बिजली चोरी पर 152 गिरफ्तार ,5 हजार 786 एफआइआर दर्ज,

अजमेर डिस्कॉम :

68.9 करोड़ की वसूली, 4 हजार 607 हजार मुकदमों का निस्तारण

By: bhupendra singh

Published: 29 Mar 2020, 07:03 AM IST


152 for, 5 thousand ***** s,

अजमेर. अजमेर विद्युत वितरण निगम की विजिलेंस विंग ने पिछले 11 महीनों में बिजली चोरों के खिलाफ जमकर धावा बोला है। निगम ने बिजली चोरी power theft के मामले में अपने अधीन आने वाले 11 जिलों में अप्रेल से लेकर फरवरी माह तक रिकॉर्ड 5 ***** लोगों के खिलाफ FIR मुकदमे दर्ज registered करते हुए 152 लोगों को गिरफ्तारarrest किया गया। इस दौरान 4 हजार 607 मुकदमों का निस्तारण करते हुए 68 करोड़ 10 लाख रुपए की जुर्माना राशि भी वसूली गई। अकेले फरवरी महीने में 200 ही एफआइआर बिजली चोरी के मामले दर्ज करते हुए 20 बिजली चारों को गिरफ्तार भी किया गया है। इनसे 1 करोड़ 2 लाख 50 हजार रुपए की रिकवरी की गई। फरवरी में भीलवाड़ा के विद्युत चोरी निरोधक थाने में सर्वाधिक 202 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई।

यहां हुई गिरफ्तारी
निगम के विद्युत चोरी निरोधक थाना किशनगढ़ में बिजली चोरी के मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया। भीलवाड़ा में 2, अजमेर 2, नागौर में 3, झुंझुनूं, खेतड़ी में 1, सीकर में 1, चित्तौडगढ़़ में 1, बड़ी सादड़ी में 1, प्रतापगढ़ में 1, बांसवाड़ा में 1, डूंगरपुर 1 तथा उदयपुर में 1 व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

कहां कितनी एफआईआर

बिजली चोरी के मामले में फरवरी माह में नागौर के विद्युत चोरी निरोधक थाने में 90 मुकदमे दर्ज किए गए। अजमेर में 22, किशनगढ़ 25, मकराना 76, झुंझुनूं 49, खेतड़ी 60, सीकर में 80, रींगस 70, चित्तौडगढ़़ 72, बड़ी सादड़ी में 120, प्रतापगढ़ 52, बांसवाड़ा 47, डूंगरपुर 60, राजसमन्द 43, उदयपुर 82 तथा सलूम्बर में इस अवधि में 45 एफआइआर दर्ज की गई।

read more:

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned