आरटीओ-अहमदाबाद की वेबसाइट महीनों से नहीं अपडेट

वाहनों की संख्या पांच साल से नहीं की गई अपडेट

By: Pushpendra Rajput

Published: 10 Feb 2018, 09:48 PM IST

अहमदाबाद. डिजीटल युग में जहां हर महकमा डिजीटल हो रहा है, ऐसा लगता है कि गुजरात सरकार के कई महकमे खुद को डिजीटल बनाने की चाहत नहीं रखते। आमजन को महकमे की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए वेबसाइट बनाई जाती है तो इन वेबसाइट को समय-समय पर अपडेट भी करना पड़ता है, लेकिन राज्य सरकार के कई महकमे ऐसे हैं जो वेबसाइट को समय-समय पर अपडेट रखने में दिलचस्पी नहीं रखते।
ऐसा ही एक महकमा है आरटीओ-अहमदाबाद। इसकी वेबसाइट करीब आठ माह से अपडेट नहीं हुई, तो वाहनों की संख्या पांच-छह वर्षों से अपडेट नहीं हैं।
महिला एवं बाल कल्याण विभाग की वेबसाइट 6 अप्रेल, 2017 से अपडेट नहीं की गई है। तो आरटीओ अहमदाबाद ने 8 मई, 2017 से वेबसाइट को अपडेट नहीं किया। यदि अहमदाबाद जिले में वाहनों की संख्या की बात की जाए तो वर्ष 2011-12 के बाद से वाहनों की संख्या ही अपडेट नहीं की गई है।

वर्ष 2011-12 में वाहनों की संख्या 28 लाख 23 हजार 22 बताया गया है। वहीं वर्ष 2009-10 में वाहनों की संख्या 23 लाख 81 हजार 453 है, तो वर्ष 2010-11 में वाहनों की संख्या 26 लाख 572 है। इसके बाद से पिछले पांच-छह वर्षों में अहमदाबाद जिले में वाहनों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है, लेकिन वाहनों की संख्या को नहीं बदला गया।

एसटी परिसर में वाहन पार्क करनेवालों की खैर नहीं
एसटी बस अड्डे के 500 मीटर के दायरे में ऑटो या अन्य वाहन जैसे कि बसों की पार्किंग पर रोक है। इसके बावजूद कई वाहन चालक नो पार्किंग जोन में घुस आते हैं और वाहन पार्क कर देते हैं ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ एसटी प्रशासन में सख्त रवैया अपनाया है। प्रशासन ने नो पार्किंग जोन में वाहन पार्क करने वालों के खिलाफ अभियान चलाया जिसमें एक वर्ष में 5129 वाहन चालकों को मेमो दिए तो एक हजार 111 वाहन जप्त किए। इन वाहन चालकों से 13 लाख 35 हजार 653रुपए जुर्माना वसूला।

कई निजी बस या मेटाडोर संचालक न सिर्फ यात्रियों को अपने वाहनों में ले जाने को प्रलोभन देते हैं बल्कि कई बार हादसों के पर्याय भी बन जाते हैं। ऐसी गतिविधियों को रोकने के लिए एसटी प्रशासन ने अवैध तरीके से परिसर में घुसने वाले निजी वाहन चालकों पर रोक लगाई है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned