यहां 17 वोट वाली निर्दलीय प्रत्याशी की लगी लॉटरी, पहली पालिकाध्यक्ष बनी

nikay chunav : प्रदेश की सबसे छोटी नगर पालिका नसीराबाद में निकाय चुनाव के दौरान कई रोचक तथ्य देखने को मिले। चुनाव में जहां दो प्रत्याशियों को एक भी वोट नहीं मिला, वहीं 17 वोट से जीतने वाली निर्दलीय प्रत्याशी शारदा मित्तलवाल ने कांग्रेस के सिंबल पर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ा। आखिरकार भाग्य ने साथ दिया और शारदा मित्तलवाल लॉटरी के माध्यम से पहली पालिका अध्यक्ष बन गई।

By: Yuglesh kumar Sharma

Published: 27 Nov 2019, 09:08 AM IST

अजमेर.

प्रदेश की सबसे छोटी नगर पालिका नसीराबाद (nasirabad) में निकाय चुनाव (nikay chunav) के दौरान कई रोचक तथ्य देखने को मिले। चुनाव में जहां दो प्रत्याशियों को एक भी वोट (vote) नहीं मिला, वहीं 17 वोट से जीतने वाली निर्दलीय प्रत्याशी शारदा मित्तलवाल ने कांग्रेस (congress) के पास भाजपा (bjp) के मुकाबले कम वोट होते हुए भी कांग्रेस को समर्थन दे दिया। इतना ही नहीं दोनों दलों के पास 10-10 वोट हो जाने से लॉटरी खुलने के पूरे आसार थे, फिर भी इस निर्दलीय प्रत्याशी ने फैसला भाग्य पर छोड़ दिया और कांग्रेस के सिंबल पर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ा। आखिरकार भाग्य ने साथ दिया और शारदा मित्तलवाल पहली पालिका अध्यक्ष बन गई।

READ MORE : हैलोजन की रोशनी से 150 लोगों की आंखों में संक्रमण

नसीराबाद नगर पालिका में पहली बार पार्षदों का चुनाव हुआ। पार्षदों ने पालिकाध्यक्ष पद के लिए मतदान किया। इसमें भाजपा की ओर से अनिता मित्तल को प्रत्याशी बनाया गया, जबकि कांग्रेस ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीत करने वाली शारदा मित्तलवाल पर दांव खेला। मंगलवार दोपहर 11.50 पर भाजपा के पार्षद नसीराबाद विधायक रामस्वरूप लाम्बा के साथ हाउसिंग बोर्ड स्थित नगर पालिका कार्यालय में बनाए गए मतदान केन्द्र में मतदान करने के लिए एक साथ पहुंचे। वह मतदान करने के तुरंत बाद रवाना हो गए।

इसके कुछ दोपहर एक बजे करीब नसीराबाद के पूर्व विधायक रामनारायण गुर्जर के साथ कांग्रेस पार्षद मतदान करने के लिए पहुंचे। वहां पर मतदान के तुरंत बाद ही मतगणना की गई। मतगणना में भाजपा और कांग्रेस को बराबर 10-10 वोट मिले। इसके बाद बच्चे से लॉटरी निकालवाई गई। लॉटरी में कांग्रेस की शारदा मित्तलवाल ने जीत दर्ज की। रिटर्निंग अधिकारी राकेश कुमार गुप्ता ने शपथ दिलाई। उल्लेखनीय है कि यहां पर नगरपालिका के चुनाव पहली बार हुए है। हालांकि यहां पर छावनी बोर्ड भी है।
----------

फैक्ट फाइल

पहली बार मतदान 16 नवम्बर 2019

पालिका में कुल वार्डों की संख्या 20
पालिका क्षेत्र में कुल मतदाता 1044

मताधिकार का किया प्रयोग 956
------------------

साथ आए, साथ ही गए
पार्षद का चुनाव जीतने वाले प्रत्याशियों की भाजपा और कांग्रेस ने बाड़ाबंदी की थी। इसके कारण भाजपा और कांग्रेस के पार्षद एक साथ मतदान के लिए पहुंचे। मतदान के तुरंत बाद उन्हें वापस एक साथ भेजा गया। दोनों दलों के सिर्फ पालिकाध्यक्ष पद के प्रत्याशी और मतगणना एजेंट को वहां पर रोका गया। इसके अलावा सभी को मतदान स्थल से एक साथ भेज दिया गया।

जीत के बाद मंदिर में लगाई ढोक

नसीराबाद नगर पालिका में पालिकाध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद शारदा मित्तलवाल हाउसिंग बोर्ड क्षेत्र स्थित भगवान शिव के मंदिर पहुंचीं। वहां पर अपने परिवार के साथ जलाभिषेक और पूजा-अर्चना की। इसके बाद वह पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ रवाना हुई।

‘पालिका विकास के लिए कार्य करूंगी’

पालिकाध्यक्ष पद पर विजयी शारदा मित्तलवाल ने बातचीत में कहा कि वह पालिका के विकास के लिए हरसंभव प्रयास करेंगी। पालिका क्षेत्र में डिस्पेंसरी खुलवाने, स्कूल खुलवाने सहित अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पालिकाक्षेत्र के विस्तार के लिए भी प्रयास करेंगे।

Show More
Yuglesh kumar Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned