गुजरात : भाजपा ने 10 ओबीसी व 6 पाटीदारों को मैदान में उतारा

-लोकसभा चुनाव में जातिगत समीकरण

 

उदय पटेल

अहमदाबाद. लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस की तरह भाजपा ने भी ओबीसी के साथ-साथ पाटीदारों पर दाव खेला है। गुजरात में ओबीसी समुदाय की लगभग 52 फीसदी आबादी होने के कारण भाजपा ने करीब 10 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है वहीं पाटीदारों का वोट खींचने के लिए 6 पाटीदारों को अपना प्रत्याशी बनाया है। इस तरह पार्टी ने सबसे ज्यादा ओबीसी और फिर पाटीदारों को टिकट दिया है।
ओबीसी उम्मीदवारों में तीन कोळी -डॉ महेन्द्र मुंजपरा, राजेश चुडास्मा, डॉ भारतीबेन शियाल कोली समुदाय से हैं। इसके अलावा चार ठाकोर, एक चौधरी, एक आहिर व एक दर्जी हैं।
भाजपा के छह पाटीदार उम्मीदवारों में रमेश धड़ुक (पोरबंदर), मितेश पटेल (आणंद), मेहसाणा (शारदा पटेल (मेहसाणा), मोहन कुंडारिया (राजकोट), नारण काछडिया (अमरेली) व हसमुख पटेल (अहमदाबाद पूर्व) शामिल हैं। इनमें से 2 लेउवा पाटीदार हैं और चार कडवा पाटीदार हैं।
छह पाटीदारों में से आणंद सीट को छोडक़र सभी सीटों पर आमने-सामने पाटीदार प्रत्याशी हैं। पिछले चुनाव पर गौर करें तो कांग्रेस ने जहां चार वहीं भाजपा ने पांच पाटीदारों को उतारा था।
अमित शाह के रूप में एक वणिक और रंजनबेन भट्ट के रूप में एक मात्र ब्राह्मण उम्मीदवार को उतारा है। दीप सिंह राठौड़ व देवूसिंह चौहाण के रूप में दो क्षत्रिय उम्मीदवार हैं। राज्य में चार सीटें-दाहोद, छोटा उदेपुर, बारडोली व वलसाड- आदिवासियों के लिए सुरक्षित है वहीं दो सीटें-कच्छ व अहमदाबाद पश्चिम-अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं।

BJP
Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned