है जो 94.90 फीसदी है। मध्यगुजरात के बांधों की क्षमता 2347.36 एमसीएम है। इसके मुकाबले 7862.67 एमसीएम जल संग्रह हो चुका है जो 94.52 फीसदी है। कच्छ रीजन के बांधों में जल संग्रह की क्षमता 332.27 एमसीएम है इसके मुकाबले 300.88 एमसीएम है जो 84.63 फीसदी है। उत्तर गुजरात के बांधों में 1929.29 एमसीएम के मुकाबले 1777.80 एमसीएम पानी का संग्रह हुआ है जो 80.73 फीसदी है।


नर्मदा समेत सभी बांधों में 93.72 फीसदी जल संग्रह

गुजरात के नर्मदा समेत सभी बांधों में जल संग्रह 93.72 फीसदी हो चुका है। राज्य के बांधों में पानी संग्रह की कुल क्षमता 25233.63 एमसीएम है। इसके मुकाबले 23650.20 एमसीएम जल संग्रह हो चुका है। नर्मदा बांध की कुल क्षमता 9460 एमसीएम है। अब तक बांध में 8531.10 एमसीएम जल संग्रह हुआ है।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned