एंटीबायोटिक दवाइयों का अवैध निर्माण, 70 लाख का सामान जब्त

इन दवाइयों का विदेश में किया जाता था निर्यात

By: MOHIT SHARMA

Published: 12 Feb 2021, 12:44 AM IST

अहमदाबाद. राज्य के खाद्य एवं औषध विभाग ने एंटीबायोटिक दवाइयों के अवैध रूप से निर्माण और विदेश में भेजे जाने का पर्दाफाश किया है। इस तरह की 70 लाख की दवाइयां जब्त भी की गई हैं। गांधीनगर जिले की कलोल तहसील के हाजीपुर स्थित कंपनी में अवैध रूप से दवाइयों का निर्माण किया जा रहा था।
गुजरात के खाद्य एवं औषध विभागायुक्त डॉ. एच.जी. कोशिया ने बताया कि गांधीनगर जिले में एक कंपनी की ओर से पिछले तीन वर्ष से दवाई का उत्पादन किया जा रहा है। इस कंपनी के साझीदार एवं उनकी टीम की ओर से उत्तराखंड की एक कंपनी के नाम से एक्साक्लेव- 625 कॉएमोक्सीक्लेव टेबलेट बीपी की नकल से अवैध निर्माण किया गया। खाद्य एवं औषध विभाग की टीम की ओर से कंपनी में मारे गए छापे के दौरान 4.20 लाख एक्साक्लेव-625 नामक टेबलेट जब्त की हैं। इनकी अनुमानित कीमत 63 लाख रुपए बताई जा रही है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा एक्साटिल ड्राइ सीरप ब्रान्ड के नाम से भी दवाई जब्त की गई है। यह दवाई भी चांगोदर स्थित एक कंपनी के लाइसेंस से अवैध रूप से तैयार की जा रही थी। उन्होंने बताया कि एक्साक्लेव-625 टेबलेट के तैयार किए गए 1825 कार्टून और पैकिंग के सामान समेत 70 लाख का सामान जब्त किया गया है। एक्साक्लेव टेबलेट की नहीं थी मंजूरी डॉ. कोशिया ने बताया कि एक्साक्लेव-625 टेबलेट निर्माण की मंजूरी नहीं होने के बावजूद उत्तराखंड की कंपनी के नाम से इसे तैयार किया जा रहा था। इतना ही नहीं जनवरी माह की उत्पादन तारीख दर्शाई जा रही थी जबकि तैयार फरवरी माह में किया जा रहा था। उन्होंने कहा कि एन्टीबायोटिक दवाइयों का अवैध रूप से उत्पादन करने की एवज में कंपनी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह कंपनी दवाइयों को विदेश में भी निर्यात करती है। इस संबंध में गहन जांच भी की जा रही है।

MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned