खाद्य सुरक्षा सूचकांक 2020-21 में गुजरात फिर देशभर में अव्वल

Gujarat, FSSAI, Food safety index 2020-21, Gujarat in no one, CM bhupendra patel, mandaviya केरल दूसरे, तमिलनाडु रहा तीसरे स्थान पर, फूड सेंपलिंग, टेस्टिंग लैब इन्फ्रास्ट्रक्चर, ट्रेनिंग में भी अग्रणी, -सीएम भूपेन्द्र पटेल ने खाद्य एवं औषधि नियंत्रक विभाग को दी बधाई

By: nagendra singh rathore

Updated: 21 Sep 2021, 09:51 PM IST

अहमदाबाद. भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (फूड एंड सेफ्टी स्टान्डर्ड अथोरिटी ऑफ इंडिया-एफएसएसएआई) के खाद्य सुरक्षा सूचकांक 2020-21 में गुजरात एक बार फिर देशभर में अव्वल रहा है। यह लगातार दूसरा साल है जब गुजरात देशभर के सभी बड़े राज्यों में पहले स्थान पर रहा। वर्ष 2019-20 में भी गुजरात अव्वल था। गुजरात को वर्ष 2020-21 के खाद्य सुरक्षा सूचकांक में 100 में से 71 अंक मिले हैं।
सोमवार को नई दिल्ली में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने देश की तीसरी खाद्य सुरक्षा सूचकांक रिपोर्ट जारी की। इसके साथ ही गुजरात को अवार्ड भी प्रदान किया।
गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने राज्य के खाद्य एवं औषधि नियंत्रक विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग को इस उपलब्धि पर बधाई दी है।
यह सूचकांक पांच प्रमुख मानदंडों पर पर तैयार किया जाता है। इस रैंकिंग में बड़े राज्यों में गुजरात ने 100 में से 71 अंक के साथ पहले, 70 अंक के साथ केरल दूसरे और तमिलनाडु 64 अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहा।
जिन पांच प्रमुख मानदंडों पर यह रैंकिंग की जाती है उनमें ज्यादातर में गुजरात अच्छी स्थिति में है। गुजरात ने ह्यूमन रिसोर्स और इंस्टीट्यूशनल डाटा में 20 में से 13 अंक, क्रियान्वयन में 30 में से 19 अंक, फूड टेस्टिंग इन्फ्रास्ट्रक्टर एंड सर्विलांस में 20 में से 16 अंक, ट्रेनिंग एवं कैपिसिटी बिल्डिंग में 10 में से 6 और कंज्यूमर एम्पावरमेंट के 20 में से 18 अंक प्राप्त किए हैं। राज्य में मिलने वाले खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता के मामले में भी राज्य अग्रणी है।

म.प्र. बंगाल, कर्नाटक टॉप-10 में, राजस्थान 18वें स्थान पर
बड़े राज्यों की इस रैंकिंग (सूचकांक) में मध्यप्रदेश को 57 अंकों के साथ देश में 7वां स्थान मिला है, जबकि पश्चिम बंगाल 54 अंक के साथ 8वें और कर्नाटक 51 अंक के साथ 9वें स्थान पर रहा। 38 अंक के साथ राजस्थान बड़े 20 राज्यों में 18वें स्थान पर रहा।

छोटे राज्यों में गोवा शीर्ष पर
छोटे राज्यों की बात करें तो इस सूचकांक में 63 अंक के साथ गोवा अव्वल रहा। 53 अंक के साथ मेघालय दूसरे, 46 अंक के साथ मणिपुर तीसरे स्थान पर रहा।। सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर रहे। केन्द्र शासित प्रदेशों में जम्मू एवं कश्मीर पहले, जबकि अंडमान एंड निकोबार दूसरे स्थान पर रहे। दिल्ली तीसरे, चंडीगढ़ चौथे और दादरा एवं नगर हवेली और दमन दीव पांचवें स्थान पर रहे।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned