शुभ मुहूर्त में घरों में हुई घट स्थापना

शारदीय नवरात्र पर्व प्रारम्भ

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 18 Oct 2020, 12:14 AM IST

सिलवासा. आश्विन शुक्ल प्रतिपदा शनिवार से शारदीय नवरात्र पर्व आरम्भ हो गया हंै। घरों में श्रद्धालुओं ने शुभ मुहूर्त व अभिजीत मुहूर्त में मां अंबे की पूजा व कलश स्थापना की गई। दुर्गा मंदिर घट स्थापना, हवन, अनुष्ठान व पूजा का दौर दोपहर 12 बजे तक चलता रहा। घट स्थापना के बाद पहले दिन माता रानी के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री की विधि-विधान से आराधना की गई। 25 अक्टूबर तक चलने वाले दुर्गा महोत्सव में प्रतिदिन पूजा-अर्चना, मंगलपाठ, आरती का आयोजन होंगे।


शहर व आसपास के मंदिरों में नवरात्र पर्व की पूजा के दौरान श्रद्धालुओं ने मां अंबे के जमकर जयकारे लगाए। गायत्री दुर्गोत्सव में गिरिजा का आह्वान करके पंडितों ने घट स्थापना की।

कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना की

मां भगवती के शैलपुत्री स्वरूप की पूजा व मंत्र पढ़कर समग्र विश्व को कोरोना से मुक्ति की प्रार्थना भी इस दौरान की गई। घरों में मिट्टी पात्र, शुद्ध जौ, साफ मिट्टी, श्ुद्ध जल से भरा कलश, मोली, सुपारी, फूल माला, अशोक या आम के पत्ते, कुमकुम, अक्षत, लाल कपड़ा एवं चुनड़ी से माता की विधि विधान से कलश स्थापित करके पूजा-अर्चना की। किलवणी नाका, पंचायत मार्केट, आमली, सुन्दरवन सोसायटी, बहुमाली, टोकरखाड़ा जक्शन, गायत्री ग्राउंड, इन्दिर नगर में घर-घर जग कल्याणी के नौ दिवसीय पाठ आरम्भ हो गए हैं। गांवों में भी 9 दिन तक रोजाना दुर्गा पाठ, दुर्गा चालीसा एवं अनुष्ठान का आयोजन रखा है।


दादरा, नरोली, मसाट, सामरवरणी, रखोली, मधुबन, दपाड़ा, खडोली, खानवेल में नवरात्र महोत्सव चालू हो गए है। कोरोना वायरस के चलते इस बार सार्वजनिक दुर्गा महोत्सव का अनुमति नहीं हैं। मंदिरों में मास्क का उपयोग के साथ सोशल डिस्टेंस मेटेंन करना अनिवार्य है।

Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned