संपत्ति अकेले हड़पने को पुत्र ने जीवित मां को किया मृत घोषित

jamnagar, fake death certificate, crime, TDO, Ahmedabad तहसील कार्यालय में फर्जी दस्तावेज पेश कर अपने नाम संपत्ति करने की कोशिश के दौरान फूडा भांडा, टीडीओ ने पुत्र सहित तीन के विरुद्ध दर्ज कराई प्राथमिकी, सभी हिरासत में लिए गए

By: nagendra singh rathore

Updated: 25 Nov 2020, 12:03 AM IST

जामनगर. संपत्ति को अकेले हड़पने की लालच में जिले की कालावड तहसील के एक गांव में पुत्र ने अपनी मां को जीते-जी कागजातों में मृत घोषित कर दिया। एक भाई और दो बहन होते हुए भी खुद को पिता की इकलौती संतान बताकर उससे जुड़े फर्जी दस्तावेज तैयार कर तहसील कार्यालय में जमीन के दस्तावेज में अपना नाम दर्ज कराते समय पूरे घटनाक्रम का भंडाफोड़ हुआ।
तहसील विकास अधिकारी नम्रताबेन भट्ट को पेश किए गए दस्तावेजों पर शंका होने पर उनकी ओर से की गई प्राथमिक जांच में दस्तावेश फर्जी होने की बात सामने आई। जिस पर उन्होंने कावालड तहसील के नानी नानागर गांव निवासी मुख्य आरोपी रामजी गमारा और उसके दो अन्य साथी करणा गमारा और किशोर पारघी के विरुद्ध कावालड ग्राम्य थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है।
रामजी चार भाई बहन हैं। उसकी मां रैयाबेन गमारा अभी जिंदा है, लेकिन रामजी ने संयुक्त मालिकी की जमीन को खुद अकेले हड़पने के लिए उसकी मां को जिंदा होते हुए भी कागजातों में मृत घोषित कर दिया। उसके एक भाई और दो बहनों हैं। लेकिन फिर भी उसने उसके पिता की इकलौती संतान होने का दस्तावेज तैयार करवाकर उसे असली दस्तावेज के रूप में पेश कर दिया।
इस मामले में पुलिस ने रामजी और उसके दो मददगारों को हिरासत में ले लिया है। सभी का कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है। इसके अलावा जिस वकील के पास से दस्तावेज तैयार करवाए गए थे। उस वकील से भी पूछताछ की जा रही है।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned