अरुणाचल प्रदेश के परिवीक्षाधीन उपाधीक्षकों ने आरआरयू में सीखे बेहतर जांच के गुर

RRU, Arunachal pradesh police, Probationary Dysp, specialized training, Gandhinagar -मंडारिन (चीनी भाषा), फॉरेंसिक, सीसीटीवी फुटेज ऑडिटिंग भी सीखी

By: nagendra singh rathore

Published: 25 Sep 2021, 09:32 PM IST

अहमदाबाद. चीन की सीमा से सटे अरुणाचल प्रदेश के 16 परिवीक्षाधीन उपाधीक्षकों ने गांधीनगर स्थित राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय (आरआरयू) में अपराध की बेहतर जांच के गुर सीखे हैं। इनके लिए उनके राज्य की भौगोलिक, सामाजिक परिस्थिति और चीन से सटी सीमा को मद्देनजर रखते हुए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम डिजाइन किया गया था।
इन उपाधीक्षकों को चीनी भाषा (मंडारिन) भी सिखाई गई। इसके अलावा साइबर क्राइम की जांच, फॉरेंसिक के विविध क्षेत्रों व उसकी जांच, सीसीटीवी फुटेज की ऑडिटिंग व जांच, हथियारों की बरामदगी मामले में जांच, फिंगरप्रिंट व अन्य वस्तुओं के आधार पर जांच, डीएनए प्रोफाइलिंग, नशीले पदार्थों की बरामदगी मामलों की जानकारी व प्रशिक्षण दिया गया।
13 सितंबर को अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल डॉ. बी डी मिश्रा की ओर से वर्चुअली शुरू कराए गए प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुक्रवार को समापन हुआ। जिस दौरान अतिथि के रूप में ग्लोबल काउंटर-टेररिज्म काउंसिल के सलाहकार बोर्ड के सदस्य क्रिशन वर्मा उपस्थित रहे।
आरआरयू के कुलपति डॉ.बिमल पटेल ने कहा कि विवि देशभर के पुलिस कर्मचारियों, अद्र्धसैनिक बलों, सुरक्षा एजेंसियों व रक्षा क्षेत्र के जवानों के कौशल को और बेहतर बनाने के लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम, कोर्स चला रहा है। जिसके तहत अरुणाचल प्रदेश के परिवीक्षाधीन उपाधीक्षकों को प्रशिक्षित किया।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned