Corona effect: 'कोविड से आएंगे व्यवसायिक बदलाव'

Kovid-19, Corona effect, startup, inovation, tourism, social distance: स्टार्टअप यूनिवर्सिटी में वेबीनार

By: Pushpendra Rajput

Published: 10 May 2020, 08:30 PM IST

गांधीनगर. केन्द्रीय जहाजरानी मंत्री मनसुख मांडविया (Shipping minister) ने कहा कि कोविड -19 (kovid-10) ने वैश्विक आर्थिक सुनामी का माहौल बनाया है, जो अब विकासशील माने जाने वाले युनाइटेड स्टेट्स (US), रूस, यूरोप जैसे देशों को भी हंफा रहा है। चाहे मैन्युफेक्चरिंग (manufacturing) हो, या इलेक्ट्रॉनिक्स वस्तुएं (electronics articles) , टूरिजम (Tourism), मनोरंजन, हॉस्पिटलिटी और अंतरराष्ट्रीय व्यापार को इससे खासा आर्थिक नुकसान हुआ है। कई उद्योगों में कामकाज ठप हो गया है। ैऐसे कठिन समय में भारत ही एक ऐसा देश है, जिसने आर्थिक और औद्योगिक विकास को नई दिशा दी है। कोविड संकट के बाद जब दुनिया स्थिति बदलेगी और कारोबार करने की प्रणाली में भी बदलाव आएगा। रविवार को गांधीनगर स्थित स्वर्णिम स्टार्टअप (Startup) एंड इनोवेशन यूनिवर्सिटी में 'वैश्विक अर्थ व्यवस्था और विकास इंजन में भारत की भूमिकाÓ पर आयोजित वेबिनार में मांडविया संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में भारत सरकार ने जिस तरीके से ठोस कदम उठाकर कोविड-19 पर काबू पाया उससे दुनियाभर में भारत की प्रशंसा हो रही है। वैश्विक अर्थ व्यवस्था और उद्योगों को पुन: गतिशील बनाने में भारत दुनिया में नहीं राह दिखा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के बाद दुनिया में हालात बदलेंगे। कारोबार करने की पद्धति भी बदलेगी। उत्पादन करनेवाले और बिक्री करने वाले देशों में लोगों की मांग और खरीद की पेटर्न में बदलाव होगा।
यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेन्ट ऋषभ जैन ने कहा कि दुनियाभर में मौजूदा समय में आर्थिक संकट का दौर चल रहा है। ऐसे में भारत की अर्थव्यवस्था काफी मजबूत है। उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए भारत सरकार ने कई अहम निर्णय किए हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में यूनिवर्सिटी के फेकल्टी सदस्यों ने चार हजार से ज्यादा ऑनलाइन सत्र में भाग लिया। उन्होंने स्टार्टअप हेकाथोन की भी जानकारी दी।

Corona virus
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned