Ahmedabad News जानें गांधीनगर में किसने की थी एक के बाद एक तीन लोगों की हत्या,क्या थी वजह?

nagendra singh rathore | Updated: 15 Sep 2019, 10:25:53 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

Gujarat ATS, Sarkhej, Serial killer, Gandhinagar, Gujarat police एटीएस ने सरखेज से पकड़ा, पांच लाख का था ईनाम, 3 राज्यों में तलाश

 

अहमदाबाद. गुजरात की राजधानी गांधीनगर में अक्टूबर 2018 से जनवरी 2019 के दौरान तीन व्यक्तियों की एक के बाद एक गोली मारकर हत्या करने वाले सीरियल किलर को गुजरात एटीएस ने 11 महीने बाद अहमदाबाद के सरखेज से धर दबोचा है। आरोपी पर 5 लाख का ईनाम घोषित था। राजस्थान, एमपी और महाराष्ट्र में भी तलाश किया गया था।
Gujarat ATS गुजरात एटीएस के उपाधीक्षक बी.पी. रोजिया ने बताया कि 36 वर्षीय आरोपी मदन माली मूलरूप से राजस्थान के पाली जिले का रहने वाला है। इसके विशाल उर्फ मुकेश उर्फ मोनिश भी नाम बताए जाते हैं। इसके पिता ने दूसरा विवाह कर लिया था, जिससे आरोपी Rajasthan राजस्थान से अहमदाबाद परिवार को छोड़ काफी समय पहले ही आ गया था। आरोपी विवाहित है और उसके 14 साल का लड़का भी है।
आरोपी ने लूट के लिए तीनों ही लोगों की हत्या करने का आरोप कबूला है। आरोपी के पास से हत्या में उपयोग में ली गई पिस्तौल और 31 कारतूस बरामद किए गए हैं। पिस्तौल आरोपी ने २०१६ में साबरमती डी केबिन के एक मकान से चोरी की थी। यू ट्यूब पर आरोपी ने गोली चलाना सीखा था, जिसकी प्रेक्टिस भी आरोपी ने गांधीनगर में केनाल के समीप की थी। क्राइम पेट्रोल धारावाहिक देखकर सीखा। गोली मारने के बाद खाली खोखे भी साथ ले लेता था।
रोजिया ने बताया कि आरोपी मानसिक रूप से विकृत भी है। ये सुबह तड़के गांधीनगर में लोगों को पिस्तौल दिखाकर उन्हें लूटता था। जो विरोध करते थे उन्हें गोली मार देता था। जो पैसे दे देते थे उन्हें जाने देता था। नाश्ते एवं अन्य वस्तुओं को घूम घूमकर बेचने के चलते अहमदाबाद-गांधीनगर के रास्तों से वाफिक है। उपयोग में लिए दुपहिया वाहन भी चोरी के थे। आरोपी इससे पहले भी अहमदाबाद में चोरी और वाहन चोरी के आरोप में पकड़ा जा चुका है। कुछ समय जेल भी जा चुका है।

पेट्रोल पंप पर अपनी फोटो चिपकी देख, घर, हुलिया बदला
रोजिया ने बताया कि आरोपी इतना शातिर था कि चांदखेडा इलाके में विसत पेट्रोल पंप पर लगा अपना फोटो देखकर आरोपी ने अपना चांदखेडा का घर और अपना हुलिया दोनों बदल लिए, ताकि पुलिस पकड़ ना सके। एटीएस ने तकनीक और मुखबिरों की सूचना से तीन महीने की मेहनत के बाद आरोपी को धर दबोचा।

५० रुपए के सिक्के से हुई शंका, वारदात स्थल पास फिर भी गया
आरोपी गांधीनगर अडालज के पास एक होटल पर चाय नाश्ता करने के दौरान वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया था। आरोपी ने होटल वाले को ५० रुपए का सिक्का दिया था। इससे पुलिस को आरोपी पर शक हुआ और फिर उसके लंबा कोट, जींस पेंट एवं सिर पर गर्म टोपी पहने और गले में स्कार्फ लटकाए फोटो को सोशल मीडिया व पेट्रोल पंप पर लगाया था। आरोपी इतना शातिर था कि वह तीन वारदातों को अंजाम देने के बाद, पुलिस में फोटो आने के बाद हुलिया बदलकर फिर से घटना स्थल वाले इलाकों पर गया था। आरोपी ने कहा कि वह यह देखने गया था कि वहां हो क्या रहा है।

इन दिन इन तीन लोगों की हत्या
-१४ अक्टूबर २०१८ को गांधीनगर के दंताली गांव निवासी जयराम रबारी की सिर में पीछे के हिस्से में गोली मारकर रेलवे ट्रेक के पास हत्या की। उनके कान से ७० हजार की सोने की बालियां लूट ली।
-९ दिसंबर २०१८ को कोबा गांव निवासी केशवलाल पटेल को प्रेक्षा भारती के पास प्लॉट में सिर के पीछे वाले हिस्से में गोली मार कर हत्या।
-26 जनवरी 2019 को गांधीनगर में शेरथा-टिंटोडा रोड पर खेत में शेरथा गांव निवासी जूथाजी ठाकोर की गोली मारकर कर दी। पौने तीन लाख के आभूषण लूट लिए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned