जामनगर की दरेड जीआईडीसी में मिली नकली तम्बाकू की फैक्ट्री!

जामनगर की दरेड जीआईडीसी में मिली नकली तम्बाकू की फैक्ट्री!

Gyan Prakash Sharma | Publish: Oct, 13 2018 10:44:13 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

दो गिरफ्तार

जामनगर. शहर के निकट दरेड जीआईडीसी में चल रही नकली तम्बाकू बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने दो जनों को गिरफ्तार किया है। स्थल से ब्रांडेड तम्बाकू के पैकेट भी बरामद किए हैं।
पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों में जामनगर निवासी व फैक्ट्री संचालक निर्मल प्रकाश जेसाणी व राजीव कुंदन जेसाणी शामिल हैं।
मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर जामनगर स्थानीय अपराध शाखा (एलसीबी) ने दरेड जीआईडीसी फेस-३ स्थित कारखाने में छापा मारा, जिसमें ब्रांडेड तम्बाकू के नाम पर नकली तम्बाकू मिली। हल्की गुणवत्ता की तम्बाकू की पुडिय़ा मिली।


गुजरातभर में करते से सप्लाय :
प्रारंभिक जांच के अनुसार दरेड जीआईडीसी में पिछले चार महीनों से डुप्लीकेट तम्बाकू तैयार करने का कारखाना चल रहा था। यहां बनने वाली नकली तम्बाकू को कम कीमत पर प्रदेश के अहमदाबाद, सूरत व जामनगर सहित अन्य स्थलों पर भी सप्लाय की जाती थी। पुलिस ने स्थल से ब्रांडेड तम्बाकू के १३८ डिब्बे व मशीन सहित ९ लाख का माल बरामद किया है।


पुडिय़ा असली जैसी लगती थी :
ग्राहकों को नकली तम्बाकू का पता नहीं चले, इसके लिए तम्बाकू की पुडिय़ा (पाउस) तैयार करने की भी मशीन थी।

 

हर्षदपुर के जमीन प्रकरण का मुख्य आरोपी गिरफ्तार
जामनगर. देवभूमि द्वारका जिले की खंभाळिया तहसील के हर्षदपुर में सेना के सेवानिवृत अधिकारी की १५ बीघे जमीन हड़पने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी को धोराजी से गिरफ्तार किया है।
आरोपी का नाम धोराजी निवासी मानसिंह उदमसिंह सरदार है।
मामले के अनुसार हर्षदपुर में १५ बीघे जमीन के मालिक व सेवानिवृत अधिकारी मोहनमुकुंदसिंह हरमानसिंह ने चार महीने पूर्व खंभाळिया तहसीलदार कार्यालय में विरासत एंट्री के लिए आवेदन किया था, जिसमें पता चला कि कुछ लोगों ने फर्जी एन्ट्री दर्ज कराकर उनकी जमीन हड़पने का षड्यंत्र रचा है। मोहनमुकुंद ने आपत्ति दर्ज कराई, तो तहसीलदार सहित अधिकारियों ने जांच की। जांच में फर्जी एंट्री होने की जानकारी मिली तो तहसीलदार ने मानसिंह सहित कुछ लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया था।
पुलिस ने शनिवार को मानसिंह को गिरफ्तार कर लिया। प्रारंभिक जांच के अनुसार मानसिंह ने फर्जी एलसी व फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कागजों में खुद को दत्तक बता रखा था।

Ad Block is Banned