Gujarat में Corona का सबसे बड़ा कारण लोकल ट्रान्समिशन

१०० में संक्रमण का कारण है लोकल ट्रान्समिशन

By: Omprakash Sharma

Published: 07 Apr 2020, 10:35 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात में इन दिनों कोरोना वायरस की वृद्धि का सबसे बड़ा कारण लोकल ट्रान्समिशन है। अब तक राज्य में १६५ मरीजों में से १०० मरीज लोकल ट्रान्समिशन के हैं।
राज्य में लोकल ट्रान्समिशन चिन्ता का विषय बन गया है। मंगलवार को एक ही दिन में सामने आए सभी १९ मरीजों में संक्रमण का माध्यम लोकल ट्रान्समिशन माना जा रहा है। इतना ही नहीं अब तक सामने आए कुल १६५ कोरोना पॉजिटिव में से १०० में यह वायरस लोकल ट्रान्समिशन से लगा है। इसके अलावा ३३ मरीजों में संक्रमण फैलने का कारण विदेश यात्रा तो ३२ में अन्तरराज्यीय यात्रा की वजह माना जा रहा है। अब तक राज्य में इस वायरस के कारण जिन १२ लोगों की मौत हुई है उनमें से भी सात मरीजों को यह संक्रमण लोकल ट्रान्समिशन से फैला है। मृतकों में तीन विदेश और दो अन्तरराज्यीय यात्रा के हैं। अहमदाबाद में भी अब तक ७७ पॉजिटिव मरीजों में से ३५ में यह वायरस लोकल ट्रान्समिशन से फैला है।

वेंटीलेटर पर चार, १२६ स्टेबल
प्रदेश में अब तक जिन १६५ मरीजों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है उनमें से फिलहाल १३० मरीज विविध अस्पतालों में भर्ती हैं। इनमें से चार की हालत गंभीर होने पर उन्हें वेंटीलेटर के माध्यम से उपचार दिया जा रहा है जबकि १२६ मरीज स्टेबल हैं। अब तक १२ मरीजों की मौत हो गई तो २३ को छुट्टी दी जा चुकी है।

तीन हजार से अधिक टेस्ट
कोरोना वायरस की शंका पर राज्य में अब तक ३०४० टेस्ट किए जा चुके हैं। इनमें से २८३५ की रिपोर्ट नेगेटिव और १६५ की पॉजिटिव आई है। मंगलवार सुबह पूरे हुए २४ घंटों के दौरान ही २८९ लोगों के कोरोना टेस्ट किए गए इनमें से २१की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। २३७ नेगेटिव और ४० अभी भी पेंडिंग बताई गई हैं।

११ हजार से अधिक क्वारेंटाइन
प्रदेश में मंगलवार दोपहर तक क्वारेंटाइन मरीजों की संख्या ११२८६ दर्ज की गई। इनमें से सबसे अधिक १०१३३ मरीज होम क्वारेंटाइन हैं। जबकि सरकारी सुविधाओं में ९३५ और निजी सुविधाओं में २१८ क्वारेंटाइन के तहत हैं। अब तक ४१८ मरीजों के खिलाफ उल्लंघन की शिकायत भी दर्ज करवाई जा चुकी हैं।

Corona virus
Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned