गहरी खान ने यूं उगली लाश, देखा बॉडी का ये हाल तो चकरा गई पुलिस

Manish Kumar Singh

Publish: Nov, 15 2017 08:30:47 (IST)

Ajmer, Rajasthan, India
गहरी खान ने यूं उगली लाश, देखा बॉडी का ये हाल तो चकरा गई पुलिस

शव के पास खून से सना बड़ा पत्थर मिला। पत्थर पर खून के साथ सांवर के सिर के बाल भी मिले हैं।

अजमेर।

निकटवर्ती ग्राम भूडोल की सरहद में पत्थर की खदान में युवक की नग्नावस्था में लाश मिलने से सनसनी फैल गई। प्रथमदृष्ट्या युवक की पत्थर मारकर निर्मम हत्या की गई। उसके चेहरे व सिर के पिछले हिस्से पर जाहिराना चोट के निशान हैं। रिश्तेदारों ने मृतक की शिनाख्त की। गेगल थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी में रखवाया है। एकबारगी तो पुलिस भी चकरा गई। पुलिस वारदात में अहम सुराग हाथ लगे है। पुलिस जल्द ही हत्या की वारदात से पर्दा उठाने के करीब है।

पुलिस के अनुसार भूड़ोल-गोडिय़ावास की सरहद में गोल पहाड़ी क्षेत्र में पत्थर की खदान में युवक का शव मिला। चरवाहे की सूचना पर घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। पूर्व सरपंच अर्जुननाथ ने गेगल थानाप्रभारी नरपतराम बाना को सूचना दी। पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे ले लिया। मृतक की पहचान पीसांगन थाना क्षेत्र के पिचौलिया निवासी सांवर सिंह पुत्र गोपी सिंह रावत के रूप में गई।

सांवर के चेहरे पर आंखें के ऊपरी हिस्से व सिर के पिछले हिस्से में चोट थी जबकि पुलिस को शव के पास खून से सना बड़ा पत्थर मिला। पत्थर पर खून के साथ सांवर के सिर के बाल भी मिले हैं। पुलिस वारदात को हत्या मानकर तफ्तीश कर रही है। एसपी राजेन्द्र सिंह, पुलिस उप अधीक्षक(अजमेर ग्रामीण) राजेश वर्मा, एमओबी, एफएसएल व साइक्लोन टीम घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस विशेषज्ञों ने आसपास से खून के नमूने जुटाए हैं। पुलिस ने देर शाम शव को जवाहरलाल नेहरू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है।

श्रीनगर में चाय की थड़ी
मृतक सांवरसिंह डेढ़ माह से श्रीनगर पेट्रोल पम्प के सामने चाय की थड़ी चलाता था। वह हाथीपट्टा (श्रीनगर) में बहन रूपीदेवी के पास रहता था लेकिन दो दिन पहले घर से निकला तो वापस नहीं लौटा। उसने रविवार को बहन से मां की मोबाइल पर बात करवाई थी। उसके मोबाइल की अंतिम लोकेशन सोमवार शाम 7 बजकर 59 मिनट पर मुहामी क्षेत्र में थी। पुलिस मोबाइल की कॉल डिटेल निकालने तफ्तीश में जुटी है।

नाम से हुए गुमराह
मृतक की कलाई पर सांवरसिंह गुदा था। कलाई के नाम से गोडिय़ावास निवासी हनुमानसिंह ने मृतक के पैर पर पुरानी चोट देखकर छोटे भाई के रूप में पहचान की लेकिन मां कमलादेवी ने इन्कार कर दिया। उसने बताया कि उसके बेटे सांवर का बायां पैर टूटा था जबकि मृतक के दायें पैर में रॉड लगी है। गोडिय़ावास निवासी सांवर किशनगढ़ में दिहाड़ी मजदूरी करता है लेकिन उसका मोबाइल स्विच ऑफ आने से संदेह गहरा गया। लेकिन कुछ देर बाद ही मृतक की सही पहचान हो गई।

बाइक से हुई पहचान!
मृतक की पहचान गोडिय़ावास बस स्टैंड पर लावारिस हाल में मिली बिना नम्बरी बाइक से हुई। बाइक के सीट कवर पर नाकोड़ा ऑटोमोबाइल का कवर लगा था। तफ्तीश में बाइक तीन दिन पहले पीसांगन पिचौलिया निवासी सांवर सिंह पुत्र गोपीसिंह ने खरीदी थी। सांवरसिंह के शव की पहचान बुआ के बेटे गोडिय़ावास निवासी अंगूरसिंह व बहन रूपीदेवी ने की।

प्रेम प्रसंग से जुड़ा है मामला!
मृतक के शरीर पर सिर्फ पैरों में जूते व मोजे मिले। बाकी शरीर पर नग्नावस्था में था। खून में सने कपड़े शव के आसपास ही मिले। पुलिस मामले को प्रेम प्रसंग से जोड़कर देख रही है। पड़ताल में सामने आया कि डेढ़ साल पहले सांवरसिंह गोडिय़ावास में ईंट भट्टे पर ट्रेक्टर ट्रॉली चलाता था। वर्ष-2008 में दुर्घटना में पैर टूटने के बाद उसने ट्रेक्टर चलाने का काम बंद कर दिया। वह डेढ़ माह से श्रीनगर में पेट्रोल पम्प पर चाय की थड़ी का संचालन कर रहा था। संभवत: सांवर सोमवार को मिलने आया हो और उसके साथ घटना पेश आई। पुलिस मामले की गहनता से पड़ताल में जुटी है।

गेगल थाना क्षेत्र में पत्थर की खदान में युवक की नग्नावस्था में शव मिला है। प्रथमदृष्ट्या हत्या का मामला है। पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं। पुलिस जल्द ही हत्यारे तक पहुंचेगी।

-राजेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक अजमेर ?

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned