आईआईटी-गांधीनगर के निदेशक प्रो. सुधीर जैन यूएस एनएई के अंतरराष्ट्रीय सदस्य

IIT-Gn, director, international, member, US, engineering, educationist: प्रोफेसर जैन आईआईटी-गांधीनगर के इतिहास में शामिल होने वाले केवल 18 भारतीय सदस्यों में से एक हैं

By: Pushpendra Rajput

Updated: 11 Feb 2021, 10:26 PM IST

गांधीनगर. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-गांधीनगर (IIT-Gandhinagar) के निदेशक प्रो. सुधीर के. जैन को यू.एस. नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग ( US ANE) के एक अंतरराष्ट्रीय सदस्य के रूप में चुना गया है, जो दुनिया के प्रमुख इंजीनियरों (engineering), व्यापारियों और शिक्षाविदों (educationist) की श्रेष्ठ और स्वायत्त संस्था हैं वर्तमान में यू.एस. एनएई में भारत के केवल 16 अंतरराष्ट्रीय सदस्य हैं, जिनमें रतन टाटा, मुकेश अंबानी, एनआर नारायण मूर्ति, डॉ किरण मजूमदार शॉ और डॉ रघुनाथ ए माशेलकर के साथ अन्य लोग शामिल हैं।

प्रोफेसर जैन वर्ष 2021 में चुने गए 23 अंतरराष्ट्रीय सदस्यों में से एक हैं और इस प्रतिष्ठित संस्था के लिए चुने जाने वाले आईआईटी के एकमात्र वर्तमान निदेशक हैं। 3 अक्टूबर, 2021 को एनएई की वार्षिक बैठक के दौरान उन्हें औपचारिक रूप से संगठन में शामिल किया जाएगा। यू.एस. एनएई द्वारा यह घोषणा 9 फरवरी को की गई थी। संगठन में 2,355 अमेरिकी सदस्य और 298 अंतरराष्ट्रीय सदस्य हैं।

नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग में चुने जाना एक इंजीनियर को दिए जाने वाले सर्वोच्च व्यावसायिक सम्मानों में से एक है। जो इंजीनियरिंग साहित्य में महत्वपूर्ण योगदान देने और प्रौद्योगिकी के नए और विकासशील क्षेत्रों में पहल करने के लिए, इंजीनियरिंग के पारंपरिक क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति करने, या इंजीनियरिंग शिक्षा के लिए अभिनव दृष्टिकोण जिसमें विकसित / कार्यान्वयन करने सहित इंजीनियरिंग अनुसंधान, अभ्यास या शिक्षा में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए जगह दिया जाता है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned